1. home Hindi News
  2. world
  3. physical assault with a foreign woman in pakistan pulled from car pakistani women asked for freedom aml

कार से खींचकर विदेशी महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पाकिस्तानी महिलाओं ने मांगी 'आजादी'

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Symbolic Image
Symbolic Image

इस्लामाबाद : पाकिस्तान में एक विदेशी महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला तूल पकड़ते जा रहा है. इस घटना के खिलाफ पाकिस्तान में महिलाएं सड़कों पर नजर आ रही हैं और पीड़िता को न्यान दिलाने की मांग कर रही हैं. बता दें कि यहां पिछले दिनों एक विदेशी महिला को कार से उतारकर बच्चों के सामने हवस का शिकार बनाया गया था. इस मामले में पुलिस ने अबतक 15 लोगों को गिरफ्तार किया है.

मामला तब और बिगड़ गया जब जांच कर रहे अधिकारी ने महिला को ही इसके लिए जिम्मेदार बता दिया. लाहौर समेत पाकिस्तान के अधिकतर शहरों में बड़ी संख्या में महिलाएं इस घटना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही हैं. कई जगह महिलाओं ने आजादी-आजादी के नारे भी लगाए हैं. यह घटना पाकिस्तान के लाहौर के पास की बताई जा रही है.

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रांस की रहने वाली एक महिला गुरुवार की सुबह अपने दो बच्चों के साथ लाहौर से गुजरांवाला की तरफ जा रही थी. इस दौरान उसकी कार खराब हो गयी. महिला ने मदद के लिए अपने परिचितों को फोन किया और मदद आने तक कार में ही बैठकर इंतजार करने का फैसला किया. इस बीच कुछ लोग आये और कार के शीशे को तोड़कर महिला का बाहर खींच लिया.

इसके बाद बदमाशों ने महिला को पास ही में एक खेत में ले गये और उसके बच्चों के साथ ही उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. बाद में अपराधी महिला के गहने, नकदी और एटीएम कार्ड भी लूटकर ले गये. महिला ने इसकी शिकायत नजदीकी पुलिस स्टेशन में दर्ज करवायी. शिकायत में महिला ने अपने साथ घटी पूरी घटना का जिक्र भी किया.

इस मामले के प्रमुख जांचकर्ता लाहौर पुलिस प्रमुख उमर शेख ने कहा कि पाकिस्तानी समाज में कोई भी अपनी बहन-बेटी को इतनी रात गये अकेले यात्रा करने की अनुमति नहीं देगा. उन्हें सुरक्षित रोड का प्रयोग करना चाहिए था और गाड़ी में पर्याप्त पेट्रोल भी भरवानी चाहिए थी. पुलिस अधिकारी ने एक प्रकार से महिला को इस घटना के लिए जिम्मेदार बता दिया. इसके बाद से लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और विरोध प्रदर्शन होने लगे.

समाचार एजेंसी एपी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जिन 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनका इस मामले से कोई संबंध नहीं है. पाकिस्तानी पुलिस मामले को रफा-दफा करने का प्रयास कर रही है. कई विपक्षी नेताओं ने भी घटना की घोर निंदा की है और पुलिस अधिकारी के बयान को गैरिजम्मेदारान बताया है. नेताओं का कहना है कि बलात्कार की घटना को किसी भी प्रकार से तर्कसंगत नहीं बनाया जा सकता.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें