1. home Hindi News
  2. world
  3. midair plane collision in alaska america seven people died including state law maker world news hindi

अमेरिका में हवा में भिड़े दो विमान, रिपब्लिकन एसेंबली के मेंबर समेत सात मरे

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
हवा में टकराएं दो विमान, सात की मौत
हवा में टकराएं दो विमान, सात की मौत
Twitter

अमेरिका के अलास्का में दो विमान हवा में ही आपस में टकरा गये. इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गयी है. हादसा अलास्का के सोलडोन्टा शहर से कुछ किलोमीटर दूरी पर हुआ. मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के अनुसार यह दोनों की छोटे विमान थे जो आपस में टकरा गये. जिसमें सात लोगों की मौत हो गयी है. मारे गए लोगों में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के एक स्टेट असेंबली मेंबर गैरी नोप भी शामिल हैं.

यह हादसा केनाई प्रायद्वीप पर सोल्तोना हवाई अड्डे के पास हुआ है. फेडरल एवियेशन एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक सुबह करीब 8:30 बजे हवाई अड्डे से उत्तर-पूर्व में दो मील की दूरी पर एक इंजन वाला विमान डी हैविलैंड डीएचसी -2 दूसरे विमान से टकरा गया. दूसरा विमान दो इंजन वाला पाइपर-पी12 था.

हवाई दुर्घटना की जांच कर रहे एफएए और राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड (एनटीएसबी) के प्रमुख क्लिंट जॉनसन के अनुसार दुर्घटनाग्रस्त विमान का मलबा स्टर्लिंग हाइवे के पास गिरा है. इन दोनो विमानों ने सोलडोन्टा एयरपोर्ट से उड़ान भरी और एंकोरेज शहर से करीब 150 मील दूर हवा में यह आपस में भिड़ गये.

हादसे के वक्त दोनों विमान में कितने लोग सवार थे इस बात की अभी तक जानकारी नहीं मिल पायी है. हालांकि अलास्का हाउस के प्रतिनिधि गैरी नोपे के सहयोगियों ने इस विमान दुर्घटना से उनके मौत की पुष्टि की है. गौरी नोपे की पत्नी हेलेन के मुताबिक वह शुक्रवार सुबह अपना विमान उड़ा रहे थे. नोपे कि मौत को को लेकर शोक घोषित किया गया है. अलास्का के गवर्नर माइक डनली ने गैरी नोपे के सम्मान में अलास्का प्रांत में अमेरिकी झंडे के सोमवार तक आधा झुकाने का आदेश दिया है. इस बीच नोप के निधन पर अलास्का के कई नेताओं ने संवेदना व्यक्त की है.

दोनो विमान हादसे में गलती किसकी थी यह अभी तक पता नहीं चल पाया है. फिलहाल इसकी जांच की जा रही है. बताया जा रहा है कि हादसा एयरपोर्ट काफी दूर हुआ. हालांकि हादसे के वक्त मौसम पूरा साफ था. घटना के वक्त इस क्षेत्र की विजिबिलिटी दस किलोमीटर तक थी. दोनों विमानों के उड़ान भरने में भी काफी समय का अंतर था. इसलिए ऐसा भी नहीं हो सकता है कि दोनों पायलट के बीच आपस में संपर्क नहीं हुआ हो.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें