1. home Hindi News
  2. world
  3. i can go to india but my wife not she is ukrainian gagan expressed his pain rjh

Ukraine News: मैं भारत जा सकता हूं मेरी पत्नी नहीं, मैं इसे नहीं छोड़ सकता, गगन ने बयां किया अपना दर्द

गगन वर्षों से यूक्रेन में रह रहे हैं और उन्होंने वहां अपना परिवार बसा लिया है. यूक्रेन उनके लिए घर की तरह है. उनकी पत्नी भी एक यूक्रेनी महिला है. ऐसे में उनके लिए यूक्रेन को छोड़कर वापस आना संभव नहीं हो पा रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Russia-Ukraine war news
Russia-Ukraine war news
Twitter

मैं एक भारतीय नागरिक हूं, भारत जा सकता हूं, लेकिन मेरी पत्नी नहीं जा सकती. मेरी पत्नी यूक्रेनी है और हमें यह कहा गया है कि सिर्फ भारतीयों को वहां से निकाला जायेगा. मैं अपने परिवार को यहां छोड़कर नहीं जा सकता. मेरी पत्नी आठ माह की गर्भवती है, वह पोलैंड जा रही है. अभी हम लवीव में अपने एक दोस्त के यहां शरण लिये हुए हैं. यह कहना है एक भारतीय नागरिक गगन का.

यूक्रेनी पत्नी को छोड़कर देश नहीं आना चाहते गगन 

गगन वर्षों से यूक्रेन में रह रहे हैं और उन्होंने वहां अपना परिवार बसा लिया है. यूक्रेन उनके लिए घर की तरह है. उनकी पत्नी भी एक यूक्रेनी महिला है. ऐसे में उनके लिए यूक्रेन को छोड़कर वापस आना संभव नहीं हो पा रहा है.

10 लाख से अधिक लोगों ने छोड़ा कीव

यूक्रेन पर रूसी हमले के 11वें दिन भी युद्ध खत्म होने की कोई गुंजाइश नजर नहीं आ रही है, दोनों देश एक दूसरे को धमकाने का ही काम कर रहे हैं. इधर आंकड़ों की मानें तो अबतक 10 लाख से अधिक लोग कीव छोड़कर जा चुके हैं. भारतीयों को आॅपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन से बाहर निकाला जा रहा है और अबतक 15 हजार से अधिक नागरिक निकाले जा चुके हैं.

रूसी गोलीबारी की वजह से नहीं हो सकी निकासी

आज यू्क्रेन के एक अधिकारी ने कहा है कि अप्रत्याशित रूसी गोलाबारी जारी रहने की वजह से आज यूक्रेन के एक बंदरगाह शहर से रविवार को लोगों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालने की योजना सफल नहीं हो सकी. वहीं, अधिकारियों ने रूस को यूक्रेन की राजधानी के नजदीक अन्य निकासी मार्ग निर्धारित करने के लिए सहमत करने की कोशिश की है. यूक्रेन के सैन्य अधिकारियों ने दिन में कहा था कि मारयूपोल शहर में रह रहे लोगों के पूर्वाह्न 10 बजे से रात नौ बजे तक स्थानीय संघर्ष विराम के दौरान वहां से सुरक्षित रूप से बाहर निकलने की उम्मीद है.

हरियाणा की एक युवती ने भी देश आने से किया इनकार

हरियाणा की एक 19 साल की लड़की ने भी यूक्रेन छोड़ने से मना कर दिया है. वह एक परिवार के साथ पेइंग गेस्ट के रूप में रहती है. उस परिवार में तीन बच्चे और पति-पत्नी हैं. पति यूक्रेन के लिए जंग लड़ने चला गया है और पूरा परिवार एक बंकर में बंद है. भारतीय लड़की भी उनके साथ बंकर में है और उनकी देखभाल कर रही है. उस युवती ने अपनी मां को संदेश भिजवाया है कि अगर मेरी जान भी चली जाये तो मैं इस परिवार को छोड़कर नहीं आऊंगी, इन्हें मेरी जरूरत है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें