1. home Hindi News
  2. world
  3. emmanuel macron becomes president of france for the second time gave defeat to marine le pen in the election vwt

फ्रांस में इमैनुएल मैक्रों बने दूसरी बार राष्ट्रपति, मरीन ले पेन को दी करारी शिकस्त, पीएम मोदी ने दी बधाई

फ्रांस में इमैनुएल मैक्रों के दूसरी बार राष्ट्रपति बनने के बाद यूरोप के भविष्य की दिशा तय करने और यूक्रेन में युद्ध रोकने के पश्चिमी देशों के प्रयासों पर दूरगामी परिणाम देखने को मिल सकते हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों
चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों
फोटो : ट्विटर

पेरिस : इमैनुएल मैक्रों दूसरी बार फ्रांस के राष्ट्रपति बने हैं. रविवार को संपन्न हुए मतदान में उन्हें अपने प्रतिद्वंद्वी और धुर दक्षिणपंथी नेता मरीन ले पेन को करारी शिकस्त दी है. फ्रांस के राष्ट्रपति चुनाव में इमैनुएल मैक्रों को करीब 58.8 फीसदी वोट मिले हैं, जबकि उनके विरोधी प्रत्याशी मरीन ले पेन को 41.2 फीसदी वोट मिले. मैक्रों की जीत के बाद उनके समर्थकों ने पेरिस में एफिल टॉवर के पास जमकर जश्न मनाया. उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को बधाई दी है.

मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, फ्रांस में राष्ट्रपति पद के लिए मौजूदा राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और धुर दक्षिणपंथी नेता मरीन ले पेन में से एक को चुनने के लिए रविवार को मतदान पूर्ण होने के बाद मैक्रों ने जीत दर्ज की है. महामारी और यूक्रेन में जारी युद्ध के बीच जारी राष्ट्रपति चुनाव में मैक्रों ने उन्हें एक और मौका देने की अपील मतदाताओं से की थी. इसके साथ ही, इमैनुएल मैक्रों पिछले 20 साल में लगातार दूसरा कार्यकाल हासिल करने वाले पहले फ्रांसीसी राष्ट्रपति बने हैं.

इसके साथ ही, फ्रांस में इमैनुएल मैक्रों के दूसरी बार राष्ट्रपति बनने के बाद यूरोप के भविष्य की दिशा तय करने और यूक्रेन में युद्ध रोकने के पश्चिमी देशों के प्रयासों पर दूरगामी परिणाम देखने को मिल सकते हैं. इस बीच, दक्षिणपंथी नेता मरीन ले पेन ने रविवार को राष्ट्रपति पद की दौड़ में हार स्वीकार कर ली और मौजूदा राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को विजयी मान लिया.

उनकी जीत के बाद पेन ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में उनका अभूतपूर्व प्रदर्शन अपने आप में एक शानदार जीत को दर्शाता है. रविवार को मतदान संपन्न होने के बाद विभिन्न मतदान एजेंसियों ने अनुमान जताया कि मैक्रों अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी पर बड़ी बढ़त बना लिया है. पांच साल पहले भी मैक्रों ने ली पेन को करारी मात देकर 39 साल की उम्र में फ्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति बनने का गौरव हासिल किया था.

मतदान एजेंसी ओपिनियन-वे, हैरिस और इफोप के मुताबिक, कुल मतदान का 58.8 फीसदी 44 साल के मौजूदा राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के खाते में गया, जबकि मरीन ले पेन को 41.2 फीसदी वोट हासिल हुए हैं. इमैनुएल मैक्रों का राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्वीटकर उन्हें बधाई दी है. उन्होंने अंग्रेजी और फ्रेंच में ट्वीटकर बधाई दी है.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपने ट्वीट में लिखा है कि फ्रांस में राष्ट्रपति चुने जाने के बाद आपको बधाई. फ्रांस हमारे सबसे करीब और महत्वपूर्ण सहयोगियों में से एक है. मैं उन सभी मुद्दों पर एक साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हूं, जो दोनों देशों और दुनिया के लिए महत्वपूर्ण है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें