1. home Hindi News
  2. world
  3. air strike of pakistan in afghanistan 47 citizen killed including children women mtj

पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में की एयरस्ट्राइक, महिला-बच्चों समेत 47 लोगों की मौत

पाकिस्तान का कहना है कि उसने अफगानिस्तान में स्थित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) नामक उग्रवादी संगठन के ठिकानों को निशाना बनाकर एयरस्ट्राइक की है. पाकिस्तान की सेना ने यह हमला पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान में हुए दो आतंकवादी हमलों के बाद किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पाकिस्तान की ओर से किये गये एयरस्ट्राइक के खिलाफ अफगानिस्तान में विरोध प्रदर्शन
पाकिस्तान की ओर से किये गये एयरस्ट्राइक के खिलाफ अफगानिस्तान में विरोध प्रदर्शन
Twitter

काबुल: पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में एयरस्ट्राइक की है. इसमें महिला-बच्चों समेत 47 नागरिकों की मौत हो गयी. इससे अफगानिस्तान की तालिबान सरकार बेहद नाराज है. अफगानिस्तान की तालिबान सरकार ने पाकिस्तान के राजदूत को तलब किया और अपनी आपत्ति दर्ज करवायी.

पाकिस्तान का उग्रवादी संगठन है टीटीपी

हालांकि, पाकिस्तान का कहना है कि उसने अफगानिस्तान में स्थित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) नामक उग्रवादी संगठन के ठिकानों को निशाना बनाकर एयरस्ट्राइक की है. पाकिस्तान की सेना ने यह हमला पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान में हुए दो आतंकवादी हमलों के बाद किया है. पाकिस्तान की सेना ने कहा है कि आतंकवादि हमलों में उसके 8 जवान शहीद हो गये थे.

अफगानिस्तान के अधिकारियों ने की हमले की पुष्टि

अफगानिस्तान के स्थानीय अधिकारियों ने इस हमले की पुष्टि की. बताया कि पाकिस्तानी विमानों ने शुक्रवार की रात को ही खोस्त प्रांत पर हवाई हमले किये. पाकिस्तान की ओर से किये गये इस हमले में अफगानिस्तान के बच्चों और महिलाओं सहित 47 नागरिकों की मौत हो गयी.

खोस्त और कुनार प्रांत में हुए हमले

पाकिस्तान की मीडिया ने कहा है कि बम विस्फोट अफगानिस्तान के खोस्त और कुनार प्रांत में किये गये. तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के आतंकवादियों को निशाना बनाने के लिए पाकिस्तान की सेना ने यह हमला किया. बता दें कि टीटीपी पाकिस्तान में उग्रवादी संगठन है. यह पाकिस्तानी तालिबान के संरक्षण में पाकिस्तान की सेना के खिलाफ हमले करता है.

टीटीपी ने की हमले की पुष्टि

टीटीपी ने बयान जारी कर अफगानिस्तान में हुए पाकिस्तानी हमलों की पुष्टि की है. टीटीपी ने कहा है कि उसके (टीटीपी के) प्रवासी शिविरों को निशाना बनाया गया है, जो पाकिस्तान के कबायली इलाकों से भागकर अफगानिस्तान में पहुंचे थे.

पाकिस्तान के राजदूत को चेतावनी

उधर, अफगानिस्तान की तालिबान सरकार ने इस हमले पर नाराजगी जतायी है. पाकिस्तान के राजदूत मंसूर अहमद खान को तलब किया और चेतावनी दी कि भविष्य में इस तरह की कोई कार्रवाई नहीं होनी चाहिए.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें