1. home Home
  2. world
  3. 164 deaths during protest against petroleum price rise in kazakhstan 8000 detained mtj

पेट्रोल कीमतों के खिलाफ कजाकिस्तान में हिंसा भड़की, 164 की मौत, विदेश मंत्रालय ने भारतीयों को दी ये सलाह

कजाकिस्तान में पेट्रोलियम की कीमतों के विरोध में जबर्दस्त प्रदर्शन हो रहे हैं. हिंसा भड़क उठी है. तीन नाबालिग समेत 164 लोगों की मौत हो गयी है. हिंसा से जुड़ी हर अपडेट यहां पढ़ें...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कजाकिस्तान में हिंसा भड़की
कजाकिस्तान में हिंसा भड़की
Twitter

Kazakhstan Violencce: पेट्रोलियम की बढ़ी कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन में 164 लोगों की मौत हो गयी है. मृतकों में 3 नाबालिग हैं. 8 हजार लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. सोमवार को कजाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री ने यह जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पेट्रोलियम की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ पिछले सप्ताह लोगों का प्रदर्शन शुरू हुआ था.

रविवार की रात तक तीन नाबालिग समेत 164 लोगों की जानें चली गयीं. वहीं, गृह मंत्रालय (Interior Ministry) ने सोमवार को मीडिया को बताया कि करीब 8,000 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू कर दी है. गृह मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि इस भीषण हिंसा में कुछ ‘उग्रवादी’ (Extremists) समूहों के अलावा ‘आतंकवादी’ (Terrorists) समूहों और कुछ विदेशियों के हाथ हो सकते हैं.

कजाकिस्तान के राष्ट्रपति कासिम जोमार्ट तोकायेव (President Kassym-Jomart Tokayev) ने पिछले सप्ताह स्थिति को नियंत्रित करने के लिए ‘शूट-टू-किल’ के ऑर्डर (Shoot To Kill Order) जारी कर दिये थे. इतना ही नहीं, कजाकिस्तान में आपातकाल (Emergency in Kazakhstan) की भी घोषणा कर दी गयी थी. इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी एपी ने यह जानकारी दी है.

वहीं, अमेरिकी समाचार पत्र वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि कजाकिस्तान में जो हिंसक हालात उत्पन्न हुए हैं, उसे नियंत्रित करने के लिए रूसी सेना को कजाकिस्तान (Russian Army in Kazakhstan) में तैनात कर दिया गया है. रूस ने कजाकिस्तान के राष्ट्रपति कासिम जोमार्ट तोकायेव के आग्रह पर अपनी सेना भेजी है.

कजाकिस्तान में भारतीयों की सुरक्षा पर विदेश मंत्रालय का बयान

भारत सरकार ने कहा है कि कजाकिस्तान में जो कुछ भी हो रहा है, उस पर उसकी नजर है. विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कजाकिस्तान में भड़की हिंसा में मारे गये निर्दोष लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. साथ ही कहा है कि कजाकिस्तान, भारत का दोस्त और सहयोगी है. इसलिए हम उम्मीद करते हैं कि वहां जल्द शांति बहाली होगी.

विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा है कि कजाकिस्तान में रहने वाले भारतीयों की सलामती और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये गये हैं. कजाकिस्तान में रह रहे भारतीयों से भी कहा गया है कि वे स्थानीय भारतीय दूतावास के निर्देशों का पालन करते रहें और लगातार दूतावास के संपर्क में रहें, ताकि जरूरत पड़ने पर उन्हें जरूरी मदद पहुंचायी जा सके.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें