पाकिस्‍तान में सरकार विरोधी प्रदर्शन जारी,खान,कादरी बढे संसद भवन की ओर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

इसलामाबाद: पाकिस्तान में सरकार विरोधी प्रदर्शन चरम पर है. विपक्ष के नेता इमरान खान और धर्मगुरु तहीरुल कादरी ने मंगलवार रात को अपने हजारों समर्थकों के साथ भारी सुरक्षा बंदोबस्त वाले रेड जोन में प्रवेश किया.

दोनों नेताओं ने अपने समर्थकों के साथ संसद भवन की तरफ भ्‍ी मार्च किया. इस दौरान सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों तथा सुरक्षाबलों के बीच मामूली झडपें भी हुईं. खान ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को इस्तीफे के लिए बुधवार शाम तक का समय दिया है.

उन्होंने कहा अगर नवाज शरीफ इस्तीफा नहीं देते हैं तो हम प्रधानमंत्री आवास में प्रवेश कर जाएंगे. खान ने रेड जोन की तरफ मार्च शुरु करने से पहले अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, मुझसे वादा कीजिए, अगर मेरे साथ कुछ गलत होता है तो आप नवाज शरीफ से बदला लेंगे. इसलामाबाद स्थित रेड जोन में संसद भवन, प्रधानमंत्री एवं राष्ट्रपति के आवास, सुप्रीम कोर्ट तथा विभिन्न देशों के दूतावास हैं. रेड जोन की सुरक्षा के लिए भारी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती से बेपरवाह, पाकिस्तान तहरीक ए इन्साफ के अध्यक्ष और कनाडा आधारित मौलवी तहीरुल कादरी अपने समर्थकों के साथ संसद भवन की ओर बढ़ गए.

खान और कादरी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सरकार के इस्तीफे की मांग को लेकर पिछले छह दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं जिससे पीएमएल...एन नीत सरकार बचाव की मुद्रा में आ गई है. संसद भवन के समीप पहुंचने पर कादरी की पार्टी पाकिस्तान अवामी तहरीक (पीएटी) के प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया. सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी रेड जोन में प्रवेश कर गए और उनकी पुलिस के साथ झडपें भी हुई. शुरुआती मामूली प्रतिरोध के बाद पुलिस ने सख्ती नहीं बरती और हिंसा टालने की नीति के तहत अपेक्षाकृत धीमी प्रतिक्रिया दी.

उच्च सुरक्षा वाले रेड जोन में प्रवेश करने के बाद प्रदर्शनकारी कॉन्स्टीट्यूशन एवेन्यू तक पहुंच गए क्योंकि सरकार ने सुरक्षा बलों को हटाने का फैसला कर लिया. इस बीच, शरीफ की पुत्री मरियम नवाज ने ट्वीट किया प्रधानमंत्री ने मुझसे कहा कि उन्होंने पुलिस को प्रदर्शनकारियों के खिलाफ किसी भी तरह का बल प्रयोग न करने का आदेश दिया है क्योंकि महिलाएं और बच्चे सबसे आगे हैं.

इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स के प्रवक्ता असीम बाजवा ने ट्वीट किया रेड जोन में इमारतें देश की प्रतीक हैं और सेना उनकी रक्षा कर रही है इसलिए इन राष्ट्रीय प्रतीकों की पवित्रता का सम्मान किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा स्थिति को देखते हुए सभी पक्षों को व्यापक देश हित और जनहित में सार्थक बातचीत के जरिये वर्तमान गतिरोध दूर करने के लिए धैर्य, समझदारी और दूरदर्शिता का परिचय देने की जरुरत है. डॉन न्यूज की खबर में कहा गया है कि पाकिस्तान सेना ने गृह मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष का प्रभार ले लिया है.

खान और कादरी के समर्थकों ने अलग अलग आगे बढना शुरु किया था लेकिन बाद में वे एक साथ संसद भवन की ओर बढने लगे. हजारों की संख्या में वहां पहुंचे प्रदर्शनकारियों की योजना इमारत के बाहर खुले मैदान में धरने पर बैठने की है. विश्लेषकों का मानना है कि विपक्षी नेता भीड को संबोधित करेंगे और शरीफ के इस्तीफे की मांग करते हुए वहां डेरा डालने का ऐलान करेंगे.

सूचना एवं प्रसारण मंत्री परवेज राशिद ने जियो टीवी को बताया कि प्रदर्शनकारियों ने उस लिखित प्रतिबद्धता का उल्लंघन किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि वह रेड जोन में प्रवेश नहीं करेंगे. राशिद ने कहा महिलाएं और बच्चे उनके साथ हैं. इसलिए सरकार ने अधिकतम संयंम बरतने का फैसला किया है. वह चाहते हैं कि लोगों की जान जाए लेकिन हम उनके उकसाने के बावजूद ऐसा कोई मौका नहीं देंगे.

खान ने रेड जोन की ओर वाहनों का काफिला बढने के दौरान कहा, मैं आ रहा हूं, मैं आपको जवाबदेह बनाने आ रहा हूं. राजधानी के पॉलीक्लीनिक हॉस्पिटल और पाकिस्तान इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज (पीआईएमएस) में रेड अलर्ट जारी कर दिया है. दोनों ही प्रमुख सरकारी अस्पताल हैं. दोनों संस्थानों में अतिरिक्त दवाओं, आपात ऑपरेशनों और अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था भी की गई है.

सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के पास वायर कटर :तार काटने वाले औजार: और कंटेनरों को हटाने के लिए क्रेन हैं. डान न्यूज ने सूत्रों के हवाले से खबर दी कि प्रधानमंत्री शरीफ ने कहा है कि वह किसी भी हालत में इस्तीफा नहीं देंगे. शरीफ सत्तारुढ पीएमएल एन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ रेड जोन में अपने आधिकारिक आवास में मौजूद हैं. वह हर गतिविधि पर खुद नजर रखे हुए हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें