22.1 C
Ranchi
Monday, March 4, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

JEE MAIN2019 के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू, इन दस्तावेजों के साथ करें आवेदन, सिलेबस में हुआ ये बदलाव

नयी दिल्ली: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने जेईई मेन्स परीक्षा-2020 के लिए शेड्यूल जारी कर दिया है. परीक्षा दो सत्रों में आयोजित होगी. पहला सत्र जनवरी में होगा जिसमें परीक्षा 6 से 11 जनवरी के बीच होगी. वहीं दूसरा सत्र अप्रैल मेें आयोजित होगा जिसकी परीक्षाएं 3 से 9 अप्रैल के बीच आयोजित की जाएगी. […]

नयी दिल्ली: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने जेईई मेन्स परीक्षा-2020 के लिए शेड्यूल जारी कर दिया है. परीक्षा दो सत्रों में आयोजित होगी. पहला सत्र जनवरी में होगा जिसमें परीक्षा 6 से 11 जनवरी के बीच होगी. वहीं दूसरा सत्र अप्रैल मेें आयोजित होगा जिसकी परीक्षाएं 3 से 9 अप्रैल के बीच आयोजित की जाएगी. जनवरी में आयोजित होने जा रही परीक्षा का रिजल्ट 31 जनवरी को घोषित की जाएगा वहीं अप्रैल सत्र में आयोजित होने वाली परीक्षा का परिणाम 30 अप्रैल को जारी किया जाएगा.

लाखों उम्मीदवारों के शामिल होने की संभावना

उम्मीदवार जो अगले साल बारहवीं की परीक्षा में शामिल होने वाले हैं वे लोग 03 सिंतबर से इसके लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. ये जनवरी में आयोजित होने वाली परीक्षा के लिए है. अप्रैल महीने में होने वाली परीक्षाओं के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया सात फरवरी से शुरू होकर सात मार्च तक चलेगी. स्टूडेंट्स एनटीए की ऑफिशियल वेबसाइट https://jeemain.nta.nic.in या फिर https://nta.ac.in/ पर जाकर पूरा विवरण देख सकते हैं.

आवेदन के लिए इन दस्तावेजों का होना अनिवार्य

उम्मीदवार के पास पासपोर्ट साइज फोटो हो जिसमें तारीख और हस्ताक्षर होना अनिवार्य है. इसके अलावा हस्ताक्षर की स्कैन कॉपी. 10वीं क्लास का कोई सर्टिफिकेट जिसमें जन्मतिथि अंकित हो. 10वीं और 12वीं क्लास की मार्कशीट. विलो पूवर्टी लाइन, एससी, एसटी या दूसरे किसी रिजर्वेशन कैटेगरी का सर्टिफिकेट. वैलिड पहचान पत्र जिसमें पासपोर्ट, आधार कार्ड वोटर आईडी कार्ड या फिर राशन कार्ड. वैलिड ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर…

स्टूडेंट्स को बता दें कि ये परीक्षा कंप्यूटर आधारित होगी. जानकार बताते हैं कि इस सत्र में लगभग 1 मिलियन छात्रों के शामिल होने की संभावना है. पिछले साल जनवरी सत्र में कुल 9 लाख 29 हजार 198 छात्र शामिल हुए थे वहीं अप्रैल में 9 लाख 35 हजार 741 छात्र शामिल हुए थे.

जेईई मेन परीक्षा में आया ये अहम बदलाव

जानकारी के लिए बता दें कि इस बार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने जेईई मेन के लिए कुछ अहम बदलाव किया है. दरअसल जेईई मेन 2020 में भारत में एनआईटी, आईआईटी और अन्य सरकारी वित्त पोषित इंजीनियरिंग कॉलेजों में विदेशी नागरिकों को अनिवार्य रूप से प्रवेश दिया जाएगा.

अलग-अलग सूची जारी की जाएगी

परीक्षा परिणाम की प्रक्रिया में भी कुछ बदलाव लाने की बात कही गई है. अब जनवरी और अप्रैल सत्र की परीक्षा आयोजित होने के बाद एक संयुक्त रैंकिंग सूची जारी की जाएगी. इस बीच प्रतिशत अंको के साथ-साथ अलग-अलग सूची घोषित की जाएगी. ये सभी नागरिकों के लिए होगा यानी भारतीय और विदेशी दोनों के लिए. इसके बाद जिन भी भारतीय नागरिकों ने परीक्षा के बाद शीर्ष 2 लाख 45 हजार में रैंक हासिल किया होगा वे जेईई एडवांस में शामिल होने के पात्र होंगे. यही आईआईटी में पढ़ने का प्रवेश द्वार होता है. डासा की रैंक सूची अलग से जारी की जाएगी.

कुछ जानकारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के बारे में……

मानव संसाधन विकास मंत्रालय और भारत सरकार के संयुक्त प्रयास से नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की स्थापना की गई है. इसका उद्देश्य उच्च शिक्षण संस्थानों में कुशल, पारदर्शी और अंतर्राष्ट्रीय मानकों पर आधारित प्रयोतिगता परीक्षा का आयोजन करवाना है. एनटीए की स्थापना सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत की गयी है. एनटीए एक स्वतंत्र, स्वायत्त और आत्मनिर्भर एजेंसी है.

भारत सरकार ने साल 2019 में पहली बार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को जेईई मेन संयुक्त प्रवेश परीक्षा आयोजित कराने की जिम्मेदारी दी थी. पहले ये परीक्षा सीबीएसई द्वारा आयोजित कराई जाती थी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें