27.9 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी एक राजनीतिक प्रतिशोध है : ममता बनर्जी

आज एक सरकार सत्ता में है, कल को दूसरी सरकार सत्ता में आएगी तो वो भी यही चीज करेगी. ममता बनर्जी ने कहा कि अगर कोई गलती है तो आप निरीक्षण करें और जांच करें, लेकिन प्रतिशोध के साथ कुछ भी नहीं करना चाहिए.

 पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तेलगु देशम पार्टी के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी को गलत बताया है. गौरतलब है कि अभिषेक बनर्जी को 13 सितंबर को ईडी ने तलब किया है इस दौरान ममता से पूछे गये सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह से चंद्रबाबू नायडू को गिरफ्तार किया गया वह भी मुझे गलत लगा.  उन्होंने कहा ये राजनीतिक प्रतिशोध है. राजनीतिक मतभेद होता है, लेकिन लोकतंत्र में एक सीमा होती है. ये सीमा लांघनी नहीं चाहिए. आज एक सरकार सत्ता में है, कल को दूसरी सरकार सत्ता में आएगी तो वो भी यही चीज करेगी. ममता बनर्जी ने कहा कि अगर कोई गलती है तो आप निरीक्षण करें और जांच करें, लेकिन प्रतिशोध के साथ कुछ भी नहीं करना चाहिए.

सोते समय चंद्रबाबू नायडू को किया गया था गिरफ्तार

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को 9 सितंबर को सुबह तड़के नंदयाल से गिरफ्तार किया गया था. उनके ऊपर कौशल विकास निगम घोटाले में शामिल होने आरोप हैं. नायडू को उस समय गिरफ्तार किया गया था, जब वह सभी सुविधाओं से लैस अपनी विशेष बस में सो रहे थे.

अभिषेक को बेवजह किया जा रहा परेशान

ईडी के समन पर मुख्यमंत्री और तृणमूल नेता ममता बनर्जी ने एक बार फिर अभिषेक बनर्जी पर ‘राजनीतिक बदले’ का आरोप लगाया है. इस दौरान ही उन्होंने चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी को गलत बताया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि अभिषेक को हर वक्त परेशान किया जा रहा है. उन्हें बिना वजह परेशान किया जा रहा है. कोई सबूत नहीं है. ममता ने यह भी कहा, अभिषेक को मुकदमे के लिए बार-बार निचली अदालत, हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट तक दौड़ना पड़ता है.

Also Read: चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी एक राजनीतिक प्रतिशोध है : ममता बनर्जी ईडी अधिकारियों के समक्ष 13 सितंबर को पेश हो सकते हैं अभिषेक बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के महासचिव अभिषेक बनर्जी आगामी 13 सितंबर को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) अधिकारियों के समक्ष पेश हो सकते हैं. पार्टी के एक विश्वस्त सूत्र ने सोमवार को इसकी पुष्टि की है. उनका कहना है कि अगर वह (अभिषेक) ईडी के समक्ष पेश होते हैं, तो उन्हें विपक्षी गठबंधन इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस (इंडिया) की समन्वय समिति की पहली बैठक को छोड़ना पड़ेगा, जो उसी दिन राष्ट्रीय राजधानी में होनी है. सूत्रों का कहना है कि अभिषेक बनर्जी सोमवार को रात तक इंडिया की समन्वय समिति के अन्य सदस्यों के साथ एक-एक कर संपर्क कर रहे हैं. सभी से बातचीत कर मंगलवार सुबह तक यह फाइनल तय कर पायेंगे कि वह 13 सितंबर को ईडी अधिकारियों के समक्ष पेश होंगे या नहीं. फिलहाल पार्टी सूत्रों का कहना है कि अभिषेक बनर्जी का केंद्रीय जांच एजेंसी के दफ्तर में जाना लगभग तय माना जा रहा है.

Also Read: चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी एक राजनीतिक प्रतिशोध है : ममता बनर्जी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें