33.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

West Bengal :बंगाल में सीटों के बंटवारे पर अधीर रंजन चौधरी का बड़ा बयान,’ममता बनर्जी से सीट की भीख नहीं मांगी’

पश्चिम बंगाल कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'सेवा में व्यस्त' होने के लिए मुख्यमंत्री और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी पर हमला बोला है, जिससे सीट-बंटवारे को लेकर I-N-D-I-A गठबंधन के सहयोगियों के बीच दरार का संकेत मिल रहा है.

आगामी लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) की रणनीति, सीटों के बंटवारे को लेकर I-N-D-I-A गठबंधन में पहले से ही विवाद की खबरें निकलकर आने लगी हैं. पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने सीधे टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी को निशाने पर लिया है. यहां तक कह दिया कि ममता बनर्जी अलायंस ही नहीं चाहती हैं. गुरुवार को तृणमूल के इस फॉर्मूले पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति जताई है. प्रदेश अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा, पता नहीं किसने ममता से सीट भीख मांगी है. हमने तो कोई भीख नहीं मांगी. ममता बनर्जी खुद ही कह रही हैं कि वो गठबंधन चाहती हैं. हमें ममता की दया की कोई जरूरत नहीं है. हम अपने दम पर चुनाव लड़ सकते हैं. पश्चिम बंगाल कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘सेवा में व्यस्त’ होने के लिए मुख्यमंत्री और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी पर हमला बोला है.

ममता बनर्जी  की दया की जरूरत नहीं : अधीर रंजन चौधरी

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस नेता ने यह टिप्पणी तब की जब उनसे तृणमूल कांग्रेस द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में कांग्रेस को दो सीटों की पेशकश के बारे में पूछा गया.सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में अलायंस में सहयोगी कांग्रेस को सिर्फ दो लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की कोशिश की है. सूत्रों ने यह भी बताया था कि चूंकि 2019 के चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी ने राज्य में 43 प्रतिशत वोट हासिल किए थे और 22 सीटें जीती थीं. ऐसे में तृणमूल चाहती है कि बंगाल में वो प्रमुख पार्टी है और उसे सीट बंटवारे पर अंतिम फैसला लेने का अधिकार दिया जाना चाहिए.

Also Read: Mamata Banerjee : ममता बनर्जी ने कहा, बंगाल में धार्मिक स्थलों के विकास पर खर्च हुए है 400 करोड़ से अधिक
सीट-बंटवारे के विवरण देने की समय सीमा हुई समाप्त

अधीर चौधरी की बातों से साफ है कि उन्हें लोकसभा में तृणमूल के साथ एक छतरी के नीचे काम करने में कोई दिलचस्पी नहीं है. तृणमूल नेतृत्व राज्य में दो से अधिक सीटें देने में अनिच्छुक है, हालांकि इंडिया अलायंस की बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी की सीट समझौते पर व्यापक चर्चा हुई थी. दूसरी ओर राज्य कांग्रेस कम से कम छह सीटों पर मोलभाव करने को इच्छुक है. ऐसे में अधीर ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस तृणमूल के साथ एक राह पर चलने को तैयार नहीं है. गौरतलब है कि तृणमूल ने ने सीट-बंटवारे के विवरण को 31 दिसंबर, 2023 तक अंतिम रूप देने की मांग की थी. तब से समय सीमा बीत चुकी है I-N-D-I-A गठबंधन अभी तक सीट-बंटवारे पर आम सहमति पर नहीं पहुंच पाया है.

Also Read: पश्चिम बंगाल : क्रिसमस कार्निवाल को लेकर आपस में भिड़े ममता बनर्जी के मंत्री और नेता, हुई धक्का- मुक्की

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें