28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

महिलाओं के साथ बढ़ते अपराध को लेकर विधानसभा में हंगामा, शुभेंदु अधिकारी ने जताई चिंता, ममता का मांगा इस्तीफा

भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी का कहना है कि सिलीगुड़ी मामले में राज्य सरकार कुछ क्यों नहीं बोल रही है. राज्य सरकार की चुप्पी का क्या कारण है. भाजपा विधायकों ने विधानसभा से वाॅकआउट कर दिया.

पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी के माटीगाड़ा इलाके में एक सुनसान जगह पर नाबालिग लड़की स्कूल से घर लौट रही थी तभी उसकी हत्या कर दी गई. इस मुद्दों को लेकर विधानसभा में भाजपा विधायकों ने जमकर हंगामा किया है. भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी का कहना है कि सिलीगुड़ी मामले में राज्य सरकार कुछ क्यों नहीं बोल रही है. राज्य सरकार की चुप्पी का क्या कारण है. भाजपा विधायकों ने विधानसभा से वाॅकआउट कर दिया. उनकी मांग है कि अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. गौरतलब है कि सिलीगुड़ी में नाबालिग लड़की की हत्या को लेकर आज 12 घंटे का बंद है.

विधानसभा में भाजपा का हंगामा

बीजेपी नेता अग्निमित्रा पॉल ने कहा कि आज पश्चिम बंगाल विधानसभा सत्र के दौरान हमारे विधायक ने सवाल पूछा कि कल स्कूली बच्चे की हत्या को लेकर आयोजित विश्व हिंदू परिषद की रैली पर लाठीचार्ज क्यों किया गया? क्या हम इस मुद्दे पर विरोध नहीं कर सकते कि एक स्कूली लड़की के साथ बलात्कार किया गया और उसकी हत्या कर दी गई? और बीजेपी की रैली पर लाठीचार्ज करा रहे हैं। इस पर जब बीजेपी विधायक बोलने लगे तो डिप्टी स्पीकर ने उनका माइक बंद कर दिया.

महिलाओं के साथ बढ़ते अपराध पर जताई चिंता

राज्य में महिलाओं के साथ दुष्कर्म व हमलों की घटनाओं में कथित वृद्धि पर चिंता व्यक्त करते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे सक्षम प्रशासक की यहां भी जरूरत है, ताकि दुष्कर्मियों को एनकाउंटर के माध्यम से खत्म किया जा सके. विधानसभा परिसर में संवाददाताओं से बात करते हुए शुभेंदु अधिकारी ने उत्तर बंगाल के माटीगाड़ा में हाल में 11वीं कक्षा की एक छात्रा के साथ दुष्कर्म व हत्या की घटना को लेकर राज्य सरकार को घेरा. नेता प्रतिपक्ष ने राज्य सरकार पर महिलाओं को सुरक्षा देने में पूरी तरह विफल रहने का आरोप लगाया.

तृणमूल के शासन में राज्य में घोर अराजकता फैली हुई है

उन्होंने निराशा व्यक्त की कि इस नृशंस घटना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे विश्व हिंदू परिषद (विहिप) कार्यकर्ताओं पर बुधवार को पुलिस ने लाठीचार्ज किया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया, जबकि अपराधियों पर अभी तक मामला दर्ज नहीं किया गया है.अधिकारी ने कहा कि तृणमूल के शासन में राज्य में घोर अराजकता फैली हुई है. माटीगाड़ा की घटना को लेकर शुभेंदु के नेतृत्व में भाजपा विधायकों ने गुरुवार को विधानसभा में जमकर विरोध प्रदर्शन किया. सरकार के खिलाफ नारे लगाये.

Also Read: West Bengal Breaking News : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इमामों के भत्ते में वृद्धि की घोषणा की सरकार महिलाओं पर अत्याचार रोकने में पूरी तरह विफल

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि माटीगाड़ा से पहले कालियागंज और हंसखाली में भी इसी तरह की घटनाएं हो चुकी हैं. इन जगहों पर लड़कियों का उत्पीड़न किया गया है या उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया. इस दौरान उन्होंने सीएम ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा. कहा कि सीएम जिनके पास गृह एवं पुलिस विभाग भी है. पर इसके बावजूद सरकार महिलाओं पर अत्याचार रोकने में पूरी तरह विफल रही हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री से इस्तीफे देने की भी मांग की. अधिकारी ने जोर देकर कहा कि बच्चियों और महिलाओं के साथ ऐसी बर्बर हरकतें करने वाले अपराधियों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए.

Also Read: West Bengal Breaking News : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इमामों के भत्ते में वृद्धि की घोषणा की

सदन में अनुपस्थिति पर ममता को घेरा

शुभेंदु ने कहा कि विधानसभा सत्र के दौरान प्रश्नोत्तर काल में प्रत्येक गुरुवार का दिन गृह विभाग से संबंधित सवाल-जवाब के लिए निर्धारित है, लेकिन बीते 12 वर्षों के शासन में ममता बनर्जी सिर्फ एक दिन सदन में उपस्थित रही हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी विधायकों को गृह विभाग से संबंधित कोई भी सवालों का जवाब तक नहीं मिलता है न सदन में इसपर चर्चा की अनुमति है.

Also Read: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ‘पश्चिम बंग दिवस’ पर चर्चा के लिए 29 को बुलायी सर्वदलीय बैठक तृणमूल ने शुभेंदु के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की

इधर, शुभेंदु द्वारा एनकाउंटर वाले बयान पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है. तृणमूल के प्रवक्ता जयप्रकाश मजूमदार ने कहा कि एनकाउंटरों की खुलेआम वकालत करने के लिए शुभेंदु के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए. एक जनप्रतिनिधि के तौर पर शुभेंदु ने संविधान के तहत शपथ ली है और ऐसे हिंसक तरीकों की वकालत नहीं कर सकते. निर्भया मामले में भी कानूनी प्रक्रिया का पालन किया गया था. कोई देश के कानून से ऊपर नहीं जा सकता.

Also Read: मिजोरम में मारे गये बंगाल के 24 श्रमिकों के परिजनों को हर संभव मदद करेगी राज्य सरकार : ममता बनर्जी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें