25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

55 लाख मोबाइल फोन कनेक्शन ब्लॉक, आप न करें ऐसी गलितयां

sim card block - सरकार का यह कदम संचार साथी पोर्टल की तरफ से शुरू किये गए वेरिफिकेशन कैंपेन का हिस्सा है. लगातार बढ़ रहे साइबर क्राइम को कंट्रोल करने के लिए और लोगों के बैंक अकाउंट्स को सुरक्षित रखने के लिए ऐसा फैसला लिया गया है, जिसका लाभ लोगों को मिलेगा.

Why Government Shut Down 55 Lakh Phone Numbers ? भारत सरकार ने ऑनलाइन फ्रॉड की रोकथाम को लेकर एक बड़ा एक्शन लिया है. सरकार ने फर्जी आईडी पर चल रहे 55 लाख फर्जी फोन नंबर्स (सिम) को सरकार ने पूरी तरह से बंद कर दिया है. मालूम हो कि सरकार का यह कदम संचार साथी पोर्टल की तरफ से शुरू किये गए वेरिफिकेशन कैंपेन का हिस्सा है. लगातार बढ़ रहे साइबर क्राइम को कंट्रोल करने के लिए और लोगों के बैंक अकाउंट्स को सुरक्षित रखने के लिए ऐसा फैसला लिया गया है, जिसका लाभ लोगों को मिलेगा.

फर्जी सिम का जाल बना चुनौती

देश में बढ़ते डिजिटलाइजेशन के साथ ही ऑनलाइन फ्रॉड की समस्या भी काफी बढ़ रही है. भारत में बड़े पैमाने पर फर्जी सिम का जाल बिछा है. मतलब यह कि लोग फर्जी दस्तावेज से सिम कार्ड हासिल कर लेते हैं, और इसके बाद ऐसे सिम कार्ड से ऑनलाइन फ्रॉड की घटनाओं को अंजाम दिया जाता है. ऐसे में फ्रॉड करनेवालों को पहचान कर पकड़ना मुश्किल हो जाता है. यही सबकुछ देखते हुए सरकार ने अब बड़ा एक्शन लेते हुए 55 लाख मोबाइल फोन कनेक्शन को बंद कर दिया है.

Also Read: 1 जनवरी 2024 से SIM कार्ड खरीदने के नियमों में होगा बड़ा बदलाव, आपके लिए जानना है जरूरी

कैसे सिम कार्ड्स किये गए ब्लॉक?

भारत सरकार ने संचार साथी पोर्टल से ऐसे सिम कार्ड्स की पहचान की, जो फर्जी दस्तावेज की मदद से हासिल किये गए थे. बता दें कि भारत सरकार ने इस पोर्टल को साइबर अपराध और ऑनलाइन फ्रॉड को रोकने के मकसद से डिजाइन किया है. यहां काम की बात यह है कि संचार साथी पोर्टल से आप भी खुद से यह पता लगा सकते हैं कि कहीं आपके आधार, वोटर आईडी कार्ड या अन्य दस्तावेज के सहारे किसी दूसरे ने तो कोई सिम कार्ड नहीं खरीद लिया है. यही नहीं, आप ऐसे मोबाइल नंबर के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं.

किन कनेक्शंस पर सरकार ने लिया एक्शन?

हाल ही में संचार मंत्री देवुसिंह चौहान ने संसद में जानकारी देते हुए कहा कि जांच में फर्जी पहचान पत्र के जरिये हासिल किये गए 55 लाख मोबाइल नंबर को बंद कर दिया गया है. इसके साथ ही यह भी बताया गया कि सरकार ने साइबर क्राइम और वित्तीय फ्रॉड में शामिल 1.32 लाख हैंडसेट को ब्लॉक कर दिया है. वहीं, लोगों की तरफ से शिकायत मिलने के बाद 13.42 लाख कनेक्शन को भी ब्लॉक किया गया है. नकली दस्तावेज के जरिये बनवाये गए सिम कार्ड से बड़े पैमाने पर वित्तीय फ्रॉड, फिशिंग कॉल जैसी आपराधिक गतिविधियां अंजाम दी जा रही हैं.

Also Read: Explainer: eSIM क्या है? आपके फोन में लगे सिम कार्ड से कितना अलग है यह?

संचार साथी पोर्टल के बारे में जानिए

संचार साथी पोर्टल (Sanchar Saathi Portal) यूजर को मोबाइल नंबर को वेरिफाई करने का एक ऑनलाइन प्लैटफॉर्म है. संचार साथी पोर्टल यूजर्स को उनके नाम पर जारी किये गए मोबाइल कनेक्शंस के बारे में जानने, जरूरी कनेक्शन को बंद करने, खोए हुए मोबाइल फोन को ब्लॉक करने और पता लगाने और नया और पुराना मोबाइल फोन खरीदते समय डिवाइस की वास्तविकता की जांच करने की सुविधा प्रदान करता है. इसके अलावा यह पोर्टल आपको कई सेवाएं प्रदान करेगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें