1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. whatsapp new terms and privacy policy controversy and elon musk tweet gave boost to signal telegram messenger apps sees rise in new registrations users ditch whatsapp and look at alternative apps latest update rjv

WhatsApp की नयी पॉलिसी से नाराज यूजर्स को इसलिए पसंद आ रहा Signal और Telegram

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
WhatsApp New Terms and Privacy Policy, Signal, Telegram
WhatsApp New Terms and Privacy Policy, Signal, Telegram
fb

WhatsApp New Terms and Privacy Policy, Signal, Telegram: व्हाट्सऐप ने हाल ही में अपनी प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट की है, जिसके बाद सिग्नल और टेलिग्राम ऐप की डाउनलोड में अचानक वृद्धि देखी गई है. पिछले सप्ताह की तुलना में जनवरी के पहले सप्ताह में व्हाट्सऐप की डाउनलोडिंग में 11 प्रतिशत की कमी आयी है. सेंसर टावर की रिपोर्ट के मुताबिक, 1 से 7 जनवरी तक 10.5 मिलियन (लगभग 1 करोड़ 5 लाख) लोगों ने ग्लोबली व्हाट्सऐप को डाउनलोड किया है. वहीं 2,80,000 यूजर्स ने जनवरी के पहले हफ्ते में सिग्नल ऐप को ऐप स्टोर और गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया है. इसी समय अवधि में टेलिग्राम को 7.2 मिलियन (72 लाख) लोगों ने ग्लोबली डाउनलोड किया है.

Signal ऐप का डाउनलोड अचानक बढ़ा

Tesla के संस्थापक और फिलहाल दुनिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन एलन मस्क ने अपने ट्विटर हैंडल से WhatsApp की जगह Signal इस्तेमाल करने के लिए कहा. इसके बाद से यह ऐप भी चर्चा में बना हुआ है. Signal भी WhatsApp की तरह ही एक एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड चैटिंग ऐप है, यानी इस ऐप पर की गई कन्वर्सेशन भी निजी रहेगी. एलॉन मस्क के ट्वीट के बाद Signal ऐप के डाउनलोड्स इतने ज्यादा बढ़ गए कि यूजर के पास नेटवर्क कंजेशन की वजह से वेरिफिकेशन कोड्स आने में देरी हो रही थी. Signal एक ओपन सोर्स मैसेजिंग ऐप है जिसे दुनियाभर के जर्नलिस्ट इस्तेमाल करते हैं. इस ऐप में जबरदस्त प्राइवेसी फीचर दिया गया है जिसकी वजह से इस पर किये गए चैट्स लीक नहीं होते हैं. Signal के अलावा Telegram को भी WhatsApp के विकल्प के तौर पर देखा जाने लगा है.

Telegram भी बढ़िया ऑप्शन

Signal के अलावा Telegram ऐप के यूजर्स की संख्या अचानक बढ़ी है. WhatsApp और Telegram की राइवलरी पुरानी है. इस ऐप को भी करोड़ों लोग इस्तेमाल ककते हैं. यही नहीं, Telegram ने यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजकर कहा है कि वो अपने कॉन्टैक्ट्स को इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने का आग्रह करें. Telegram में भी कई ऐसे फीचर्स दिये गए हैं, जो WhatsApp में भी नहीं मिलते हैं. इसमें एक बार में 2 लाख लोगों का ग्रुप बनाया जा सकता है. साथ ही, इस ऐप में वीडियो, ऑडियो कॉलिंग समेत कई ऐसे फीचर्स भी दिये गए हैं जो आपको WhatsApp में मिलते हैं.

Boycott WhatsApp ट्रेंड में

WhatsApp ने भारत सहित दुनियाभर में अपनी नयी प्राइवेसी अपडेट जारी की है. इस प्राइवेसी अपडेट में इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप ने रिवील किया है कि वह यूजर्स के निजी डेटा का इस्तेमाल Facebook की कंपनियों के लिए करेंगे. अगर किसी यूजर ने WhatsApp की नयी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं किया, तो उसका अकाउंट डिएक्टिवेट हो जाएगा. यूजर्स को 8 फरवरी 2021 तक इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप को इस बात की रजामंदी देनी होगी कि वे यूजर के डेटा का इस्तेमाल Facebook की कंपनियों के लिए कर सकते हैं. WhatsApp की नयी प्राइवेसी पॉलिसी आने के बाद से दुनियाभर में Boycott WhatsApp ट्रेंड करने लगा, क्योंकि इसमें यूजर की वो निजी जानकारियां भी शामिल हैं जिन्हें वो किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहते हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें