1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. voter id card to be available in your phone election commission of india planning to make digital voter id card like aadhar card pan card and driving license all you need to know rjv

Aadhaar Card, PAN Card, Driving License की तरह अब Voter ID Card भी होगा डिजिटल, पढ़ें पूरी खबर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
election commission of India planning to launch aadhaar and pan card like digital voter id card
election commission of India planning to launch aadhaar and pan card like digital voter id card
symbolic file pic

Digital Voter ID Card, Election Commission of India, Aadhaar Card, PAN Card, Driving License: भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) जल्द ही फोटो युक्त डिजिटल मतदाता पहचान पत्र (वोटर आईडी कार्ड) उपलब्ध कराने की तैयारी में है, ताकि इसे कभी भी इस्तेमाल करने में मतदाताओं को आसानी हो सके.

चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लोगों तक आसान पहुंच बनाने के लिए चुनाव आयोग डिजिटल मतदाता पहचान पत्र मतदाताओं को उपलब्ध कराने की सोच रहा है. इस पर चुनाव आयोग (Election Commission) काफी विचार विमर्श कर रहा है. हालांकि अधिकारी ने यह भी स्पष्ट किया कि अभी तक चुनाव आयोग की तरफ से इस बारे में कोई निर्णय नहीं लिया गया है लेकिन आयोग गंभीरता से इस पर विचार कर रहा है.

चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमें क्षेत्र के अधिकारियों से, चुनाव आयोग के कर्मचारियों से और लोगों से तरह-तरह के सुझाव मिलते रहते हैं. एक विचार यह भी है जिसपर आयोग काम कर रहा है. चुनाव आयोग चाहता है कि लोगों के पास मतदाता पहचान पत्र जल्दी पहुंचे. आयोग का मानना है कि मतदाता पहचान पत्र के छपने और पहचान पत्र को मतदाता तक पहुंचने में अभी काफी समय लगता है. सूत्रों की मानें, तो इसका इस्तेमाल अगले साल पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी चुनावों में किया जा सकता है.

चुनाव आयोग के अधिकारी ने बताया कि अगर आयोग डिजिटल मतदाता पहचान पत्र पर काम करता है तो इसे मोबाइल, वेबसाइट और ई-मेल के जरिये रखा जा सकता है. उन्होंने आगे कहा कि लेकिन अभी इस पर विचार किया जा रहा है. जब हम इस पर फैसला लेंगे, तभी इस विषय पर पूरी जानकारी दी जाएगी. हमारा इरादा मतदाता पहचान पत्र को मतदाता तक जल्दी पहुंचाने का है. चुनाव आयोग के एक अन्य अधिकारी ने कहा है डिजिटल मतदाता पहचान पत्र पर काम करने से पहले हमें इसके सुरक्षा पहलुओं पर काम करना होगा.

जो भी व्यक्ति अपना वोटर आईडी कार्ड बनवाना चाहेगा, उसे आवेदन करते समय चुनाव आयोग को अपना मोबाइल नंबर, ई-मेल भी देना होगा. जब व्यक्ति का नाम वोटर लिस्ट में आ जाएगा तो उसे इसकी जानकारी SMS और ई-मेल के जरिए दी जाएगी. एक OTP ऑथेंटिकेशन के जरिए नया मतदाता वोटर आईडी कार्ड को डाउनलोड कर सकता है और अपने मोबाइल या लैपटॉप में सेव कर सकता है.

मौजूदा वोटर्स को चुनाव आयोग के सामने अपनी जानकारियों को दोबारा वेरिफाई करवाना होगा, ठीक वैसे ही जैसे हम बैंक KYC के दौरान देखते हैं. वोटर्स को अपना मोबाइल नंबर, ई-मेल देने के बाद उसी प्रक्रिया के तहत मोबाइल में वोटर आईडी कार्ड को डाउनलोड करने की सुविधा मिलेगी. हालांकि अभी तक ये सिर्फ एक विचार है, इस पर चुनाव आयोग की तरफ से शुरुआत नहीं हुई है.

आधार कार्ड, पैन कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस भी लोगों को डिजिटल माध्यम में उपलब्ध हैं. अगर मतदाता पहचान पत्र डिजिटल हो जाता है, तो मतदाता की तस्वीर बिल्कुल साफ होगी. बताते चलें कि फोटो युक्त मतदाता पहचान पत्र की शुरुआत साल 1993 में हुई थी. देश में यह पहचान और पते के सबूत के तौर पर जरूरी माना जाता है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें