1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. pubg ban in india chinese apps ban tik tok uc browser zoom all chinese app ban know all information about pubg ban

pubg को भी कर दिया गया है बैन ? जानें इसको लेकर ये बड़ी खबर

By amitabh kumar
Updated Date
पबजी को भी कर दिया गया है बैन ?
पबजी को भी कर दिया गया है बैन ?
twitter

pubg ban in india: चीन (china) की अकड़ को ठिकाने लगाने के लिए मोदी सरकार ने सोमवार को कड़ा कदम उठाया है. सरकार ने 59 चाइनीज मोबाइल एप (chinese app) को प्रतिबंधित (chinese app ban) कर दिया. केंद्र की मोदी सरकार (modi govt) ने यह फैसला ऐसे वक्त पर लिया है जब दोनों देशों के बीच तनाव बिल्कुल चरम पर है. इसी बीच टिकटॉक बैन होने की खबर के साथ ही शुरुआत में कुछ देर के लिए यह सूचना फैली की पॉपुलर गेम पबजी को भी बैन कर दिया गया है जिससे लोग परेशान हो गये और इसकी सत्यता को लेकर गूगल सर्च करने लगे. हालांकि जब लिस्ट चेक की गई तो पबजी बैन (pubg ban) वाली बात झूठ निकली.

पबजी बैन की खबर झूठी निकलने के बाद यह उन लोगों के लिए बड़ी राहत की खबर थी, जिनका पबजी के बिना टाइमपास ही नहीं हो पाता है. ट्विटर पर पबजी प्लेयर के मन में थोड़ी देर के लिए आए डर का भी जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है. ट्विटर पर #pubgban ट्रेंड कर रहा है जिसपर लोग लगातार अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. आपको बता दें कि पबजी मोबाइल एक पॉपुलर बैटल रॉयल गेम है जो भारत के युवाओं का पसंदीदा गेम बन चुका है.

पबजी इतना लोकप्रिय गेम है : पबजी को भारत का सबसे पसंदीदा मोबाइल गेम कहना गलत नहीं होगा जिसमें चार लोग टीम बनाकर साथ खेलकर टाइमपास करते नजर आते हैं. इसमें मल्टिपल गेम मोड्स मिलते हैं. लॉकडाउन के दौरान इस गेम को खेलने वालों की संख्‍या में जबरदस्त इजाफा हुआ. इस कारण इसकी डिमांड भी बढ़ गयी. गूगल प्ले स्टोर पर इसने टॉप 5 गेम्स में अपनी जगह बना ली. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट की मानें तो 2020 की पहली तिमाही में पबजी मोबाइल के 60 करोड़ डाउनलोड्स और 5 करोड़ एक्टिव यूजर्स थे. सेंसर टॉवर की रिपोर्ट भी इस बाबत आयी जिसके अनुसार, मई में पबजी मोबाइल $226 मिलियन (लगभग 1.7 हजार करोड़ रुपए) रेवेन्यू के साथ दुनिया का सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाला मोबाइल गेम साबित हुआ.

पहले भी टिकटॉक पर लग चुका है बैन: इससे पहले अप्रैल, 2019 में भी मद्रास हाइकोर्ट ने टिकटॉक के कंटेंट पर आपत्ति जताते हुए भारत में इसपर बैन लगा दिया था. हाल ही में लाखों भारतीय यूजर्स ने एप पर महिलाओं के खिलाफ बढ़ती हिंसा को देखते हुए एप को बैन करने की मांग की थी. राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी टिकटॉक को पूरे देश में बैन करने की मांग की थी.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें