1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. jio airtel vi offer 3 months free recharge on record covid 19 vaccination beware of fake message rjv

Jio Airtel Vi रिकॉर्ड वैक्सीनेशन पर दे रहे 3 महीने का फ्री रीचार्ज? वायरल मैसेज की ये है सच्चाई

वायरल हो रहे इस मैसेज में दावा किया गया है कि केंद्र सरकार Jio, Airtel और Vi ग्राहकों को रिकॉर्ड कोविड-19 वैक्सीनेशन की खुशी में तीन महीने का फ्री मोबाइल रीचार्ज दे रही है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
jio airtel vi free recharge message
jio airtel vi free recharge message
fb

Free Recharge Jio, Airtel, Vi : इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप पर ​कुछ दिनों से एक मैसेज वायरल हो रहा है. इसमें जियो, एयरटेल और वोडा-आइडिया की ओर से 3 महीने का फ्री रीचार्ज देने की बात कही गई है. Whatsapp Fake Message के मुताबिक, देशभर में 90 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका (COVID 19 Vaccination) लगने की खुशी में सरकार द्वारा Airtel, Jio और Vi का तीन महीने का फ्री रीचार्ज दिया जा रहा है.

ऐसे किसी भी मैसेज पर भरोसा करना खतरनाक

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस मैसेज में दावा किया गया है कि केंद्र सरकार Jio, Airtel और Vi ग्राहकों को रिकॉर्ड कोविड-19 वैक्सीनेशन की खुशी में तीन महीने का फ्री मोबाइल रीचार्ज दे रही है. वायरल मैसेज में तीन महीने का मुफ्त रीचार्ज पाने के लिए एक ऑनलाइन लिंक भी शामिल है. मैसेज में आगे लिखा है कि यह ऑफर केवल 24 घंटों के लिए वैध है. अगर आपके पास भी यह मैसेज आ रहा है, तो थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है. ऐसे किसी भी मैसेज पर भरोसा करना खतरनाक साबित हो सकता है. सबसे पहले इसकी पूरी सच्चाई जान लें.

क्या लिखा है वायरल मैसेज में?

व्हाट्सऐप, टेलीग्राम, एसएमएस सहित दूसरे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर वायरल हो रहे इस मैसेज में लिखा है- कोविड-19 टीकाकरण की उपलब्धि का जश्न मनाने के लिए, सभी भारतीय उपयोगकर्ताओं को तीन महीने का मुफ्त मोबाइल रीचार्ज मिलेगा. अगर आपके पास जियो, एयरटेल या वीआई सिम कार्ड है, तो आप इस ऑफर का लाभ उठा सकेंगे. वायरल मैसेज में तीन महीने का मुफ्त रीचार्ज पाने के लिए एक ऑनलाइन लिंक भी शामिल है. मैसेज में आगे लिखा है कि यह ऑफर केवल 24 घंटों के लिए वैध है.

free recharge fake message
free recharge fake message
fb

फर्जी है वायरल मैसेज : PIB

सरकार ने स्पष्ट किया है कि वायरल पोस्ट फर्जी है. प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) की तथ्य जांच शाखा 'पीआईबी फैक्ट चेक' ने ट्वीट कर बताया है कि यह मैसेज फर्जी है. 'पीआईबी फैक्ट चेक' ने ट्वीट किया है- मुफ्त रीचार्ज को लेकर वायरल हो रहा मैसेज फर्जी है. भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है.

लग जाएगी लाखों की चपत

ऐसे कई मैसेज हमारे सामने आ जाते हैं. आपको बता दें कि कोई भी टेलीकॉम कंपनी किसी भी यूजर को इस तरह का ऑफर नहीं देती है. ऐसे में अगर आपके पास ऐसा कोई भी मैसेज आता है तो हमारी सलाह है कि आप इस तरह के लिंक को इग्नोर करें. ऐसे किसी भी मैसेज में दिये गए लिंक पर क्लिक करना आपका अकाउंट खाली कर सकता है.

15 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए टीकाकरण जारी

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, अब तक देश में 90 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाया जा चुका है. इनमें से 64 करोड़ लोगों को दोनों डोज लगाये जा चुके हैं. हाल ही में, सरकार ने 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के बुजुर्ग के लिए बूस्टर डोज और 15 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए भी टीकाकरण शुरू किया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें