1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. jio 4th anniversary internet price in india data became 40 times cheaper in just 4 years mukesh ambani reliance jio 4 year journey all you need to know rjv

JIO @ 4 : 40 गुना सस्ते डेटा से 4 साल में जोड़ लिये 40 करोड़ यूजर्स

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Reliance Jio 4th Anniversary RIL success story
Reliance Jio 4th Anniversary RIL success story
file

Reliance Jio, Mukesh Ambani, RIL, Jio News : 5 सितंबर 2016. चार साल पहले आज ही के दिन मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो को देश की जनता के लिए लॉन्च कर दिया था. बिल्कुल मुफ्त 4जी डेटा और वॉयस कॉलिंग के साथ. मुकेश अंबानी की इस घोषणा के बाद उस समय देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल के शेयर 8.5% लुढ़क गये. दूसरी बड़ी कंपनी आइडिया की मार्केट वैल्यू 7% कम हो गई. मुकेश अंबानी ने जियो की लॉन्चिंग के साथ ही टेलीकॉम मार्केट में प्राइस वॉर छेड़ दिया. रिलायंस के मुताबिक, उस समय 1 जीबी डेटा की कीमत 200 रुपये तक थी, जो आज लेकिन आज यह 5 रुपये के आसपास आ गई है.

रिलायंस जियो की डेटा क्रांति

रिलायंस जियो के पॉपुलर प्लान्स (Jio popular plans) के जरिये डेटा की किफायती कीमतों की वजह से डेटा खपत में भी भारी उछाल आया है. Jio के जन्म से पहले जहां डेटा खपत मात्र 0.24जीबी प्रति ग्राहक प्रति माह थी, वहीं आज यह कई गुना बढ़कर 10.4जीबी हो गई है. रिलायंस जियो इसे डेटा क्रांति (Data revolution) कहती है.

कोरोना काल में डेटा की जरूरत

कोरोना काल में किफायती डेटा का महत्व खुल कर सबके सामने आया. वर्क फ्रॉम होम हो या बच्चों की ऑनलाइन क्लास, रोजमर्रा का सामान मंगाना हो या डॉक्टर के साथ ऑनलाइन अपाइंटमेंट, सबकुछ तभी संभव हो सका जब डेटा की कीमतें हमारी जेब के अनुकूल हुईं. यह जियो का ही असर है कि डेटा की कीमतें ग्राहकों की पहुंच में हैं.

डेटा खपत में भारत सबसे आगे

2016 में हमारा देश डेटा खपत के मामले में 155वें पायदान पर था. आज 4 साल बाद रिलायंस जियो की डेटा क्रांति के दम पर देश दुनिया में डेटा खपत के मामले में नंबर वन है. ट्राई के मुताबिक, अमेरिका और चीन मिलकर जितना मोबाइल 4जी डेटा खपत करते हैं, उनसे ज्यादा अकेले भारत के लोग डेटा का इस्तेमाल करते है. देश का 60 फीसदी से ज्यादा डेटा जियो नेटवर्क पर इस्तेमाल होता है.

40 करोड़ जियो यूजर्स

टेलीकॉम सेक्टर की दिग्गज कंपनियों को रिलायंस जियो ने हर मोड़ पर चोट दी. आज कंपनी उपभोक्ताओं, मार्केट शेयर और रेवेन्यू के मामले में नंबर वन है. कंपनी ने अपने नेटवर्क से ग्राहकों को जोड़ने में भी रिकॉर्ड कायम किया है. पिछले 4 सालों में जियो से लगभग 40 करोड़ से अधिक उपभोक्ता जुड़े हैं.

10 करोड़ से अधिक जियोफोन यूजर्स

रिलायंस जियो ने आते ही कई नये प्रयोग किये. इसमें मुफ्त वॉयस कॉलिंग और किफायती डेटा तो था ही, साथ ही 2जी नेटवर्क का इस्तेमाल करने वाले और ग्रामीण भारत के लिए कंपनी बेहद सस्ते दामों पर 4जी जियोफोन ले कर आयी. आज कंपनी के पास 10 करोड़ से ज्यादा जियोफोन यूजर्स हैं. जियोफोन आने के बाद गांवों में डेटा सब्सक्राइबर्स की संख्या काफी बढ़ गई. 2016 में जहां गांवों में 12 करोड़ के करीब ग्राहक डेटा इस्तेमाल कर रहे थे, वहीं आज 28 करोड़ लोग इंटरनेट डेटा का उपयोग कर रहे हैं.

सस्ते डेटा ने बनाया देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी

5 सितंबर 2016 को मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो लॉन्च की. शुरुआत में कंपनी ने 6 महीने तक 4जी डेटा और वॉइस कॉलिंग फ्री रखी. इसका नतीजा यह हुआ कि रिलायंस जियो तेजी से बढ़ने लगी. रिलायंस के मुताबिक, जियो की लॉन्चिंग के 83 दिन के अंदर ही कंपनी के 5 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हो गए थे. दिसंबर 2016 तक कंपनी के पास 7 करोड़ से ज्यादा यूजर्स थे. वहीं, लॉन्चिंग के सालभर बीतते, यानी सितंबर 2017 तक जियो के 13 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हो गए थे. रिलायंस इंडस्ट्रीज की तिमाही रिपोर्ट के मुताबिक, जून 2020 तक कंपनी के पास 39.8 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं. 4 साल के अंदर जियो देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बन चुकी है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें