1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. fake paytm app alert check how to avoid fraud from paytm spoof rjv

Paytm का फर्जी ऐप कहीं चूना न लगा दे आपको, रहें सावधान

फर्जी ऐप्स के जरिये भी खूब ठगी हो रही है. इन दिनों एक फर्जी Paytm ऐप से जुड़े फ्रॉड की घटना सामने आ रही है, जिसके जरिये साइबर अपराधी लाखों रुपये की ठगी कर चुके हैं. ऐसे में सतर्कता जरूरी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
paytm spoof
paytm spoof
fb/symbolic

Paytm, PhonePe और Google Pay जैसे डिजिटल पेमेंट ऐप्स (digital payments app) के साथ डिजिटल ट्रांजैक्शन (digital transaction) में बड़ी तेजी आयी है. कोरोना काल के बाद से तो डिजिटल पेमेंट और ज्यादा पॉपुलर हो चला है. इसने लोगों को सहूलियत तो दी है, लेकिन इसका साइबर अपराधी भी जमकर फायदा उठा रहे हैं. ऐसे में सतर्कता जरूरी है.

Paytm का फर्जी ऐप

फर्जी ऐप्स के जरिये भी खूब ठगी हो रही है. इन दिनों एक फर्जी Paytm ऐप से जुड़े फ्रॉड की घटना सामने आ रही है, जिसके जरिये साइबर अपराधी लाखों रुपये की ठगी कर चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, देश के कई हिस्सों से ठगी के मामले सामने आ रहे हैं. पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है जो फर्जी Paytm ऐप के जरिये ठगी कर रहे थे. ये फर्जी ऐप असल ऐप की तरह ही दिखते हैं, जिसकी वजह से लोग झांसे में आ जाते हैं.

फर्जी Paytm ऐप से कैसे होती है ठगी?

Paytm ऐप से जुड़े ठगी के मामले में दुकान से कुछ खरीदने के बाद दुकानदार को सामान की राशि, दुकान या दुकानदार का नाम और दूसरी जानकारी के साथ फर्जी रिसीप्ट दिखाकर लोगों को चूना लगाया जा रहा है. फर्जी ऐप दुकानदार को पैसे रिसीव होने का नोटिफिकेशन भी दिखाता है, लेकिन उनके बैंक अकाउंट में कुछ भी क्रेडिट नहीं होता है.

फर्जी ऐप से रहें सतर्क

बाजार में मौजूद पॉपुलर पेमेंट ऐप्स के नामों से मिलते-जुलते कई फर्जी ऐप प्ले स्टोर में आ गए हैं. इन ऐप्स के नोटिफिकेशन इतनी तेज और लगातार आते रहते हैं इसलिए उन फर्जी ऐप्स को डाउनलोड करने के पहले उनकी जांच करना बेहद जरूरी है. ऐसे में जरूरी है कि आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते समय हमेशा अलर्ट रहें और किसी भी तरह से फ्रॉड से दूर रहें.

ऐसे फ्रॉड से बचने का तरीका

फर्जी पेमेंट्स ऐप्स से होनेवाली धोखाधड़ी से बचने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा. किसी से भी पेमेंट लेने के बाद आपको हमेशा अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस अमाउंट चेक करना चाहिए. इसके साथ ही आपको क्रेडिट के सोर्स को भी वेरीफाई करना चाहिए. वहीं, सुनिश्चित करें कि पेमेंट क्रेडिट का नोटिफिकेशन हमेशा आपके बैंक से ही आये.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें