25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

सिटी सेंटर में जेसीबी लगाकर दर्जनों अस्थायी दुकानें हटायी गयीं

राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद आसनसोल दुर्गापुर विकास प्राधिकरण (एडीडीए) की ओर से अतिक्रमण अभियान लगातार जारी है. अभियान के तहत सड़क किनारे अस्थाई दुकानों, गुमटियों को जेसीबी लगाकर हटा दिया गया. वहीं अभियान के तहत सरकारी जमीन पर बने राजनीतिक पार्टी कार्यालयों को भी ध्वंस कर दिया गया.

दुर्गापुर.

राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद आसनसोल दुर्गापुर विकास प्राधिकरण (एडीडीए) की ओर से अतिक्रमण अभियान लगातार जारी है. अभियान के तहत सड़क किनारे अस्थाई दुकानों, गुमटियों को जेसीबी लगाकर हटा दिया गया. वहीं अभियान के तहत सरकारी जमीन पर बने राजनीतिक पार्टी कार्यालयों को भी ध्वंस कर दिया गया.

मंगलवार को सिटी सेंटर बस पड़ाव, स्मार्ट बाजार, फूड मार्ट, डीसी सिनेमा हॉल के आसपास की दुकानों को जेसीबी लगाकर हटाया गया. अभियान के तहत अड्डा के अधिकारियों के अलावा पुलिस बल मौके पर मौजूद था. अड्डा की ओर से लगातार अभियान चलाये जाने से छोटे व्यवसायियों में भय व दहशत व्याप्त है. अड्डा का निर्देश मिलने के बाद से ही अधिकांश दुकानदार अपनी-अपनी दुकान खुद ही हटाने में जुट गये हैं. अभियान शुरू करने से पहले अड्डा द्वारा माइकिंग कर तीन दिनों के भीतर सरकारी जमीन को खाली करने का निर्देश दिया जा रहा है.

निर्देश के बाद यदि कोई जमीन खाली नहीं कर रहा है तो उसके ढांचे को जेसीबी लगाकर हटा दिया जा रहा है. इसके पहले गांधी मोड़ के समीप हेल्थ वर्ल्ड अस्पताल के आसपास अस्थाई दुकानों को जेसीबी लगाकर ध्वंस कर दिया गया था. अभियान से कई लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरकार के इस अभियान से गरीब लोगों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. लंबे समय से अस्थाई तरीके से दुकान लगाकर वे परिवार चला रहे थे. सरकार ने उसे ध्वस्त कर दिया है. इससे वे बेरोजगार हो गये है. सरकार को उनके लिए कोई व्यवस्था करना चाहिए.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें