40.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

राज्यपाल व राजनाथ की मुलाकात में राहुल की मौजूदगी पर तृणमूल ने उठाया सवाल

कोलकाता. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बंगाल दौरे को लेकर विवाद शुरू हो गया है. तृणमूल कांग्रेस की ओर से इसे राजनीतिक दौरा बताया जा रहा है तो वहीं भाजपा इसे प्रशासनिक दौरा कह रही है. राजनाथ सिंह की राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से मुलाकात ने विवादों को हवा दे दी है. राजनाथ सिंह के फेसबुक […]

कोलकाता. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बंगाल दौरे को लेकर विवाद शुरू हो गया है. तृणमूल कांग्रेस की ओर से इसे राजनीतिक दौरा बताया जा रहा है तो वहीं भाजपा इसे प्रशासनिक दौरा कह रही है. राजनाथ सिंह की राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से मुलाकात ने विवादों को हवा दे दी है.

राजनाथ सिंह के फेसबुक पेज पर अपलोड की गयी तसवीर में राज्यपाल व श्री सिंह के अलावा पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष राहुल सिन्हा भी दिखाई दे रहे हैं. तृणमूल का कहना है कि यह साबित करता है कि यह दौरा पूरी तरह से राजनीतिक था. राज्यपाल व श्री सिंह की मुलाकात में राहुल सिन्हा के शामिल होने का कोई औचित्य नहीं है.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि राजनाथ सिंह ने कूचबिहार के छीटमहल इलाके का दौरा किया. उनके साथ भाजपा सांसद भी थे. क्या यह आधिकारिक दौरा है या फिर राजनीतिक. राज्य सरकार के साथ इस दौरे के पूर्व कोई चर्चा नहीं की गयी. जबकि छीटमहल और कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी राज्य सरकार के दायरे में आती है. ऐसे मामलों में यह जरूरी होता है कि राज्य सरकार के साथ पहले चर्चा की जाये. वह (ममता) अपने पूर्व के कार्यक्रम के तहत अभी उत्तर बंगाल में हैं. श्री सिंह के दौरे के संबंध में उनके केवल दौरे के कार्यक्रम की जानकारी मिली है. संघीय ढांचे में एक दूसरे के न्यायक्षेत्र का सम्मान करना चाहिए. तृणमूल महासचिव पार्थ चटर्जी ने भी कहा कि राजनाथ संघीय ढांचे को ध्वस्त करना चाहते हैं. ऐसे दौरों से केंद्र व राज्य का विवाद बढ़ेगा.

इधर, भाजपा के बंगाल प्रभारी सिद्धार्थ नाथ सिंह ने राजनाथ सिंह के साथ फोन पर बातचीत के बाद संवाददाताओं को बताया कि गत 25 मार्च को ही श्री सिंह के दौरे के संबंध में राज्य सरकार को सूचित कर दिया गया था. यह सूचना सभी संबंधित अधिकारियों को दे दी गयी थी. ऐसे में राज्य सरकार यदि कहती है कि उसे दौरे की जानकारी नहीं थी तो वह गलत कह रही है. दरअसल राज्य सरकार बांग्लादेशी घुसपैठियों और पशु तस्करों को नहीं रोकना चाहती. पहली बार गृह मंत्री के तौर पर श्री सिंह बंगाल आये लेकिन राज्य सरकार ने कोई सज्जनता नहीं दिखायी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें