27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गोबर से गैस बनाने की योजना बना रहा केएमसी

बैठक के बाद तारक सिंह ने निगम में संवाददाताओं को बताया कि महेशतला में करीब 44 खटाल हैं. इनमें से 14 खटाल मालिक बैठक में शामिल हुए थे.

कोलकाता. दक्षिण 24 परगना के महेशतला के खटाल मालिकों के साथ शुक्रवार को कोलकाता नगर निगम (केएमसी) में सीवरेज व ड्रेनेज विभाग के मेयर परिषद सदस्य तारक सिंह की उपस्थित में बैठक हुई. बैठक के बाद तारक सिंह ने निगम में संवाददाताओं को बताया कि महेशतला में करीब 44 खटाल हैं. इनमें से 14 खटाल मालिक बैठक में शामिल हुए थे. उन्होंने बताया की खटाल में गाय के गोबर की वजह से संतोषपुर पंपिंग स्टेशन और मनिखली खाल में अधिक गाद जम रहे हैं. वहीं, कोलकाता के 133 व 134 सहित कुछ अन्य वार्डों के सीवरेज का पानी दक्षिण 24 परगना के महेशतला स्थित निगम के संतोषपुर पंपिंग स्टेशन के माध्यम से मनिखली खाल तक पहुंचता है. लेकिन महेशतला स्थित खटालों की वजह से संतोषपुर पंपिंग स्टेशन और मनिखली खाल में गाद अधिक जम रहे हैं. वहीं, गोबर की वजह से महेशतला में जल जमाव की समस्या भी हो रही है. ऐसे में निगम को बार-बार ड्रेजिंग करनी पड़ती है, क्योंकि खटालों के गोबर को सीवरेज में डाल दिया जाता है, जिससे बारिश में संतोषपुर पंपिंग स्टेशन और मनिखली खाल गंदगी से भर जाता है. इससे उक्त वार्डों में जल जमाव की समस्या देखी जाती है. तारक सिंह ने बताया कि महेशतला में खटाल मालिक अब जहां-तहां गोबर नहीं फेंक सकेंगे. उन्होंने बताया कि महेशतला में अब चिह्नित स्थानों पर गोबर फेंका जायेगा. स्थान को चिह्नित किये जाने के लिए महेशला नगरपालिका के चेयरमैन शनिवार को स्पॉट निरीक्षण करेंगे. वहीं, चिह्नित स्थानों तक गोबर पहुंचाने के लिए निगम गाड़ी की व्यवस्था करेगा. खटाल के मालिक को फीस का भुगतान करना पड़ेगा. वहीं, एकत्र होने वाले गोबर से गैस बनाये जाने की भी योजना है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें