Exercise to strengthen Naxalites in Jharkhand

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

एक करोड़ का इनामी आकाश कर रहा है संगठन को लीड

2017 में सात सदस्यों के आत्मसमर्पण करने से संगठन हुआ कमजोर

श्याम सिंकू के जेल से बाहर आने पर आकाश को मिली मजबूती, बंगाल से नये लड़कों के लेकर खड़ा किया संगठन

किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की है योजना

पुलिस और सीआरपीएफ सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए कर रही है छापेमारी

आसनसोल : झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिला में नक्सली संगठन को मजबूत करने व किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए पश्चिम बंगाल के पश्चिम मेदिनीपुर और पुरुलिया से दस युवकों को नक्सली दस्ते में शामिल करने की खुफिया सूचना पर पूर्वी सिंहभूम जिला पुलिस और सीआरपीएफ संयुक्त रूप से पटमदा, बड़ाम, गालूडीह और घाटशिला थाना क्षेत्रों में सर्च अभियान चला रही है.

किसी को पकड़ने में उन्हें अभी तक कामयाबी नहीं मिली है. पूर्वी सिंहभूम के वरीय पुलिस अधीक्षक अनूप विरथरे ने बताया कि जिले के ऊक्त चार थाना क्षेत्र ही नक्सल प्रभावित हैं. सूचना है कि इलाके में नए दस्ते को सक्रिय किया गया है. जिसके लिए सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

रंजीत पाल के आत्मसमर्पण के बाद संगठन हुआ कमजोर

भाकपा (माओवादी) केंद्रीय कमेटी के सदस्य रंजीत पाल ऊर्फ राहुल ने 25 जनवरी 2017 को पश्चिम बंगाल पुलिस मुख्यालय में आत्मसमर्पण किया. वह सांसद सुनील महतो हत्याकांड का मुख्य आरोपी था. उसके आत्मसमर्पण के उपरांत पूर्वी सिंहभूम जिला में सक्रिय कान्हू मुंडा, फोकरा मुंडा, जितेन मुंडा, शंकर मुंडा, चुन्नू मुंडा, महिला सदस्य काजल मुंडा ने झारखण्ड पुलिस के समक्ष 16 फरवरी 2017 को आत्मसमर्पण कर दिया.

जिससे संगठन काफी कमजोर हो गया. संगठन का सदस्य श्याम सिंकू जेल से रिहा होने के बाद गुड़बांदा और डुमरिया इलाके में संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी उसे मिली. उसने पश्चिम मेदनीपुर और पुरुलिया जिले के नए 10 युवकों को अपने दस्ते में शामिल किया. इन युवकों के दस्ते में शामिल होने से दस्ते के सदस्यों की संख्या में काफी बृद्धि हुई. सूत्रों के अनुसार यह दस्ता दो टोलियों में बंटकर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की तैयारी कर रहा है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें