एएसआइ पर किया हमला, पथराव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रक्तरंजित हालत में दाखिल कराये गये आसनसोल के निजी अस्पताल में

सिविक वोलेंटियर सहित 145 उपद्रवियों के खिलाफ दर्ज की गयी प्राथमिकी
चार नामजद आरोपी भेजे गये जेल, आरोपी सिविक वोलेंटियर भी गिरफ्तार
आसनसोल / रूपनारायणपुर : आसनसोल नॉर्थ थाना अंतर्गत कन्यापुर फांड़ी के पांचगछिया नया बस्ती गांधीनगर इलाके में बुधवार की रात सवा बारह बजे दुर्गापूजा में वाहन पार्किंग को लेकर दो गुटों में चल रही मारपीट को रोकने गयी पुलिस पर उपद्रवियों ने हमला कर दिया. हमला में सहायक अवर निरीक्षक मोहम्मद हसन नुज्जमाल बुरी तरह घायल हो गये.
उन्हें तत्काल निकटवर्ती एचएलजी अस्पताल में दाखिल किया गया. घटना में उनकी दायीं आंख बाल-बाल बच गयी. फिलहाल वे खतरे से बाहर हैं. कन्यापुर फांड़ी के सहायक अवर निरीक्षक अमित कुंडू की शिकायत पर दर्ज कांड संख्या 219/2019 में आईपीसी की धारा 147/148/149/186/353/324/327/307/506 और एमटीओ एक्ट नौ के तहत प्राथमिकी हुई. कांड में आसनसोल नार्थ थाना के सिविक वोलेंटियर विश्वनाथ बाउरी सहित 10 को नामजद तथा अन्य 135 को आरोपी बनाया है.
नामजद चार आरोपी मनोहरबहाल के राजेश पाल व उसके भाई सुरंजन पाल उर्फ सुरेश, सेलरेले बी ब्लॉक के संजय साव और कन्यापुर खटाल के निवासी संजय बाउरी को गिरफ्तार कर गुरुवार को आसनसोल जिला कोर्ट के सीजेएम अदालत में पेश किया गया. सभी की जमानत खारिज हो गयी और अगली सुनवाई तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया.
सूत्रों के अनुसार सिविक वोलेंटियर विश्वनाथ सह कांड के कुछ अन्य आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार की रात को गिरफ्तार कर लिया है. जिन्हें शुक्रवार को जिला अदालत में पेश किया जायेगा.
पांचगछिया इलाके में नयाबस्ती गांधीनगर में द्वितीय वर्ष आयोजित दुर्गापूजा का भव्य आयोजन में लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है. जगह कम होने के कारण स्थानीय स्कूल भवन के अंदर स्थानीय युवकों ने वाहन पार्किंग की व्यवस्था की है. इसी पार्किंग पर वर्चस्व को लेकर बुधवार की रात नयाबस्ती और मनोहरबहाल के युवकों में मारपीट शुरू हुई थी. पुलिस को सूचना मिलते ही ड्यूटी पर तैनात सहायक अवर निरीक्षक श्री हसन वहां पहुंचे. दोनों पक्षों को शांत करने के क्रम में उनपर पहले लाठी से हमला हुआ. किसी प्रकार उन्होंने स्थिति नियंत्रित की. इसी बीच कुछ उपद्रवियों ने उन पर पथराव कर दिया. एक पत्थर उनकी दायीं आंख के नीचे लगी और वे लहूलुहान होकर गिर पड़े. यह देखते ही उपद्रवी वहां से भाग निकले.
सहयोगियों ने श्री हसन को एचएलजी अस्पताल में दाखिल किया गया. उनकी आंख के नीचे टांके लगे. अभी वे खतरे से बाहर हैं. मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस लगातार छापामारी कर रही है.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें