1. home Home
  2. state
  3. up
  4. gohri massacre congress general secretary priyanka gandhi will reach the house of gohari massacre family today nrj

गोहरी नरसंहार : आज मृतकों के घर पहुंचेंगी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

मृतकों के परिजनों से मिलने के लिए आज शाम 3 बजे कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी गोगरी गांव पहुंच सकती है. गोहरी में एक ही परिवार के चार लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या चर्चा का विषय बना हुआ है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Prayagraj
Updated Date
प्रियंका गांधी, महासचिव, कांग्रेस
प्रियंका गांधी, महासचिव, कांग्रेस
फाइल फोटो

Prayagraj Phaphamau Gohari Case News : जिले के फाफामऊ थानाक्षेत्र के मोहनगंज फुलवरिया गोहरी गांव में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या मामले में अब पुलिस की कार्यशैली पर ही सवाल खड़े होने लगे हैं. बहरहाल पुलिस ने मामले में 11 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है. देर रात डीआईजी/एसएसपी प्रयागराज ने करवाई करते हुए फाफामऊ इंस्पेक्टर समेत दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया कर दिया है.

इस संबंध में स्थानीय लोगों का कहना है की पुलिस ने यदि पहले ही उचित कारवाई की होती तो आज इतनी बड़ी घटना नहीं होती. बहरहाल, पुलिस ने मामले में 11 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है. देर रात डीआईजी और एसएसपी प्रयागराज ने कार्रवाई करते हुए फाफामऊ इंस्पेक्टर समेत दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया कर दिया है. मृतकों के परिजनों से मिलने के लिए आज शाम 3 बजे कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी गोगरी गांव पहुंच सकती है. गोहरी में एक ही परिवार के चार लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या चर्चा का विषय बना हुआ है.

पुलिस ने 11 के खिलाफ दर्ज की है FIR

मृतक के भाई लालचंद की तहरीर के मुताबिक सभी 11 आरोपी गांव के ही है. पुलिस ने लालचंद की तहरीर मिलने के बाद गांव के ही आकाश सिंह, बबली सिंह पत्नी अमित सिंह, रवि सिंह, मनीष सिंह, अमित सिंह, अभय सिंह राजा, कुलदीप कान्हा, अशोक, रंजू आदि के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच में जुट गई है.

नजारा देख कांप गई थी भाई की रूह

मृतक के भाई लालचंद के मुताबिक गुरूवार सुबह पड़ोस में रह रहे चाट वाले ने आकर बताया की तुम्हारे भाई के घर से दो-तीन दिन से कोई बाहर नहीं निकला है. कोई है नहीं क्या? जिसके बाद लालचंद मौके पर पहुंचा तो दरवाजा बंद था. धक्का देते ही दरवाजा खुल गया. लालचंद ने बताया की अंदर का नजार देख वह कांप गया था. घबराहट में वह क्या करे उसे समझ ही नहीं आया. वह उल्टे पाव भाग कर घरवालों को घटना को सूचना दी. लाल चंद ने बताया भाई फूलचंद (50) उसकी पत्नी मीनू देवी (45) बेटे शिव (10) का शव ओसारे में पड़ा था. अंदर कमरे में चारपाई पर बेटी की लाश पड़ी थी. सभी को कुल्हाड़ी से काटकर हत्या की गई थी.

चारपाई पर पड़ी थी बेटी की लाश

लालचंद ने ‘प्रभात खबर’ को बताया की जब वह ओसारे से कमरे में घुसा तो चारपाई पर पड़ी बेटी की लाश देख उसका दिल दहल गया. आंखो में आंसू लिए लालचंद ने कहा बिटिया के कपड़े फटे-नुचे थे. गैंगरेप की आशंका जताते हुए उसने बताया इसके बाद पुलिस आ गई.

पांच घंटे तक नहीं उठने दिया था शव

घटना से आक्रोशित परिजनों ने करीब 5 घंटे तक चारों मृतकों के शव नहीं उठने दिए थे. सूचना के बाद मौके पर पहुंचे डीएम संजय खत्री और एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी के समझाने और कड़ी कारवाई के आश्वासन के बाद परिजन और ग्रामीण माने. जिसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा गया.

परिजनों ने पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप

मृतकों के परिजनों का आरोप है कि गांव के ही कुछ दबंगों के साथ रास्ते की जमीन को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था. विवाद के चलते दबंगों ने कई बार उनकी पिटाई भी की थी. इस संबंध में एक एससी एसटी का मुकदमा दर्ज हुआ था जिसकी चार्जशीट आज तक नहीं लगी. दबंग मुकदमे को वापस लेने का दबाव बना रहे थे. साथियों ने बार-बार जान से मारने की धमकी दी जा रही थी. पुलिस के पास कई बार गए लेकिन पुलिस ने उनकी एक नहीं सुनी. पुलिस ने सुनी होती तो इतने लोगों की हत्या नहीं होती.

पुलिस को अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार

मामले में 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस को अब मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार है. साथ ही 17वर्षीय मृतका की हत्या से पहले गैंगरेप की आशंका की भी पुष्टि उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही होगी. वहीं दूसरी ओर पुलिस ने 11 नामजद में चार लोगों को पहले ही हिरासत में ले लिया था. साथ ही डीआईजी/एसएसपी प्रयागराज ने इस मामले में फाफामऊ इंस्पेक्टर समेत दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया है.

रिपोर्ट : एसके इलाहाबादी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें