उन्‍नाव रेप पीड़िता एक्‍सीडेंट: UP सरकार ने की CBI जांच की सिफारिश, MLA सेंगर सहित 10 के खिलाफ FIR

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

लखनऊः उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ने उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली पीड़िता की रायबरेली में हुई सड़क दुर्घटना की जांच सीबीआई को सौंपे जाने की सोमवार देर रात सिफारिश कर दी है. प्रधान गृह सचिव अरविंद कुमार ने कहा कि सीबीआई जांच के लिए एक औपचारिक अनुरोध भारत सरकार को भेजा गया है.

इससे पहले, यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा था कि अगर पीड़िता की मां या अन्य कोई रिश्तेदार अनुरोध करेंगे, तो राज्य सरकार रायबरेली में हुई इस दुर्घटना की सीबीआई जांच कराने को तैयार है. गौरतलब है कि रविवार को रायबरेली में एक तेज रफ्तार ट्रक ने एक कार को टक्कर मार दी थी, जिसमें पीड़िता और उसकी रिश्तेदार तथा वकील सवार थे.
हादसे में पीड़िता की दो रिश्तेदारों चाची और मौसी की मौत हो गयी , जबकि पीड़िता एवं वकील घायल हो गये और वे अस्पताल में भर्ती हैं. रेप पीड़िता और उनके वकील की हालत बेहद गंभीर है. दोनों ही वेंटिलेटर पर हैं. डॉक्टरों का कहना है कि परिवार चाहे तो उन्हें किसी बड़े अस्पताल में ले जा सकता है. हादसे में मृत महिलाओं में से एक उन्नाव दुष्कर्म मामले की गवाह थी. दुष्कर्म पीड़िता की मां ने दावा किया कि यह दुर्घटना उनकी बेटी और अन्य को खत्म करने की एक साजिश थी.
इस बीच सोमवार को दुर्घटना के मामले में पीड़िता के चाचा की तरफ से सेंगर औऱ 10 के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया.
धक्का मारने वाला ट्रक सपा नेता के भाई का
उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे में नया खुलासा हुआ है. पुलिस के मुताबिक, एक्सीडेंट करने वाला ट्रक समाजवादी पार्टी नेता नंदू पाल के बड़े भाई देवेंद्र पाल का है. हादसे के बाद फतेहपुर के जेल रोड पर देवेंद्र पाल के मकान में ताला बंद है. बताया जा रहा है कि देवेंद्र पाल ललौली थाना क्षेत्र के मुत्तोर गांव के रहने वाले हैं. उनकी तलाश शुरू हो गई है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें