1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. kolebira mla was offered a huge amount along with the post of minister smj

झारखंड के कोलेबिरा विधायक विक्सल कोंगाड़ी का दावा, बोले- मुझे भी मंत्री पद के साथ मोटी रकम का मिला था ऑफर

झारखंड की हेमंत सरकार को अस्थिर करने के मामले में रविवार को एक और खुलासा हुआ है. कोलेबिरा के कांग्रेस विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी ने दावा किया कि उन्हें मंत्री पद के साथ मुंहमांगा ऑफर मिला था. इस बात की जानकारी पार्टी नेता समेत सीएम हेमंत सोरेन को कुछ दिन पहले ही दे दी गयी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
हेमंत सरकार को अस्थिर करने के मामले में कोलेबिरा विधायक ने किया दावा. बोले- मुझे भी मिला था ऑफर.
हेमंत सरकार को अस्थिर करने के मामले में कोलेबिरा विधायक ने किया दावा. बोले- मुझे भी मिला था ऑफर.
फाइल फोटो.

Jharkhand News (रांची) : झारखंड की हेमंत सरकार को अस्थिर करने के मामले में रविवार को एक और खुलासा हुआ है. कोलेबिरा के कांग्रेस विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी ने दावा किया कि उन्हें मंत्री पद के साथ मुंहमांगा ऑफर मिला था. इस बात की जानकारी पार्टी नेताओं समेत सीएम हेमंत सोरेन को कुछ दिन पहले ही दे दी गयी.

सत्ताधारी विधायकों की खरीद-फरोख्त कर झारखंड की हेमंत सरकार को गिराने (अपदस्थ करने) के मामले में अब हर दिन नये खुलासे हो रहे हैं. रविवार को कोलेबिरा के कांग्रेस विधायक ने भी इसका खुलासा किया. कांग्रेस विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी को ऑफर वाले मामले की जानकारी उन्होंने पार्टी के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव और विधायक दल के नेता सह मंत्री आलमगीर आलम को भी दी है. साथ ही सीएम हेमंत सोरेन को भी इसकी जानकारी दी गयी है. इससे पहले झामुमो भी आरोप लगा चुकी है कि झारखंड की हेमंत सरकार को अस्थिर करने की साजिश रची गयी है.

बता दें कि इस मामले को लेकर शनिवार को रांची की कोतवाली पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया. यह गिरफ्तारी बेरमो विधायक जयमंगल उर्फ अनूप सिंह के प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद हुई है. विधायक श्री सिंह ने गत 22 जुलाई को रांची के काेतवाली थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी थी. इसी के आधार पर पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार तीनों लोगों को 7 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा है.

इस संबंध में विधायक श्री सिंह ने प्रभात खबर से बात करते हुए कहा कि गत 22 जुलाई, 2021 को ही रांची के कोतवाली थाना में मामला दर्ज कराया और इसकी सूचना डीजीपी को भी दी. इस मामले को लेकर सीएम हेमंत सोरेन से बात हुई थी. जो लोग इसमें शामिल हैं, वो चार-पांच विधायकों के संपर्क में थे. इन विधायकों को बड़े ऑफर मिले हैं.

गिरफ्तार आरोपियों में पलामू के अभिषेक दुबे, बोकारो के अमित सिंह और निवारण प्रसाद महतो मुख्य है. जबकि एक आरोपी मोहित भारती भागने में सफल रहा है. पुलिस इस मामले में हर पहलुओं पर जांच-पड़ताल कर रही है. गिरफ्तार निवारण प्रसाद महतो का भाजपा के कई नेताओं से संपर्क है. निवारण कुशवाहा के नाम से उसने अपने फेसबुक में धनबाद सांसद, बोकारो विधायक, बेरमो के पूर्व विधायक के अलावा कई अन्य नेताओं के साथ फोटो शेयर किया है.

कोलेबिरा विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी के साथ गिरफ्तार आराेपी अमित सिंह की तस्वीर वायरल हो रही है. इस पर विधायक श्री कोंगाड़ी ने अमित से व्यक्तिगत परिचय को सिरे से खारिज किया है. उन्होंने कहा कि एक कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ताओं के साथ फोटो ली गयी थी, जिसमें वो भी शामिल था. हालांकि, अमित सिंह से कभी परिचय नहीं रहा है.

इधर, भाजपा से जुड़े लोगों के अनुसार, निवारण बेरमो उपचुनाव के दौरान योगेश्वर महतो बाटुल के पक्ष में प्रचार किया था. बताया जाता है कि उसी समय उसकी नजदीकी भाजपा के साथ हुई थी. निवारण प्रसाद बोकारो में फल कारोबार से जुड़ा है. वहीं, वर्ष 2019 में जीतन राम मांझी की हम पार्टी से विधानसभा चुनाव भी लड़ चुका है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें