1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand home guard recruitment there is a huge discrepancy in the selection ineligible candidates also appointed srn

झारखंड होमगार्ड चयन में भारी गड़बड़ी, अयोग्य उम्मीदवारों की भी हो गयी तकनीकी श्रेणी में नियुक्ति

होमगार्ड चयन में भारी गड़बड़ी की बात सामने आयी है, इसमें कई वैसे उम्मीदवारों का चयन कर लिया गया जो अयोग्य थे. अभ्यर्थी अभिमन्यु कुमार ने डीसी के पास आपत्ति दर्ज करायी है

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand News: झारखंड होमगार्ड चयन में भारी गड़बड़ी
Jharkhand News: झारखंड होमगार्ड चयन में भारी गड़बड़ी
फाइल फोटो

रांची: होमगार्ड चयन में गड़बड़ी की बात उजागर हुई है. इसमें गैर योग्यतावालों का भी तकनीकी श्रेणी में चयन कर लिया गया है. रांची शहरी क्षेत्र के लिए 409 होमगार्ड का चयन किया गया. इसकी मेधा सूची 14 अप्रैल 2022 को (झारखंड गृह रक्षा वाहिनी रांची का विज्ञापन संख्या-01/2016) रांची जिला प्रशासन ने प्रकाशित की थी. इसमें प्रशासन ने एक सप्ताह में आपत्ति मांगी थी.

मामले में अभ्यर्थी अभिमन्यु कुमार (रोल नंबर-222) ने मेधा सूची में भारी गड़बड़ी की बात कहते हुए डीसी के यहां सोमवार को आपत्ति दर्ज करायी. उसने कहा है कि मेधा सूची में अभ्यर्थी पिंटू कुमार (रोल नंबर-1068) ने वर्तमान पता जोड़ा तालाब, रानी बगान और स्थायी पता एसडीओ के आवासीय परिसर को बताया है.

अभ्यर्थी करण कुमार (रोल नंबर-1928) ने होमगार्ड ट्रेनिंग सेंटर सीटीआइ धुर्वा को अपना वर्तमान व स्थायी पता दिखाया है. इन दोनों के नाम मेधा सूची में हैं. पिंटू कुमार शारीरिक परीक्षा में भी फेल हो गये थे, ऐसे में इनका चयन कैसे हो गया. शारीरिक परीक्षा की वीडियो रिकार्डिंग से इसका खुलासा हो सकता है.

होमगार्ड बहाली में फेल होनवाले का भी चयन

होमगार्ड चयन में भारी गड़बड़ी की बात उजागर हुई है. इनमें कई फेल अभ्यर्थियों का भी चयन होने का आरोप लगाया गया है. इनमें रोल नंबर-40 राजेश कुमार का नाम मेधा सूची की तकनीकी श्रेणी में प्रकाशित किया गया है, लेकिन इनकी तकनीकी जानकारी नहीं दी गयी है. रोल नंबर-1975 मुन्ना मंडल शारीरिक जांच परीक्षा में शामिल नहीं थे, फिर भी वे सफल हो गये.

रोल नंबर-616 राम नारायण महतो शारीरिक जांच परीक्षा (दौड़-ऊंची कूद ) में उत्तीर्ण नहीं हुए, लेकिन सफल बताये गये. शारीरिक जांच परीक्षा के दौरान हुई वीडियो रिकॉर्डिंग से गड़बड़ी का खुलासे होने का दावा किया गया है. इस मामले में झारखंड होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव राजीव कुमार तिवारी ने कहा कि मेधा सूची में बड़े स्तर पर गड़बड़ी दिख रही है. इसलिए रांची डीसी मामले में जांच कराकर कानूनी कार्रवाई करें.

खेलवाले का भी तकनीकी श्रेणी में चयन :

मेधा सूची शहरी में अभ्यर्थी रोल नंबर-353 रोहित कुमार प्रधान, रोल नंबर-997 प्रदीप कुमार महतो, रोल नंबर-266 कार्तिक तिग्गा, रोल नंबर-241 विवेक कुमार, रोल नंबर-1106 सुकरा तिग्गा, रोल नंबर-600 सूरज कुमार, रोल नंबर-819 पवन कुमार सिंह, रोल नंबर-1940 अनोज कुमार सिंह, रोल नंबर-1739 झिरगा कच्छप, रोल नंबर-602 मुन्ना बांडो, रोल नंबर-469 कमलेश यादव, रोल नंबर-438 मुबारक अंसारी की तकनीकी श्रेणी में खेल लिखा हुआ है. खेल होमगार्ड नियमावली-2014 व विज्ञापन में तकनीकी योग्यता में शामिल नहीं है.

एनसीसीवाले का भी तकनीकी श्रेणी में चयन :

अभ्यर्थी रोल नंबर-752 सर्वजीत कुमार, रोल नंबर-772 संतोष कुमार गुप्ता, रोल नंबर-294 मुन्ना कच्छप, रोल नंबर-749 मंतोष कुमार, रोल नंबर-763 राजेश कुमार और रोल नंबर-221 कलाम अंसारी का चयन एनसीसी के आधार पर तकनीकी श्रेणी (शहरी) में किया गया है, जबकि एनसीसी तकनीकी योग्यता में शामिल नहीं है.

तकनीकी ज्ञान का स्पष्ट उल्लेख नहीं :

रोल नंबर-1516 विष्णुदेव महतो, रोल नंबर-1260 लक्ष्मण कुमार महतो, रोल नंबर-1528 संजीव कुमार, रोल नंबर-1289 मनीष कुमार वत्स, रोल नंबर-1787 बैजनाथ कुमार, रोल नंबर-826 विवेक कुमार पांडे और रोल नंबर-703 संजीव कुमार प्रसाद के नाम मेधा सूची में प्रकाशित हुए हैं, उसमें तकनीकी ज्ञान किस श्रेणी में है, इसका उल्लेख नहीं है.

कंपनी कमांडर पर भी भाई का गलत तरीके से चयन कराने का आरोप : शिकायत में रोल नंबर-1975 मुन्ना मंडल ने अपना वर्तमान व स्थायी पता हरमू हाउसिंग कॉलोनी, अरगोड़ा, पोस्ट-हरमू, जिला-रांची दर्ज कराया है, जबकि यह गिरिडीह का स्थायी निवासी है. अरगोड़ा के पते पर ये रहते नहीं है. जिस वक्त रांची जिले में नव नामांकन की प्रक्रिया चल रही थी, इनके भाई कंपनी कमांडर रामजी कुमार झारखंड गृह रक्षा वाहिनी जिला रांची के कार्यालय में पदस्थापित थे. वहीं होमगार्ड जवानों की शारीरिक जांच परीक्षा में भी वे प्रतिनियुक्त थे. रामजी कुमार ने अपने पद का दुरुपयोग कर भाई मुन्ना मंडल का फर्जी आवासीय प्रमाण पत्र बनवाने और बगैर शारीरिक जांच परीक्षा में शामिल हुए उनको सफल घोषित कर दिया.

Posted By: Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें