25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

धर्म व संस्कृति को सुरक्षित रखना जरूरी

जनजाति सुरक्षा मंच की सभा

प्रतिनिधि, अनगड़ा जनजाति सुरक्षा मंच की सभा बीसा में रविवार को हुई. अध्यक्षता जिला सह संयोजक उमेश बड़ाइक ने की. मुख्य अतिथि जनजाति सुरक्षा मंच के राष्ट्रीय संयोजक गणेश राम भगत, विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक रामकुमार पाहन, जिला संयोजक जगरनाथ भगत, भाजपा के जैलेन्द्र कुमार, शिक्षाविद डॉ अमर कुमार चौधरी थे. अतिथियों का स्वागत सुषमा देवी ने किया. गणेश राम भगत ने कहा कि हिन्दू ही जनजाति है. हमें अपने धर्म व संस्कृति को सुरक्षित रखने के लिए जागना होगा. अपने मूल-धर्म संस्कृति को माननेवाला ही आदिवासी है. जनजाति को मिलनेवाला आरक्षण का लाभ ईसाई व मुस्लिम उठा रहे हैं. हम जनजाति समाज को जगाने निकले हैं. लाल-सफेद झंडा का जनजाति समाज से मतलब नहीं है. इसे एक साजिश के तहत ईसाई समाज बढ़ावा दे रहा है. आदिवासियत को बचाने का एकमात्र उपाय डिलिस्टिंग है. बरसात के बाद दिल्ली में होनेवाली डिलिस्टिंग रैली में 10 लाख से अधिक जनजाति समाज के लोग शामिल होंगे. इसके माध्यम से केंद्र सरकार से डिलिस्टिंग लागू करने की मांग की जायेगी. आंदोलन लगातार जारी रहेगा. हम कार्तिक उरांव के अधूरे आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं. उन्होंने आधुनिकता की दौड़ में अपने मूल सांस्कृतिक रिवाज को नहीं छोड़ने का आह्वान किया था. सभा में अमित मिश्रा, देवनाथ महतो, अजय महतो, अजय भोगता, संतोष महतो, जगदीश बड़ाइक, बंधन मुंडा, एतवा बेदिया, कपिल बड़ाइक, जयराम बेदिया, रंथू भोगता, बन्नू बेदिया, हेमनाथ महतो, रामविनय बड़ाइक आदि उपस्थित थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें