1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. industries in jharkhand is on verge of closure transfer industry flourishing under hemant soren ruled government alleges bjp leader babulal marandi mtj

झारखंड में उद्योग धंधे बंदी की कगार पर, हेमंत राज में फल-फूल रहा है तबादला उद्योग, भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी का आरोप

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
झारखंड में उद्योग धंधे बंदी की कगार पर, हेमंत राज में फल-फूल रहा है तबादला उद्योग, भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी का आरोप.
झारखंड में उद्योग धंधे बंदी की कगार पर, हेमंत राज में फल-फूल रहा है तबादला उद्योग, भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी का आरोप.
Prabhat Khabar

रांची : झारखंड में उद्योग-धंधे बंदी की कगार पर हैं, लेकिन तबादला उद्योग फल-फूल रहा है. भारतीय जनता पार्टी के विधायक दल के नेता एवं झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने राज्य की हेमंत सोरेन करकार पर करारा प्रहार करते हुए शनिवार को यह बात कही.

भाजपा नेता ने झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की अगुवाई वाली महागठबंधन (झामुमो-कांग्रेस-राजद) की सरकार पर आरोप लगाया कि गरीबों, मजदूरों, रोज कमाने-खाने वाले, ठेला-खोमचा लगाकर परिवार चलाने वाले दयनीय हालत में हैं. सरकार को इनकी कोई चिंता नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘शिक्षित बेरोजगार नवयुवक रोजगार की तलाश में दर-दर भटक रहा है. कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से अपने घर लौटे लाखों मजदूर फिर से पलायन करने के लिए विवश हैं. अस्पताल में मरीज इलाज के बिना दम तोड़ रहे हैं. राज्य सरकार को इनकी स्थिति सुधारने की बजाय इस बात की चिंता है कि कैसे सत्ता के दलालों को खुश किया जाये.’

बाबूलाल ने कहा कि राज्य सरकार ने दलालों के लिए एक उद्योग खोल रखा है. वह है तबादला उद्योग. उन्होंने कहा कि अधिकारियों की ट्रांसफर-पोस्टिंग की बोली लगायी जा रही है. जैसे हत्या, लूट, बलात्कार, उग्रवाद, भूख से मौत के मामले में राज्य नये कीर्तिमान स्थापित कर रहा है, उसी प्रकार तबादला के क्षेत्र में भी नये-नये कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं.

भाजपा नेता श्री मरांडी ने कहा कि शायद ही कोई सप्ताह होगा, जिसमें इस सरकार ने ट्रांसफर-पोस्टिंग नहीं की होगी. उन्होंने कहा कि हद तो तब होती है, जब ट्रांसफर की अधिसूचना जारी होती है और महज तीन घंटे में पूरी अधिसूचना रद्द हो जाती है. उदाहरण के तौर पर 30 सितंबर को 6 पुलिस उपाधीक्षकों का तबादला किया गया और उसी दिन सारे आदेश रद्द कर दिये गये.

श्री मरांडी ने कहा कि ऐसा करने-कराने के पीछे आखिर कौन-सी ताकत काम कर रही है. उन्होंने कहा कि ट्रांसफर पोस्टिंग के भी नियम-कायदे निर्धारित हैं. परंतु इस निकम्मी सरकार को नियमों से कुछ भी लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार की अकर्मण्यता की वजह से ही राज्य में उद्योग-धंधे चौपट हो रहे हैं.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें