1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. coronavirus in ranchi impact of the second wave of corona roads in jharkhand began to silence themselves these heads of the capital ranchi were locked in the markets srn

कोरोना की दूसरी लहर का असर, झारखंड में सड़कें खुद होने लगीं खामोश, राजधानी रांची के इन प्रमुख बजारों पर लगा ताला

By Sameer Oraon
Updated Date
झारखंड में सड़कें खुद होने लगीं खामोश
झारखंड में सड़कें खुद होने लगीं खामोश
File Photo

Jharkhand Corona Update, Self lockdown In Jharkhand रांची : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए राजधानी अब धीरे-धीरे सजग दिख रही है़ लोग सेल्फ लॉकडाउन (जनता कर्फ्यू) कर रहे हैं. रविवार को अधिकतर सड़कें खामोश दिखीं. कई व्यवसायी संगठनों ने खुद ही अपने प्रतिष्ठानों को बंद करने का फैसला लिया है. मेन रोड (अलबर्ट एक्का चौक) पर इक्का-दुक्का लोग दिखे.

कांटा टोली से बूटी मोड़ सड़क पर भी रोज की तुलना में सन्नाटा पसरा रहा. शास्त्री मार्केट रविवार को बंद रहा़ वहीं वेंडर मार्केट के दुकानदारों ने आज से प्रतिष्ठान बंद करने का फैसला किया है. आम राजधानीवासी खुद को घरों में कैद रहकर सेल्फ लॉकडाउन को प्रोत्साहित कर रहे हैं. करीब 12 माह बाद कोरोना की दूसरी लहर की भयावह रफ्तार ने लोगों को घरों में कैद होने पर विवश कर दिया.

19 से 26 अप्रैल तक बंद रहेगा वेंडर मार्केट

रांची. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अटल स्मृति वेंडर मार्केट के सभी दुकानदारों की बैठक रविवार को मार्केट परिसर में हुई. बैठक में निर्णय लिया गया कि जिस प्रकार से कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है. ऐसे में अगर किसी को कोरोना हो गया तो परेशानी हो सकती है.

इसलिए वर्तमान हालात में अभी खुद को बचाये रखना सबसे अधिक समझदारी है. बैठक में ही सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि राजधानी के इस विकट हालात हो देखते हुए वेंडर मार्केट को 19 अप्रैल से 26 अप्रैल तक बंद रखा जायेगा. इसके बाद राजधानी के हालात की समीक्षा करते हुए मार्केट को दोबारा खोलने का निर्णय लिया जायेगा.

चर्च रोड की दुकानें भी 19 से 24 अप्रैल तक बंद रहेंगी

रांची़ कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए चर्च रोड खुदरा वस्त्र और रेडिमेड विक्रेता संघ की बैठक रविवार को चर्च रोड में हुई. बैठक में निर्णय लिया गया कि जिस प्रकार से कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है. ऐसे में हम अपने-अपने प्रतिष्ठान को 19-24 अप्रैल तक बंद रखेंगे.

संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि हमारी यह छोटी सी कोशिश है. इसके माध्यम से हम यह संदेश देना चाहते हैं कि सबसे पहले हमें खुद को बचाने की जरूरत है. उसके बाद ही हम दूसरों को बचाने की प्रयास करें. इसी कड़ी मेें हमने सेल्फ लॉकडाउन करने का फैसला किया है.

थानों में पसरा सन्नाटा छोटी शिकायत लेकर नहीं पहुंच रहे लोग

रांची़ कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बाद राजधानी के थानों में सन्नाटा पसरने लगा है. छोटी-मोटी शिकायत लेकर लोग थाना नहीं पहुंच रहे हैं. वहीं पुलिसकर्मी भी खुद को संक्रमित होने से बचाने के लिए गवाहों को बुलाकर या घटनास्थल पर जाकर केस का सुपरविजन फिलहाल नहीं कर रहे हैं.

सिर्फ महत्वपूर्ण केस में ही पुलिस गवाहों को बुला रही है या सुपरविजन के लिए निकल रही है. रविवार को कई थानों में सन्नाटा पसरा हुआ था. लालपुर और कोतवाली थाना में दिन के करीब 11:40 बजे एक भी व्यक्ति नहीं था. इसी तरह अरगोड़ा थाना में दिन के करीब 12 बजे सिर्फ दो युवक किसी बात को लेकर थाना के बाहर पहुंचे थे. डोरंडा थाना और चुटिया थाना में भी कमोवेश यहीं हाल था.

मास्क चेकिंग को तरजीह:

पुलिस वर्तमान में मास्क चेकिंग अभियान को विशेष तरजीह दे रही है. वहीं दुकानों में भीड़ न हो, इसे लेकर गश्ती की जा रही है. रात 8:00 बजे के बाद कोई दुकान खुली न रहे, इसे लेकर गंभीरता दिखा रही है. इसके अलावा कोरोना संक्रमित को अस्पताल पहुंचाने, कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद शव को अस्पताल से मुक्तिधाम तक पहुंचाने में पुलिस मदद कर रही है.

कहीं टेंट लगा, तो कहीं खिड़की को बनाया काउंटर

रांची़ जिला के विभिन्न थानों में कोरोना से बचाव के सतर्कता बरती गयी है. थानों में पुलिसकर्मी का लोगों से कम संपर्क हो, इसके लिए प्रवेश द्वार पर बैरिकेडिंग की गयी है. थाना के बाहर एक ओडी अफसर काे बैठाया गया है, जो समस्या लेकर आगंतुकों से बातचीत करते है़ं लालपुर थाना में बाहर टेंट लगाया गया है.

इसी तरह कोतवाली थाना में बाहर के कमरे में खिड़की, गोंदा में खिड़की से पुलिसकर्मी आगंतुकों से बात कर रहे हैं. बरियातू में थाना के बाहर बने सेड में व्यवस्था की गयी है. अधिकतर थानों में ड्रॉप बॉक्स की व्यवस्था है, जहां लोग अपना आवेदन डाल सकते हैं. अपराधी के कोरोना संक्रमित होने की सूचना पर पीपीइ किट पहन उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिसकर्मी जा रहे हैं. आरोपियों की कोरोना जांच के लिए अस्पताल ले जानेे के दौरान भी पुलिसकर्मी पीपीइ किट पहन रहे है़ं

रंगरेज गली की भी कई दुकानें बंद

दीनबंधु लेन अपर बाजार, रंगरेज गली के कई व्यवसायियों ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देख कर अपनी दुकानें 19 अप्रैल से बंद करने का फैसला लिया है. कोरोना संक्रमण की बढ़ती स्थिति को देखते हुए केके बैंगल्स, जय स्टोर्स, आइके बैंगल्स, केके ट्रेडर्स, परिवार साड़ी सहित अन्य व्यवसायियों ने यह पहल की है़

लालजी हिरजी रोड स्थित दुकानें आज दोपहर एक बजे के बाद अनिश्चितकालीन के लिए बंद

राजधानी रांची में कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए लालजी हिरजी रोड में स्थित सभी दुकानें और व्यवसायिक प्रतिष्ठान सोमवार दोपहर एक बजे के बाद से स्थिति सामान्य होने तक बंद रहेंगे. सेल्फ लॉकडाउन की सहमति लालजी हिरजी रोड नागरिक समिति के सदस्यों के आपसी विचार विमर्श के बाद लिया गया. यह कहा गया कि समिति द्वारा नियमित रूप से स्थिति की समीक्षा की जाएगी और उसी अनुरूप आगे निर्णय लिए जायेंगे.

फेडरेशन चैंबर के पूर्व अध्यक्ष दीपक कुमार मारू ने जानकारी देते हुए कहा कि राज्य में कोविड के बढ़ते मामलों के साथ ही अस्पतालों में बेड, दवाई, ऑक्सीजन की भारी कमी इस बात का संकेत देती है कि हम स्वतः लॉकडाउन की ओर अग्रसर हों. हम समझते हैं कि जब बात जान है, तो जहान है तक पहुंच जाये तब सावधानी के तौर पर यही एकमात्र विकल्प है.

जेजे रोड में भी सेल्फ लॉकडाउन

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच शहर के व्यवसायियों की ओर से तेजी से सेल्फ लॉकडाउन का फैसला लिया है. कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए लालजी हिरजी रोड नागरिक समिति के स्वतः बंद को देखते हुए जेजे रोड के व्यवसायियों ने भी सेल्फ लॉकडाउन का फैसला लिया है. यहां की भी सभी दुकानें और व्यवसायिक प्रतिष्ठान स्थिति सामान्य होने तक बंद रहेंगे.

वूल हाउस भी बंद

शहर में कोरोना की स्थिति को देखते हुए वूल हाउस ने सेल्फ लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है. दुकान के प्रबंधक ने कहा कि इस हालात में हमें अपने ग्राहकों व कर्मचारियों को सुरक्षित रखने का प्रयास कर रहे हैं. इसलिए सेल्फ लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है़

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें