प्रदीप यादव के कांग्रेस में शामिल होने की खबर से इरफान अंसारी नाराज, कहा- रघुवर दास को मंत्री बना दिया जाये

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची : प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष व जामताड़ा के विधायक इरफान अंसारी ने झाविमो विधायक प्रदीप यादव के कांग्रेस में शामिल किये जाने पर कड़ा प्रतिरोध जताया है. उन्होंने कहा कि प्रदीप यादव अल्पसंख्यक विरोधी हैं. बंधु तिर्की सेक्यूलर हैं. उनका पार्टी में स्वागत है. लेकिन प्रदीप यादव को किसी हालत में कांग्रेस में शामिल नहीं किया जाना चाहिए. श्री अंसारी ने कहा कि उनके साथ सात विधायक हैं. यदि पार्टी उन्हें शामिल करती है, तो न केवल मैं कार्यकारी अध्यक्ष पद छोड़ दूंगा, बल्कि आगे के लिए भी विचार करूंगा.
श्री अंसारी ने कहा कि प्रदीप यादव की सच्चाई बताने के लिए वह जल्द ही कांग्रेस आलाकमान से मिलेंगे. उन्हें बतायेंगे कि कैसे प्रदीप यादव ने अल्पसंख्यकों पर अत्याचार किया है. गोड्डा में रहते हुए अल्पसंख्यकों पर फर्जी केस कराकर जेल भिजवाने का काम किया है. फुरकान अंसारी पर भी फर्जी केस कराया था. प्रदीप यादव नफरत की राजनीति करते हैं. लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने कांग्रेस आलाकमान को चेताया था.
पर गोड्डा में प्रदीप यादव की वजह से ही पार्टी की किरकिरी हुई. यहां तक कि विधानसभा चुनाव में भी मुझे हराने के लिए झाविमो से एक अल्पसंख्यक को खड़ा करवाया था. श्री अंसारी ने कहा कि आलाकमान से मिलने का समय मांगा है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का भी उन्हें साथ मिला है. उन्होंने साफ-साफ कहा कि यदि उन्हें पार्टी में शामिल किया जाता है, तो आगे के कदम के लिए वे स्वतंत्र होंगे.
प्रदीप यादव को लाने से अच्छा है रघुवर दास को मंत्री बना दिया जाये
श्री अंसारी ने कहा कि प्रदीप यादव जैसे व्यक्ति को लाने से अच्छा है कांग्रेस रघुवर दास को पार्टी में शामिल करा दे और उन्हें मंत्री बना दे, तो मुझे कोई एतराज नहीं है. उनका स्वागत होगा. पर किसी कीमत में प्रदीप यादव को पार्टी में शामिल नहीं कराया जाना चाहिए. श्री अंसारी ने कहा कि मेरी आस्था सोनिया गांधी और राहुल गांधी के प्रति है. मुझे विश्वास है कि वे मेरी बातों को समझेंगे.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें