1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. 2 former cm of jharkhand gathered in jamshedpur babulal marandi and raghubar das targeted hemant sarkar smj

जमशेदपुर में झारखंड के 2 पूर्व CM का हुआ जुटान, बाबूलाल मरांडी और रघुवर दास ने हेमंत सरकार पर साधा निशाना

झारखंड के दो मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और रघुवर दास का जमशेदपुर में जुटान हुआ. मौका था भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की ओर से आयोजित जनजातीय सम्मेलन. दोनों पूर्व सीएम समेत अन्य भाजपा नेताओं ने हेमंत सरकार पर जमकर निशाना साधा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की जनजातीय सम्मेलन में शामिल होते बाबूलाल मरांडी, रघुवर दास व अन्य.
भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की जनजातीय सम्मेलन में शामिल होते बाबूलाल मरांडी, रघुवर दास व अन्य.
ट्विटर.

Jharkhand News (जमशेदपुर) : सोमवार को झारखंड के दो पूर्व मुख्यमंत्री जमशेदपुर पहुंचे. झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित होने के बाद भाजपा विधायक दल के नेता सह पूर्व CM बाबूलाल मरांडी और रघुवर दास जमशेदपुर पहुंचे. इस दौरान दोनों नेताओं ने हेमंत सरकार पर जमकर निशाना साधा.

JMM की सरकार बनने पर बढ़ता है भ्रष्टाचार : बाबूलाल मरांडी

बिष्टुपुर के मिलानी हॉल में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की ओर से आयोजित जनजातीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि राज्य की हेमंत सरकार लूट और भ्रष्टाचार में लिप्त है. बालू, कोयला समेत अन्य खनिज संपदा और जमीन की लूट मची है. JMM की सरकार जब भी सत्ता में आती है, तो भ्रष्टाचार का बोलबाला बढ़ जाता है.

श्री मरांडी ने कहा कि JMM आदिवासी और जनजाति को शुरू से ठगने का काम किया है. उन्होंने झामुमो, कांग्रेस और राजद की गठजोड़ वाली इस सरकार के कार्य प्रणाली को लूटने वाला बताया. कहा कि जब-जब JMM की सरकार आयी है तब-तब राज्य में भ्रष्टाचार का बोलबाला बढ़ा है. सरकार के विधायक से लेकर मंत्री और इनके अधिकारी इसमें लिप्त हैं.

सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि दोनों दल (कांग्रेस और जेएमएम) खरीददार और विक्रेता हैं. दोनों मिलकर झारखंड को लूट रहे हैं. यहां की संपदा की लूट हो रही है. झारखंड में सरकार नाम की चीज नहीं है. जनता त्राहिमाम कर रही है और सरकार दुर्भावना से ग्रस्त होकर काम कर रही है.

श्री मरांडी ने कहा कि झारखंड अलग राज्य की लड़ाई आजादी के बाद से ही लड़ी जा रही है, लेकिन इतने वर्षों तक कांग्रेस को झारखंड अलग राज्य देने की सुध नहीं आयी, बल्कि कांग्रेस ने झारखंड न बने इसके लिए सांसद खरीद बिक्री जैसे कारनामे करने में रही.

उन्होंने कहा कि JMM के 19 माह के कार्यकाल में 2800 से ज्यादा मामले महिला अत्याचार व बलात्कार के हुए हैं. इसमें भी सबसे अधिक आदिवासी जनजाति समुदाय की महिला ही पीड़ित हुई है. अपने आपको आदिवासियों की हितैषी बताती है, जबकि इसके विपरीत कदम सरकार उठा रही है. उन्होंने सभा में उपस्थित जनजाति मोर्चा के एक- एक कार्यकर्ता से आह्वान किया कि वे आदिवासी और जनजातियों के लिए भाजपा द्वारा किये गये कार्यों को जन-जन तक लेकर जाये. साथ ही यह भी बताये कि हेमंत सोरेन सरकार की उनके खिलाफ किस तरह की साजिश कर रही है.

हेमंत सरकार में सबसे अधिक आदिवासी ही शोषित : रघुवर दास

वहीं, पूर्व सीएम रघुवर दास ने भी हेमंत सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि वर्ष्ज्ञ 2019 का चुनाव आदिवासी मुख्यमंत्री के नाम पर लड़ने वाली हेमंत सरकार में सबसे अधिक आदिवासी व जनजाति के लोग ही शोषित हैं. 19 माह के इस कार्यकाल में सबसे अधिक आपराधिक वारदात हुई है. इस सरकार के आते ही चाईबासा में 7 आदिवासियों का नरसंहार हुआ.

श्री दास ने राज्य में हो रहे धर्मांतरण को लेकर भी खुल कर हेमंत सरकार पर हमला किये. उन्होंने कहा कि गरीब आदिवासी को भय दिखा कर धर्मांतरण किया जा रहा है. उन्होंने बंगला देश घुसपैठियों के मामले पर भी सरकार पर हमला बोला. कहा कि साजिश के तरह रोहंगिया मुस्लिम को आश्रय दिया जा रहा है. उन्होंने आदिवासी जनजातियों को जागने और सभी को जागरूक करने पर जोर दिया. JMM आदिवासियों के नाम पर सिर्फ ठग रही है. जल, जंगल, जमीन के नाम पर लूट मची है. कोयला, बालू माफिया और जमीन हड़पने वाले सक्रिय हैं. सरकारी दफ्तरों में बिचौलियों का राज है.

उन्होंने नयी नियोजन नीति के संबंध में कहा कि हिंदी भाषा भाषी को हटा देने से झारखंड के बाहर रहकर पढ़ाई करने वाले आदिवासियों को यहां नौकरी भी नहीं मिल पायेगी. इससे केवल गैर आदिवासी नहीं, बल्कि आदिवासी समुदाय के बच्चों को भी भारी नुकसान होगा. उन्होंने सवाल उठाया कि बाहरी को रोकने की जगह JMM के केंद्रीय महासचिव की पत्नी को JPSC में नौकरी दी गयी. यह आदिवासियों के साथ धोखा नहीं तो क्या है.

हेमंत सरकार में वंचित हैं आदिवासी : सांसद

सम्मेलन में जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो भी उपस्थित हुए. उन्होंने कहा कि आदिवासियों की हितैषी कहने वाली सरकार उन्हें उनके अधिकारों से वंचित कर रही है. खनिज संपदा से परिपूर्ण इस राज्य के लोग इसी संपदा का लाभ नहीं उठा रहे हैं. आदिवासी और जनजाति के कई वीर हुए जिन्होंने अंग्रेजों को पराजित कर दिया, लेकिन आज उनके वंशज दर-दर की ठोकर खा रहे हैं.

श्री महतो ने कहा कि केंद्र सरकार ने आदिवासियों के हितों में कई काम किये हैं, लेकिन यहां की सरकार आदिवासियों के खिलाफ काम कर रही है. ऐसी सरकार को हटाने के लिए जनजाति समुदाय गोलबंद हों. उन्होंने सरकारी विभागों में व्याप्त भ्रष्टाचार पर भी हमला बोला. कहा कि जंगल की कटाई धड़ल्ले से चल रही है लेकिन सरकार चुप्पी साधी हुई है. वन विभाग में केवल विभाग रह गया है वन विलुप्त होता जा रहा है.

भाजपा किसी समुदाय विशेष की पार्टी नहीं : मेनका सरदार

सम्मेलन में शामिल पोटका की पूर्व विधायक मेनका सरदार ने कहा कि भाजपा किसी समुदाय विशेष की पार्टी नहीं है. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी हो या वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन्होंने जो आदिवासी उत्थान के लिए कार्य किये हैं और कर रहे हैं वह राज्य में हेमंत सरकार भी नहीं कर रही है. आदिवासियों के नाम पर हेमंत सरकार केवल ठगने का कार्य कर रही है. अर्जुन मुंडा को केंद्र में जनजातीय मामले मंत्री बनाया. अर्जुन मुंडा शिक्षा के माध्यम से आदिवासियों के विकास व उत्थान का कार्य कर रहे हैं.

सम्मेलन को इन्होंने भी किया संबोधित

सम्मेलन को भाजपा के अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष शिवशंकर उरांव, पूर्व विधायक रामकुमार पाहन, पूर्व विधायक मेनका सरदार आदि ने भी संबोधित किया. मौके पर जमशेदपुर भाजपा के प्रभारी सुबोध सिंह गुड्डू, जमशेदपुर भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के बिनानंद सिरका, जमशेदपुर भाजपा के अध्यक्ष गुंजन यादव, रमेश हांसदा, अनिल मोदी, काजू सांडिल अन्य मौजूद थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें