1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. 1030 aazmin e haj will go to mecca medina from jharkhand know district wise situation smj

झारखंड से 1030 आजमीन-ए-हज जायेंगे मक्का मदीना, जानें जिलावार स्थिति

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : झारखंड से मक्का मदीना जाने के लिए 1030 लोगों ने किया आवेदन.
Jharkhand News : झारखंड से मक्का मदीना जाने के लिए 1030 लोगों ने किया आवेदन.
फाइल फोटो.

Jharkhand News, Jamshedpur News, जमशेदपुर (संजीव भारद्वाज) : कोराना वायरस संक्रमण के बीच 2021 में हज पर जाने वालों की संख्या में 30 प्रतिशत की कमी दर्ज की गयी है. हज का खर्च बढ़ने एवं आमदनी कम होने के साथ ही सुरक्षा मानकों का ख्याल रखते हुए मुस्लिम समुदाय के लाेग हज यात्रा काे अगले वर्ष के लिए टाल रहे हैं. वर्ष 2019 के मुकाबले इस वर्ष झारखंड में 70 प्रतिशत कम आवेदन दिये गये हैं. कुल 1030 लोगों ने आवेदन दिये हैं.

झारखंड हज कमेटी ने आजमीन-ए-हज के 493 कवर-ग्रुप बनाये हैं, जिसमें 1030 यात्री हैं. इनमें 589 पुरुष और 441 महिलाएं हैं. अंतिम रिपाेर्ट सेंट्रल हज कमेटी ऑफ मुंबई (Central Haj Committee of Mumbai) काे भेज दी गयी है. साल 2019 में झारखंड से 3000 लाेग हज पर गये थे, जबकि 2020 में काेराेना के कारण हज यात्रा काे स्थगित कर दिया गया था. इस बार रांची से सबसे अधिक 109 ग्रुप में 224 (पुरुष 126 व महिला 98) लाेग जायेंगे. दूसरे नंबर पर पूर्वी सिंहभूम से 79 कवर में 161 लाेग हैं, जिनमें 84 पुरुष व 77 महिलाएं हैं. सबसे कम खूंटी जिले से मात्र 3 लाेग जायेंगे. इनमें खूंटी एक कवर में एक पुरुष के साथ 2 महिलाएं यात्रा पर जायेंगे. यात्रियाें की उड़ान काेलकाता हवाई अड्डे से हाेगी.

महंगाई का हज यात्रा पर पड़ा असर

इस साल हज यात्रा महंगी भी हो गयी है. इस बार हज पर जाने वाले के लिए 3.75 लाख रुपये खर्च करने होंगे. साल 2019 में 2.55 लाख रुपये खर्च करने पड़े थे. वहीं, वर्ष 2021 में 1.20 लाख रुपये यात्रा पर खर्च बढ़ गया है.

यात्रा की अवधि भी घटी

इस बार 10 दिन की यात्रा अवधि भी घटा दी गयी है. पहले यात्रा 38-42 दिनाें की होती थी. इस बार 30-35 दिनाें की यात्रा होगी. इस साल 18 साल से कम और 65 साल से अधिक उम्र के लाेगाें काे हज यात्रा पर ले जाने की अनुमति नहीं है.

आजमीन-ए-हज की संख्या में आयी कमी

खादिम हज कमेटी, साकची के हाजी शकील अहमद ने कहा कि आजमीन-ए-हज की संख्या में कमी आयी है. काेराेना अभी खत्म नहीं हुआ है. इस दौरान बेराेजागारी बढ़ने लगी है. जिसके पास जाे पैसा है, वह उसे संभाल कर बुरे वक्त के लिए रखना चाह रहा है. काेराेना काे लेकर तरह-तरह की पाबंदियां है. पैसा जमा कराने के बाद यात्रा काे लेकर भी तरह-तरह के नियम-संशय बने हुए हैं. पैसा ब्लॉक नहीं हाे जाये, इसलिए भी लाेग यात्रा पर जाने काे इस साल तैयार नहीं हैं.

जिलावार आजमीन-ए-हज की स्थिति

जिला : कवर (ग्रुप) : वयस्क : पुरुष : महिला
रांची : 109 : 224 : 126 : 98
पूर्वी सिंहभूम : 79 : 161 : 84 : 77
धनबाद : 50 : 105 : 63 : 42
गिरिडीह : 35 : 78 : 42 : 36
बाेकाराे : 32 : 66 : 36 : 30
गाेड्डा : 27 : 58 : 32 : 26
हजारीबाग : 22 : 47 : 27 : 20
साहिबगंज : 19 : 38 : 23 : 15
रामगढ़ : 17 : 36 : 21 : 15
पाकुड़ : 14 : 25 : 16 : 09
गढ़वा : 11 : 24 : 15 : 09
पलामू : 11 : 23 : 14 : 09
लातेहार : 09 : 20 : 13 : 07
सरायकेला : 09 : 19 : 11 : 08
पश्चिमी सिंहभूम : 07 : 18 : 11 : 07
चतरा : 09 : 15 : 10: 05
देवघर : 06 : 15 : 10 : 05
लाेहरदगा : 07 : 15 : 10 : 05
सिमडेगा : 07 : 12 : 07 : 05
जामताड़ा : 04 : 09 : 07 : 02
दुमका : 03 : 07 : 05 : 02
काेडरमा : 03 : 07 : 05 : 02
गुमला : 03 : 05 : 03 : 02
खूंटी : 01 : 03 : 01 : 02

कुल : 493 : 1030 : 589 : 441

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें