26 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Jharkhand News: हजारीबाग में 3 सप्ताह से जंगली हाथियों का आतंक, पूर्व मुखिया के पति को कुचला

Jharkhand News: झारखंड के हजारीबाग से सुबह-सुबह एक बुरी खबर आई. दारू प्रखंड में हाथियों के झुंड ने आतंक मचा रखा है. एक हाथी ने मुखिया के पति को मार डाला.

Jharkhand News: झारखंड की राजधानी रांची से करीब 90 किलोमीटर दूर स्थित हजारीबाग जिले में जंगली हाथियों ने आतंक मचा रखा है. जिले के दारू प्रखंड में एक पूर्व मुखिया के पति को हाथी ने कुचलकर मार डाला. हाथियों के हमले में एक अन्य व्यक्ति इस्माइल मियां भी गंभीर रूप से घायल हो गया. उसका इलाज चल रहा है.

Jharkhand News: दारू प्रखंड के बलिया गांव की घटना

घटना रविवार (26 मई) की रात की है. घटना की सूचना मिलते ही दारू थाना प्रभारी शफीक खान अपनी टीम के साथ गांव पहुंचे. मृतक का शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए हजारीबाग शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज भेज दिया. बताया जा रहा है कि जिले के दारू प्रखंड के बलिया गांव में जंगली हाथियों के झुंड ने आतंक मचा दिया. एक हाथी ने कविलासी पंचायत की पूर्व मुखिया राखी देवी के पति अशोक रविदास को कुचलकर मार डाला.

शाम 7 बजे से ही हाथियों ने गांव में डाल दिया था डेरा

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, रविवार की रात 7:00 बजे ही हाथियों का झुंड बलिया गांव के मंडप के पास पहुंचकर किसान की सब्जी खाने लगे. इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी. काफी देर तक वन विभाग की टीम नहीं पहुंची, तो ग्रामीणों ने ही एकजुट होकर हाथी भगाने का प्रयास किया. हाथी भगाने के दौरान हाथियों के झुंड से एक बड़ा हाथी ग्रामीणों की तरफ दौड़ा.

आक्रामक हुए हाथी, तो अपने-अपने घरों में दुबके लोग

हाथी के झुंड के आक्रामक होते ही ग्रामीणों में भगदड़ मच गई. सभी ग्रामीण अपने घर की ओर भागने लगे. भागने के दौरान अशोक राम और और इस्माइल मियां गिर गए. अशोक राम (45) के गिरते ही हाथी ने उसे पटक-पटककर मार डाला.

हाथी से बचने के लिए भागते समय 3 बार गिरे इस्माइल मियां

इस्माइल मियां ने बताया कि भागने के दौरान 3 बार हम गिर पड़े. मेरा बायां हाथ फ्रैक्चर हो गया. इसके बाद सभी ग्रामीण अपने-अपने घरों में दुबक गए. घटना के बाद हाथियों का झुंड ने पूरे गांव को घेर लिया. रात के करीब 11:00 बजे वन विभाग की टीम सायरन बजाते हुए गांव पहुंची.

हाथियों के झुंड ने शव को कई घंटे तक घेरे रखा

हाथियों का झुंड मृतक अशोक राम के शव को देर तक घेरे रहा. बड़ी मशक्कत के बाद वन विभाग ने हाथियों के झुंड को बलिया जंगल की भगाया. झुंड में करीब दो दर्जन से अधिक हाथी हैं. 2 बच्चे भी हैं. ग्रामीणों ने कहा कि वन विभाग की टीम समय पर पहुंच जाती, तो यह घटना नहीं होती. एक व्यक्ति की मौत की सूचना जब वन विभाग को दी गई, तब उसकी टीम गांव में पहुंची.

20 दिन से दारू प्रखंड में हाथियों ने मचा रखा है आतंक

बता दें कि करीब 20 दिनों से हजारीबाग के दारू प्रखंड में जंगली हाथियों के झुंड ने डेरा डाल रखा है. हाथियों ने पूरे इलाके में आतंक मचा रखा है. कई लोगों के घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया है. लोगों की फसल भी हाथी खा जा रहे हैं. इसकी वजह से लोग परेशान भी हैं और दहशत में भी हैं.

आधा दर्जन से अधिक गांवों में तबाही मचा चुके हैं जंगली हाथी

इन जंगली हाथियों ने आधा दर्जन से अधिक गांवों में तबाही मचाई है. खासकर दिगवार, सोनडीहा, बड़वार, दारू खरिका और गडया गांव में. पिछले सप्ताह सुदामा मल्हार के घर में रखा अनाज हाथी खा गए थे. उसे पीडीएस से अनाज मिला था. हाथियों को वन विभाग अब तक खदेड़ नहीं पाया है. इससे ग्रामीणों में आतंक का माहौल है. हालांकि, ग्रामीण अपने स्तर से हाथियों को भगाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उनको सफलता नहीं मिल पा रही है.

वन विभाग की निष्क्रियता से ग्रामीणों में आक्रोश

ग्रामीणों का कहना है कि हाथियों का यह झुंड दिन में जंगलों में चला जाता है. रात होती है हाथियों का झुंग गांवों में आ जाते हैं. हर दिन किसी न किसी गांव में जाकर उत्पात मचाते हैं. खेतों में लगी मकई व अन्य फसलों को नष्ट कर देते हैं. वन विभाग की निष्क्रियता की वजह से ग्रामीणों को नुकसान झेलना पड़ रहा है. अब तो हाथियों ने एक व्यक्ति की हत्या कर दी है.

इसे भी पढ़ें : हजारीबाग में एनएच-33 पर 35 जंगली हाथियों का झुंड, काफी देर तक वाहनों का आवागमन ठप

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें