1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. friends killed naxalite narendra singh over domination and money 3 accused arrested sam

वर्चस्व एवं पैसे को लेकर दोस्तों ने की नक्सली नरेंद्र सिंह की हत्या, 3 आरोपी गिरफ्तार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
प्रतीकात्मक तस्वीर.
प्रतीकात्मक तस्वीर.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news, Hazaribagh news : केरेडारी (अरुण कुमार यादव) : हजारीबाग जिला अंतर्गत केरेडारी थाना क्षेत्र के झुमरी टांड़ तीन मुहान जंगल में टीपीसी सदस्य नरेंद्र सिंह उर्फ दारा हत्याकांड मामले का खुलासा हो गया है. केरेडारी एवं बालूमाथ थाना पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया है. बालूमाथ के रेलवे कोयला साइडिंग में वर्चस्व जमाने के लिए भोला पांडेय के गुर्गो ने इस घटना को अंजाम दिया है. रेलवे साइडिंग में वर्चस्व के लिए रोड़ा बन रहा था नरेंद्र. इस मामले को लेकर पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. साथ ही हथियार भी बरामद की है. गिरफ्तार तीनों आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है. वहीं, इस मामले का मास्टरमाइंड अमरेश राणा अब भी फरार है.

हत्या मामले का खुलासा करते हुए केरेडारी थाना प्रभारी बमबम कुमार ने बताया मृतक नरेंद्र सिंह टीपीसी में काम करता था. लेकिन, जेल से छूटने पर घर में ही रह रहा था. भोला पांडेय के गुर्गे संजय, आनंद और विनोद जो विकास साव के नेतृत्व में काम कर रहा था. बालूमाथ के बुकरू रेलवे साइडिंग और फुलवसिया साइडिंग में कोयला रेक में अपना वर्चस्व बनाना चाहता था, लेकिन नरेंद्र सिंह बीच में रोड़ा बन रहा था.

नरेंद्र को रास्ते से हटाने के लिए योजना बनायी गयी. सभी आरोपी एक महीना पहले बालूमाथ में एक कार से पहुंचे. होटल में रूक कर नरेंद्र सिंह के हत्या कर दोनों साइडिंग में वर्चस्व जमाने की योजना बनाएं. 13 सितंबर, 2020 को घटनास्थल का रेकी किया. फिर दूसरे दिन यानी 14 सिंतबर, 2020 के शाम घटना का मास्टर माइंड अमरेश राणा नरेंद्र सिंह के घर पहुंचा. रात में अमरेश नरेंद्र के घर में रुका. 15 सितंबर, 2020 की सुबह दोनों मोटरसाइकिल से निकले.

इसी दौरान जोरदाग के तीन मुहाना के समीप पहुंचे. इसी बीच 3 अन्य आरोपी वहां पहले से मौजूद थे. अमरेश को गाड़ी से उतरते ही अन्य आरोपियों ने नरेंद्र को गोली मार कर हत्या कर दिया. घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी बालूमाथ भाग निकले. इधर, हजारीबाग एवं बालूमाथ थाना की पुलिस ने तीन दिनों में मामले को खुलासा कर दिया.

पुलिस ने भोला पांडेय के गुर्गे संजय साव पिता जुगेश्वर साव ग्राम नापो खुर्द बड़कागांव, आनंद राणा पिता गणेश राणा एवं नोद कुमार पिता हेमराज महतो दोनों पतराखुर्द केरेडारी को गिरफ्तार कर बालूमाथ से जेल भेज दिया. जबकि घटना का मास्टरमाइंड अमरेश राणा सेरेगड़ा निवासी फरार है. घटना में प्रयुक्त एक 9 एमएम पिस्टल पुलिस ने बरामद की है.

बता दें कि 15 सितंबर, 2020 को नरेंद्र सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में मृतक के भाई सत्येंद्र प्रसाद सिंह पिता स्वर्गीय राजेंद्र प्रसाद सिंह ( ग्राम सरजामातू, थाना पिपराटांड, जिला पलामू) के लिखित आवेदन पर मामला केरेडारी थाना में दर्ज कराया गया था. इस मामले में अमरेश राणा समेत अन्य को नामजद आरोपी बनाया गया है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें