भोले के दर्शन को उमड़ेंगे भक्त

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

महाशिवरात्रि पर आज होगा जगह-जगह आयोजन

आज हजारों श्रद्धालु करेंगे जलाभिषेक
दर्जनों चट्टानों में देखने को मिलती है शेषनाग की आकृति
बड़कागांव : महाशिवरात्रि पर्व को लेकर प्रखंड स्थित बुढ़वा महादेव शिवालय सजधज कर तैयार है. यहां शुक्रवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे और बाबा भोलेनाथ की पूजा करेंगे. बताया जाता है कि बुढ़वा महादेव शिवालय 600 साल पुराना है. शिवालय 500 मीटर ऊंची पहाड़ी पर है. यह स्थल राज्य के महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों में से एक है. खतरे गांव निवासी डॉ रघुनंदन प्रसाद ने बताया कि यहां शिवरात्रि महापर्व की शुरुआत कर्णपुरा के राजा ने 1400 ई में शुरू की.
कर्णपुरा के राजा दलेल सिंह के पूर्वज भगवान शिव के भक्त थे. बुढ़वा महादेव व महुदी पर्वत के अधिकांश पत्थर को शेषनाग की आकृति का बनाया गया है. विभिन्न जगहों में शिवलिंग स्थापित किया गया है. इसका प्रमाण आज भी मंदिरों व गुफाओं में देखने को मिलता है. यहां झारखंड के विभिन्न जिलों से भक्त पहुंचते हैं और जलार्पण करते हैं.
भक्ति जागरण आज: बुढ़वा महादेव परिसर में भक्ति जागरण का आयोजन शुक्रवार को किया गया है. बुढ़वा महादेव शांति समिति के द्वारा भव्य भंडारा का आयोजन होगा. इसमें श्रद्धालुओं के बीच प्रसाद का वितरण किया जायेगा.
बड़कागांव से निकलेगी शिव बरात: 21 फरवरी को प्रातः 8:00 बजे से प्रखंड मुख्यालय स्थित राम जानकी मंदिर से शिव बरात निकलेगी. इसमें बाजे-गाजे के साथ सैकड़ों श्रद्धालु शामिल होंगे.
बरही. बरही में शिवरात्रि पर्व की तैयारी हो चुकी है. 20 फरवरी बरही के शिवालयों और मंदिरों में धूमधाम शिवरात्रि पर्व मनाया जायेगा. पर्व को लेकर सभी शिवालयों को सजाया गया है. मंदिरों को रौशनी से जगमग किया गया है. बरही प्रखंड परिसर स्थित शिव मंदिर में सुबह 6:00 बजे रुद्राभिषेक होगा. भगवान शिव की प्रतिमा का अभिषेक 21 किलो दूध से किया जायेगा. गया रोड, तेढ़की नदी, बरहीडीह, करियातपुर, गोरियाकर्मा आदि शिवालयों में तैयारी पूरी हो चुकी है. दोपहर बाद कई जगह से शिवजी की बरात निकाली जायेगी.
विष्णुगढ़. विष्णुगढ़ प्रखंड में महाशिवरात्रि की तैयारी पूरी कर ली गयी है. महाशिवरात्रि को लेकर विभिन्न शिवालयों की साफ-सफाई की गयी है. जमुनिया नदी पर स्थित शिव पार्वती मंदिर में शिवरात्रि के मौके पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ लगती है. सुबह से शाम तक मंदिर में आना-जाना श्रद्धालुओं का लगा रहता है. मौके पर शिव विवाह का आयोजन का निर्णय लिया गया.
अखंड कीर्तन के साथ महाशिवरात्रि शुरू : कटकमसांडी. कटकमसांडी के बरगड़ा गांव के राधाकृष्ण शिव मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व को लेकर भगवान की पूजा की गयी. अखंड कीर्तन के साथ भगवान भोलेनाथ का अभिषेक किया गया. पूजा-अर्चना व अखंड कीर्तन के बाद 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाया जायेगा.
कार्यक्रम में महाशिवरात्रि समिति के अध्यक्ष भरत यादव, घनश्याम यादव, भोला यादव, योगेंद्र यादव, प्रवील यादव, मुंशी यादव, प्रकाश यादव, कृष्ण कुमार यादव, तपेश्वर यादव, रामसहाय यादव, प्रभु नारायण पांडेय, नारायण यादव, अशोक पांडेय, धनंजय पांडेय, पुरुषोत्तम पांडेय, प्रदीप पांडेय, पिंटू शर्मा, मंटू शर्मा, सुधीर यादव समेत दर्जनों गांव के लोग शामिल थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें