झारखंड में सूर्यकुंड मेले का हुआ उद्घाटन, उमड़ने लगी भीड़, 30 जनवरी तक रहेगी रौनक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बरकट्ठा : छोटानागपुर का विख्यात धार्मिक पर्यटक स्थल सूर्यकुंड में 17 दिवसीय मेला का मंगलवार को शुभारंभ हुआ. उद्घाटन मुख्य अतिथि बरकट्ठा विधायक अमित कुमार यादव एवं बगोदर विधायक विनोद कुमार सिंह ने फीता काटकर संयुक्त रूप से किया. मौके पर जिप सदस्य कुमकुम देवी, मीना देवी, जिला प्रमुख संघ अध्यक्ष रामलखन मेहता, बरही एसडीओ राजेश्वर नाथ आलोक, डीएसपी मनीष कुमार, पुलिस निरीक्षक अंजनी कुमार, कलीम खान, बिंदु सोनी आदि मौजूद थे.

विधायक ने कहा कि मकर संक्रांति काफी शुभ दिन है जब धार्मिक पर्यटक स्थल सूर्यकुंड में मेला का उद्घाटन करने का अवसर मिला. सूर्यकुंड मेला का स्वरूप आज काफी बदला है. आगे चलकर यह और विकसित होगा. यह मुझे पूर्ण विश्वास है. विश्व के मानचित्र पर सूर्यकुंड का स्थान है. इसकी शोभा कैसे बरकरार रहे यह हमलोगों को देखना है.

विधायक विनोद कुमार सिंह ने कहा कि सूर्यकुंड पर्यटक स्थल के साथ-साथ श्रद्धा और धार्मिक स्थल के रूप में जाना जाता है. सूर्यकुंड का विकास हो रहा है और आगे भी इसको विकसित करने की जरूरत है. सभा की अध्यक्षता मुखिया गुड्डी देवी ने की संचालन चंद्रकांत पांडेय ने किया.

मौके पर बीडीओ कृति बाला लकडा, सीआई फिरोज अख्तर, धीरेंद्र पांडेय, मेला ठिकेदार अमित कुमार पांडेय, उपमुखिया सुरेश पांडेय, देवेंद्र पांडेय, जागेश्वर नायक, आनंद पांडेय, बिरेंद्र पांडेय, मीना साव, सुनीता देवी, बबीता देवी, अर्जुन राणा समेत काफी संख्या में लोग उपस्थित थे.

सूर्यकुंड मेला में पर्यटकों का आना हुआ शुरू

सूर्यकुंड मेले का मंगलवार को उद्धाटन होने के साथ ही पर्यटकों का आना जाना शुरू हो गया है. मकर संक्रांति के मौके पर 14 से 30 जनवरी तक सूर्यकुंड मेले का भव्य आयोजन किया जाता है. मेले में हजारीबाग, कोडरमा, गिरिडीह, धनबाद, बोकारो, रामगढ़ जिले के अलावे दूसरे प्रदेशों से भी प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग सपरिवार सूर्यकुंड पहुंचते हैं.

इस वर्ष सूर्यकुंड मेले में न्यू इंडिया थियेटर एवं पायल एक नजर थियेटर, मारुती मौत का कुंआ, सर्कस, ब्रेक डांस झूला, टोरा-टोरा, ड्रेगन झूला, रसियन टावर झूला, बुगी-बुगी चित्रहार, विज्ञान कला, मीना बाजार आकर्षण का केंद्र होगा. वहीं घरेलू उपयोग में आने वाले लोहे, पत्‍थर, लकड़ी से बने सभी प्रकार के सामानों की दुकानें तथा मंदिर परिसर में विभिन्न प्रकार के देवी-देवताओं की प्रतिमा, पूजा में उपयोग आने वाले प्रसाद व अन्य सामग्रियों की दुकानें लगायी गयी है.

मेले में आने वाले पर्यटकों के लिए इस वर्ष खासा इंतजाम किया गया है. मेला कमेटी और स्थानीय प्रशासन की ओर से सैलानियों के ठहरने समेत पेयजल और शौचालय की व्यवस्था की गयी है. जबकि स्नान के लिए महिला पुरुष के लिए नये कुंड का निर्माण किया गया है. मेला आने वाले पर्यटकों खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला पुलिस बल को भी तैनात किया गया है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से मेला में चिकित्सा शिविर लगाया गया है.

धार्मिक स्थल सूर्यकुंड में हजारों लोगों ने किया मकर स्नान व पूजा

मकर संक्रांति लोहड़ी पर्व पर सोमवार को धार्मिक पर्यटक स्थल सूर्यकुंड में हजारों लोगों ने पहुंचकर मकर स्नान कर पूजा अर्चना की. सूर्यकुंड में बरकट्ठा के अलावा आस-पास के क्षेत्र से करीब दस हजार महिला, पुरुष एवं बच्चों ने मकर स्नान किया. श्रद्धालुओं की मान्यता है कि सूर्यकुंड स्थित गर्म जल कुंड में स्नान करने से पुराने से पुराने चर्मरोग की बीमारी दूर हो जाती है.

वहीं कुंड परिसर स्थित प्राचीन मंदिर एवं सूर्य मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रार्थना करने पर भगवान सबकी मनोकामना पूरी करते हैं. जानकारी हो कि सूर्यकुंड के मुख्य जलकुंड का तापमान 88.5 डिग्री सेल्सियस है जो एशिया महादेश की सबसे अधिक गर्मजल कुंडों में इसकी पहचान है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें