1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. in gumla district only one doctor in 16 thousand there is no system of treatment in villages know the health system smj

गुमला जिले में 16 हजार में मात्र एक डॉक्टर, गांवों में इलाज की व्यवस्था नहीं, जानें स्वास्थ्य व्यवस्था का हाल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गुमला में डॉक्टर की कमी. 16 हजार पर मात्र एक डॉक्टर. सदर हॉस्पिटल में भी डॉक्टर की है कमी.
गुमला में डॉक्टर की कमी. 16 हजार पर मात्र एक डॉक्टर. सदर हॉस्पिटल में भी डॉक्टर की है कमी.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (दुर्जय पासवान, गुमला) : झारखंड के गुमला जिले में 242 स्वास्थ्य सब सेंटर है, लेकिन बगैर पानी व बिजली के है. अगर कहीं पानी के लिए चापाकल खोदा भी गया है, तो वह बेकार पड़ा है. 100 सब सेंटर ऐसे हैं जो सुनसान जगह पर बना है. जहां किसी प्रकार की सुविधा नहीं है. बिजली भी नहीं है. जिले में एक सदर अस्पताल, दो रेफरल अस्पताल व 11 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है. सभी केंद्र के लिए करोड़ों रुपये की लागत से एक्स-रे मशीन, ईसीजी मशीन व जनरेटर की खरीद हुई थी. इसमें सदर अस्पताल को छोड़ दिया जाये, तो सभी केंद्र में एक्स-रे व ईसीजी मशीन बेकार पड़ा हुआ है. किसी भी केंद्र में टेक्नीशियन डॉक्टर नहीं है.

गुमला सदर अस्पताल, बसिया रेफरल व सिसई रेफरल अस्पताल में सर्जरी की सुविधा है. सर्जन भी है, लेकिन सर्जरी नहीं होती. मरीजों को रांची रेफर कर दिया जाता है. गुमला सदर अस्पताल में सीटी स्कैन की सुविधा नहीं है. हालांकि, गुमला के निजी अस्पताल में यह सुविधा है. पैथोलॉजी जांच की सुविधा सभी केंद्रों में है, लेकिन अधिकांश जांच गुमला सदर अस्पताल में होती है.

ICU की नहीं है व्यवस्था

गुमला जिले में कहीं आईसीयू की व्यवस्था नहीं है. कोरोना मरीज के लिए सदर अस्पताल में आईसीयू बना है. वहीं, नवजात बच्चों के लिए गुमला सदर अस्पताल में एसएनसीयू है. गुमला अस्पताल में एक भी फिजिशियन नहीं है. गुमला जिले में 143 डॉक्टर की जरूरत है. लेकिन, मात्र 65 डॉक्टर ही कार्यरत है. जबकि 78 डॉक्टरों का पद रिक्त है. गुमला जिले की आबादी सवा दस लाख है. इस हिसाब से देखा जाये, तो गुमला जिले में 16 हजार में मात्र एक डॉक्टर है. वहीं, 506 नर्स की जरूरत है. इसमें मात्र 344 नर्स ही कार्यरत है.

जिले में 31 कंसन्ट्रेटर उपलब्ध है : डीसी

इस संबंध में डीसी शिशिर कुमार सिन्हा ने कहा कि जिले में 6 वेंटीलेटर युक्त बेडों में से 5 बेडों के लिए वेंटीलेटर के संचालन के लिए उपकरण उपलब्ध है. वर्तमान में 31 कंसन्ट्रेटर उपलब्ध है और सभी क्रियाशील है. इसके अतिरिक्त और 50 कंसन्ट्रेटर की मांग स्वास्थ्य विभाग से की गयी है. जिले में 175 ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध है. गुमला अस्पताल में 45 बेडों को पाइपलाइन से जोड़कर नियमित ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जा रहा है. 20 मई तक और 60 बेडों को ऑक्सीजन पाइपलाइन से जोड़ लिया जायेगा. कोरोना टीका व कोरोना जांच के लिए गांव स्तर पर भी अभियान चलाया जा रहा है. ताकि लोगों को कोरोना महामारी से बचाया जा सके. गांव व पंचायत स्तर पर अगर किसी को कोई परेशानी हो तो इसके लिए प्रखंड स्तर पर बीडीओ, सीओ, थानेदार, डॉक्टर व अन्य कर्मचारियों का मोबाइल नंबर जारी किया गया है. जहां लोग संपर्क कर मदद ले सकते हैं.

एनेमिक मरीजों की संख्या अधिक

डॉ सुचान मुंडा के मुताबिक, गुमला जिला में सर्दी, खांसी, बुखार व एनेमिक मरीजों की संख्या अधिक है. एनेमिक मरीज की संख्या में कमी हो सकती है, लेकिन सर्दी, खांसी, बुखार वायरल बीमारी है. जो इलाज व दवा से ही ठीक हो सकता है. कोई भी लक्षण हो. मरीज अस्पताल आये. उन्होंने कहा कि गुमला का प्राकृतिक बनावट सुंदर है. यहां की हवा शुद्ध है. इस कारण लोग मौसमी बीमारी का शिकार होते हैं. इसके बाद ठीक हो जाते हैं. कुछ बीमारी एड्स, टीबी, फाइलेरिया, कुष्ठ के मरीज हैं. इनके लिए स्वास्थ्य विभाग में इलाज की व्यवस्था है.

गुमला में बीमारी और मरीजों की संख्या

बीमारी : मरीज की संख्या
एड्स : 217
मोतियाबिंद : 246
कुष्ठ : 87
टीबी : 704
फाइलेरिया : 2540
कोरोना : 2024

गुमला जिला : कोरोना संक्रमण अपडेट

अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीज : 7279
अबतक ठीक हुए मरीजों की संख्या : 5228
वर्तमान में पॉजिटिव मरीजों की संख्या : 2024
कोरोना से मरे मरीजों की संख्या : 27
(11 मई दिन के 11 बजे तक की स्थिति)

गुमला जिले में कहां कितने डॉक्टर पदस्थापित

स्थान : पद : कार्यरत
गुमला सदर अस्पताल : 32 : 9
बसिया : 7 : 5
सिसई : 7 : 5
कुरगी : 2 : 1
गुमला सीएचसी : 3 : 0
कोटाम : 2 : 2
फोरी : 2 : 1
चैनपुर : 7 : 3
कुरूमगढ़ : 2 : 1
डुमरी : 7 : 3
जैरागी : 2 : 1
कामडारा : 7 : 4
पालकोट : 7 : 4
बिलिंगबीरा : 2 : 1
रायडीह : 7 : 2
कोंडरा : 2 : 1
टुडुरमा : 2 : 1
बिशुनपुर : 7 : 1
जोरी : 2 : 1
नेतरहाट : 1 : 1
घाघरा : 7 : 5
पुटो : 2 : 0
भरनो : 7 : 6
करंज : 2 : 1
डुड़िया : 1 : 1
जुरा : 1 : 1
सेरका : 2 : 1
पंडरानी : 2 : 1
ब्लड बैंक : 1 : 0
डीएलओ : 2 : 2
एसीएमओ : 1 : 0
डीएलओ डीटीबी : 1 : 0
एमओ : 2 : 0
डीआरसीएचओ : 1 : 0
डीभीबीडी : 1 : 0
नर्स : 506 : 344

गुमला सदर अस्पताल में डॉक्टर की कमी

गुमला सदर अस्पताल पर पूरे जिले के स्वास्थ्य व्यवस्था का भार है. लेकिन, यहां डॉक्टरों की कमी है. सदर अस्पताल में डॉक्टरों का 23 पद स्वीकृत है. जिसमें मात्र 9 डॉक्टर कार्यरत है. जबकि 14 डॉक्टर के पद रिक्त है. वहीं, नर्स के 39 पद स्वीकृत है. जिसमें 30 कार्यरत है. 9 पद रिक्त है. ऐसे अनुबंध पर 36 नर्सों को बहाल किया गया है. अनुबंध पर बहाल नर्स अलग-अलग विभाग में कार्यरत हैं. सदर अस्पताल गुमला के उपाधीक्षक डॉक्टर आनंद किशोर उरांव ने कहा कि गुमला अस्पताल में डॉक्टरों की कमी को दूर करने की मांग की गयी है. हालांकि, अभी वैकल्पिक रूप से 9 डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति की गयी है. ये डॉक्टर सप्ताह में दो दिन गुमला अस्पताल व अन्य दिन अपने ब्लॉक में ड्यूटी करते हैं. वहीं अभी अस्पताल के चार डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव हैं.

अभी तक 20 गांव प्रभावित हुआ है

गुमला जिले में 952 गांव है. जिसमें फिलहाल में 20 गांव के लोग कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं. संक्रमितों को होम आइसोलेशन में रखा गया है. इसके अलावा सभी को कोरोना किट दवा उपलब्ध कराया गया है. प्रशासन के अनुसार गांवों पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है. खासकर शहर से सटे गांव ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं. यहां बता दें कि पहाड़ व जंगलों में बसें गांवों में अभी तक कोरोना नहीं पहुंचा है. अगर दूरस्थ क्षेत्र के गांवों तक कोरोना पहुंचता है तो भयावह स्थिति हो सकती है. क्योंकि कई ऐसे गांव है जो प्रखंड मुख्यालय से 40 किमी दूरी तक है. साथ ही सड़क व पुल का भी आभाव है. मरीज को अस्पताल आने में परेशानी होगी. हालांकि प्रशासन का दावा है कि गांवों को सुरक्षित रखने के लिए पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर कोरोना टीका लगवाया जा रहा है. लोगों को कोरोना से बचने के लिए जागरूक भी किया जा रहा है.

ग्रामीण संक्रमित हो तो नजदीक के इन स्वास्थ्य केंद्रों से संपर्क कर सकते हैं

बिशुनपुर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र
अस्पताल में बेड की संख्या : 30
कोरोना मरीज के लिए बेड : 10
ऑक्सीजन सिलिंडर : 06
डॉ आशुतोष कुमार सिंह : 9431191286
बीडीओ छंदा भट्टाचार्य : 9431342141

रायडीह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 30
कोरोना मरीज के लिए बेड : 10
ऑक्सीजन सिलिंडर : 08
अस्पताल का संपर्क नंबर : 7979070926
बीडीओ मिथिलेश कुमार : 9955229279

चैनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 06
कोरोना मरीज के लिए बेड : 00
ऑक्सीजन सिलिंडर : 03
डॉ राजमोहन खलखो : 7979906880
बीडीओ शिशिर कुमार : 8102360354

पालकोट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 12
कोरोना मरीज के लिए बेड : 00
ऑक्सीजन सिलिंडर : 04
चिकित्सक डॉ नरेंद्र कुमार : 9101288702
बीडीओ विभूति मंडल : 9934353219

भरनो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 20
कोरोना मरीज के लिए बेड : 15
ऑक्सीजन सिलिंडर : 10
डॉ सुषमा कुजूर : 7004468140
बीडीओ नीतू सिंह : 7463886125

घाघरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 30
कोरोना मरीज के लिए बेड : 18
ऑक्सीजन सिलिंडर : 04
डॉ राजेश कुमार : 9931513434
बीडीओ विष्णुदेव कच्छप : 9123280527

सिसई रेफरल अस्पताल सिसई

अस्पताल में बेड की संख्या : 25
कोरोना मरीज के लिए बेड : 20
ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध है
डॉ नमिता, संपर्क नं : 8298162740
बीडीओ प्रवीण कुमार : 9798161090

डुमरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 06
कोरोना मरीजों के लिए बेड : 00
ऑक्सीजन सिलिंडर : 00
डॉ रोशन खलखो : 9471507946
बीडीओ प्रीति किस्कू : 6299732018

बसिया रेफरल अस्पताल

अस्पताल में बेड की संख्या : 24
कोरोना मरीजों के लिए बेड : 00
ऑक्सीजन सिलिंडर : 00
डॉ विजय लकड़ा : 8969196275
बीडीओ रवींद्र कुमार गुप्ता :7352374447

कामडारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

अस्पताल में बेड की संख्या : 06
कोरोना मरीजों के लिए बेड : 00
ऑक्सीजन सिलिंडर : 00
डॉ तारिक अनवर : 9431341891
बीडीओ का नंबर : 9294844556

जारी प्रखंड में अस्पताल नहीं, यहां करें संपर्क

बीडीओ विभूति मंडल : 9934353219
सीओ बसंत अखौरी लाल : 8825140839
थाना प्रभारी नरेंद्र शर्मा : 7542981907
डॉ रोशन खलखो : 9905131943
डॉ राजेश कुमार शर्मा : 7643067630

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें