26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

छह वार्डों व अधिसूचित नये क्षेत्रों में जलापूर्ति योजना की प्रगति की समीक्षा

नगर निगम क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था को सुदृढ़ करने को लेकर गुरुवार को बैठक हुई. अध्यक्षता उप नगर आयुक्त विशालदीप खलखो ने की. बैठक में नगर निगम से नये जुड़े छह वार्डों व अधिसूचित नये क्षेत्रों में जलापूर्ति संबंधित कार्य योजना की प्रगति की समीक्षा की गयी.

गिरिडीह. नगर निगम क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था को सुदृढ़ करने को लेकर गुरुवार को बैठक हुई. अध्यक्षता उप नगर आयुक्त विशालदीप खलखो ने की. बैठक में नगर निगम से नये जुड़े छह वार्डों व अधिसूचित नये क्षेत्रों में जलापूर्ति संबंधित कार्य योजना की प्रगति की समीक्षा की गयी. समीक्षा करने के पश्चात उप नगर आयुक्त ने डीपीआर तैयार करने वाले वाप्कोस एजेंसी के इंजीनियर को कई निर्देश दिये. बताया गया कि नये छह वार्डों में जलापूर्ति को लेकर डीपीआर बनाने वाली एजेंसी वाप्कोस लिमिटेड ने पूर्व में जो डीपीआर दिया था, उसमें सिर्फ वार्ड नंबर 31 व 32 का आंशिक भाग तथा वार्ड नंबर 33 से 36 तक की ही कार्य योजना तैयार की गयी है. जबकि, नगर निगम के गठन के उपरांत वार्ड नंबर 18 अंश, 20, 21 व 22 पूर्ण रूप से नये वार्ड बनाये गये हैं. निगम क्षेत्र के अन्य कई वार्ड ऐसे हैं, जिनमें आंशिक रूप से नये क्षेत्रों को शामिल किया गया है, उन सभी नये क्षेत्रों के लिए भी कार्य योजना तैयार करने का प्रावधान किया जाये. दिये गये डीपीआर में वार्ड नंबर 31 से 36 तक में कुल दो स्थानों पर जलमीनार के निर्माण का प्रस्ताव किया गया है, जबकि वार्ड नंबर 18 अंश, 20, 21 एवं 22 के लिए भी एक अतिरिक्त जलमीनार के निर्माण का प्रावधान किया जाना आवश्यक है. डीपीआर में वार्ड नंबर एक, दो एवं तीन के लिए वर्तमान में कार्यरत जलमीनार की क्षमता काफी कम है. इसके कारण पचंबा क्षेत्र की पूरी आबादी को जलापूर्ति उपलब्ध करा पाना कठिन हो रहा है. इसके लिए कार्य योजना में अतिरिक्त प्रावधान किया जाना आवश्यक है.

खंडोली डैम में अतिरिक्त वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का प्रस्ताव

कहा गया कि समर्पित कार्य योजना में खंडोली में अतिरिक्त 12 एमएलडी क्षमता का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट अधिष्ठापित करने का प्रस्ताव दिया गया है. इस संबंध में एजेंसी को सुझाव दिया गया कि खंडोली डैम में उपलब्ध जल भंडार से संबंधित डाटा जल संसाधन विभाग से प्राप्त कर अध्ययन कर लिया जाये कि पूर्व से संचालित डब्ल्यूटीपी एवं प्रस्तावित डब्ल्यूटीपी के अनुसार पर्याप्त जल भंडार है या नहीं. इसके बाद ही अग्रेत्तर कार्रवाई की जाये. बैठक में वार्ड संख्या 11 एवं 12 के कुछ हिस्सों में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा जलापूर्ति की जाती है. वार्ड संख्या 11 एवं 12 के शेष बचे क्षेत्रों तथा वार्ड संख्या 13 में पेयजलापूर्ति हेतु आच्छादित किये जाने के लिए सर्वे कार्य किया जाये. उपस्थित सभी स्टेक होल्डर्स ने कहा कि नये वार्डों में जलापूर्ति के लिए बनाये जा रहे डीपीआर में सभी शेष बचे क्षेत्रों को सम्मिलित कर एवं त्रुटियों का सुधार करते हुए 10 जुलाई तक इसे समर्पित किया जाये, ताकि इसको अंतिम रूप देकर आगे की कार्रवाई की जा सके. बैठक में सहायक आयुक्त अशोक हांसदा, अर्बन प्लानर मंजूर आलम, सहायक अभियंता मो. वसीम, श्याम किशोर महतो आदि मौजूद थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें