25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

अधिकारियों ने की पत्थर खदानों की जांच

खोरीमहुआ के एसडीपीओ नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में माइनिंग इंस्पेक्टर अभिजीत मजूमदार समेत अन्य अधिकारियों ने सोमवार को पत्थर खदानों की जांच की. अधिकारियों ने धनवार थाना क्षेत्र के खैरीडीह, माधो, करगाली, गलवाती, दलदल समेत अन्य गांवों में संचालित पत्थर खदानों का जायजा लिया.

खोरीमहुआ.

खोरीमहुआ के एसडीपीओ नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में माइनिंग इंस्पेक्टर अभिजीत मजूमदार समेत अन्य अधिकारियों ने सोमवार को पत्थर खदानों की जांच की. अधिकारियों ने धनवार थाना क्षेत्र के खैरीडीह, माधो, करगाली, गलवाती, दलदल समेत अन्य गांवों में संचालित पत्थर खदानों का जायजा लिया. अधिकारियों ने संचालकों से खदान की बाबत जानकारी ली और कागजातों की जांच की. हालांकि, अधिकारियों के क्षेत्र भ्रमण की जानकारी मिलते ही कई संचालक खदान बंद कर भाग गये. एसडीपीओ ने बताया कि खदानों के क्षेत्रफल, रैयतों से ली गयी जमीन व लीज से संबंधित कागजातों का जांच की गयी है. कुछ खदान से अनियमितता के संबंध में बाबत जानकारी जुटायी गयी. ऐसे खदान संचालकों पर कार्रवाई किया जायेगा. एसडीपीओ ने वैध कागजात के साथ राज्य के राजस्व का नुकसान किये बगैर खदान चलाने की हिदायत दी. साथ ही प्रदूषण नियंत्रण का मापदंड का पालन करने की बात कही. कहा कि ऐसा नहीं करने वालों पर कार्रवाई की जायेगी. कहा कि अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी. अभियान में धनवार सीओ गुलजार अंजुम, सीआई धनंजय सिंह आदि शामिल थे.

ग्रामीणों ने रोका पत्थर खदान का काम

प्रतिनिधि जमुआ

जमुआ थाना क्षेत्र के गोबिंदपुरा के ग्रामीणों ने सोमवार को पत्थर खदान में कार्य कराने आये संचालक को कार्य करने से ने रोक दिया. ग्रामीण कार्तिक महतो, भिखो महतो, बाबूलाल महतो, प्रमोद कुमार, अजय कुमार ने कहा कि खदान के संचालन से हम लोगों की जाल-माल की क्षति होगी. खदान से पांच सौ फीट पर हमलोगों का मकान है. खेती करने को लेकर कूप का निर्माण किया गया है. यदि खदान का संचालन होता है, तो जलस्तर काफी नीचे चला जायेगा. कहा कि संचालक जिस प्लॉट पर खदान का एनओसी मिला है, उस प्लॉट पर संचालक कार्य करें, हमलोगों को कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन, खदान संचालक हमलोगों के रैयती जमीन को कब्जा करने का प्रयास कर रहें हैं. ग्रमीणों की आवेदन पर जमुआ थाना प्रभारी पहुंचे और मामले को शांत किया.

क्या कहते हैं संचालक

गोबिंदपुरा खदान संचालक सिद्धार्थ कुमार ने कहा कि वह लीज के अनुसार कार्य कराने के लिए जाते हैं, लेकिन ग्रामीण ने जबरन कार्य रोक रहे हैं. उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है.

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

जमुआ थाना मणिकांत कुमार ने कहा कि पुलिस ने दोनों पक्षों से दस्तावेज की मांग की गयी है. खदान के लीज का कागज मिला है. ग्रामीण किस आधार पर कार्य रोक रहे हैं, यह जांच का विषय है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें