38.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

देवघर के कुख्यात अपराधी बाबा परिहस्त उर्फ जितेंद्र परिहस्त की सेंट्रल जेल में मौत

देवघर सेंट्रल जेल में बंद कुख्यात अपराधी बाबा परिहस्त उर्फ जितेंद्र परिहस्त की मौत हो गई है. पुलिस के सिरदर्द बन चुके बाबा परिहस्त उर्फ जितेंद्र परिहस्त की संदिग्ध परिस्थितियों में गुरुवार (29 फरवरी) तड़के मौत हो गई.

देवघर, आशीष कुंदन : देवघर सेंट्रल जेल में बंद कुख्यात अपराधी बाबा परिहस्त उर्फ जितेंद्र परिहस्त की मौत हो गई है. पुलिस के सिरदर्द बन चुके बाबा परिहस्त उर्फ जितेंद्र परिहस्त की संदिग्ध परिस्थितियों में गुरुवार (29 फरवरी) तड़के मौत हो गई.

तड़के तीन बजे अचानक बिगड़ी बाबा परिहस्त की तबीयत

देवघर सेंट्रल जेल अधीक्षक सत्येंद्र चौधरी के मुताबिक, गुरुवार को तड़के करीब तीन बजे अचानक बाबा की तबीयत बिगड़ गई. उसने एक बार उल्टी की. उसे जेलकर्मियों व सुरक्षा बलों के सहयोग से तत्काल सदर अस्पताल भेजा गया, जहां ऑन ड्यूटी डॉक्टर ने ब्रॉट डेड (मृत) घोषित कर दिया. इसके बाद इसकी सूचना बैद्यनाथधाम ओपी को भी भेज दी.

  • रात तीन बजे अचानक जेल में बिगड़ी तबीयत, एक बार की उल्टी
  • सदर अस्पताल में डॉक्टरों ने कर दिया मृत घोषित

सूचना मिलते ही बाबा के रिश्तेदार व समर्थक सदर अस्पताल पहुंचे

इधर जानकारी मिलते ही नगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राजीव कुमार पुलिस बल के साथ सदर अस्पताल पहुंचे और घटना की जानकारी ली. उधर जेल से बाबा परिहस्त के परिजनों को भी घटना की सूचना दे दी गई है. सूचना पाकर बाबा के परिजन सहित रिश्तेदार व समर्थक भी सदर अस्पताल पहुंचने लगे.

हत्या, रंगदारी, लूट समेत कई आपराधिक मामलों में था वांछित

जेल से मिली जानकारी के मुताबिक, बुधवार शाम में बाबा ठीक ही था. अपने लोगों के साथ वार्ड में रहा और जेलकर्मियों के साथ अच्छे से बातचीत भी की थी. जानकारी हो कि नगर थाना सहित कुंडा व अन्य थाना के कई हत्या, रंगदारी, लूट व अन्य अपराधिक कांडों में बाबा रिकॉर्डेड था.

Also Read : देवघर : दो सहयोगियों के साथ बाबा परिहस्त हिरासत में, सारठ थाने में हो रही पूछताछ

देवघर में चलाता था संगठित आपराधिक गिरोह

देवघर में उसका एक संगठित आपराधिक गिरोह चलता था, जिसमें दर्जनों युवा व किशोर सदस्य हैं. हाल ही में 23 दिसंबर 2023 को कोलकाता से लौटने के दौरान सारठ चौक पर पुलिस ने बाबा परिहस्त को गिरफ्तार कर जेल भेजा था. इसके पूर्व देवघर जेल मंडल कारा में जेल के विचाराधीन बंदी बादल मिश्रा को शराब में जहर मिलाकर पिला दिया गया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी.

Also Read : देवघर : बाबा परिहस्त के गुर्गों ने एसआइ के साथ की मारपीट, फायरिंग कर भागे, गिरोह का एक सदस्य गिरफ्तार

सदर अस्पताल के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल को किया गया तैनात

किसी तरह का हंगामा नहीं हो, इस आशंका के मद्देनजर सदर अस्पताल में कई पुलिस पदाधिकारी सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया. बाबा के शव के पोस्टमार्टम होने तक (दोपहर तीन बजे तक) पुलिस पदाधिकारी और जवान वहां मुस्तैद रहे. दोपहर करीब 12 बजे एसडीपीओ ऋत्विक श्रीवास्तव ने अस्पताल पहुंचकर विधि-व्यवस्था की जानकारी ली. इस दौरान उन्होंने बाबा के चचेरे भाई का भी पक्ष जाना.

मेडिकल बोर्ड ने किया बाबा परिहस्त का पोस्टमार्टम

बाबा परिहस्त की मौत की सूचना सेंट्रल जेल द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, नयी दिल्ली को भेज दी गयी. इसके बाद आयोग के निदेशानुसार, मृतक का मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम व निगरानी में वीडियोग्राफी कराये जाने का अनुरोध सेंट्रल जेल अधीक्षक द्वारा डीसी से किया गया.

पोस्टमार्टम के लिए डीसी ने देवघर सीओ को नियुक्त किया दंडाधिकारी

इस आलोक में डीसी ने आदेश जारी कर देवघर सीओ अनिल कुमार को दंडाधिकारी नियुक्त करते हुए सिविल सर्जन को मेडिकल बोर्ड का गठन कर बाबा परिहस्त के शव के पोस्टमार्टम की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया. साथ ही नगर थाना प्रभारी से समन्वय स्थापित कर पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराने का आदेश भी दिया.

सीओ की मौजूदगी में हुआ बाबा परिहस्त का पंचनामा

डीसी के आदेश के बाद सीओ वहां पहुंचे और बाबा परिहस्त के शव का पंचनामा किया. फिर सदर अस्पताल के डीएस डॉ प्रभात रंजन द्वारा गठित बोर्ड ने पोस्टमार्टम करते हुए विसरा सुरक्षित रखा. दोपहर तीन बजे के बाद बोर्ड के सदस्य डॉ जेपी साहू, डॉ अंबरीश ठाकुर व डॉ रविजीत प्रकाश ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट दे दी.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट गोपनीय, मैसिव हर्ट अटैक से मौत की आशंका

हालांकि, रिपोर्ट में क्या है, इसे गोपनीय रखा गया है. सूत्रों की मानें, तो पोस्टमार्टम में पाया गया है कि मैसिव हर्ट अटैक से बाबा की मौत हुई है. हालांकि, किसी भी तरह की आशंका न हो, इसलिए विसरा प्रिजर्व करा दिया गया. विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही बाबा की मौत के स्पष्ट कारणों का पता चल सकेगा. 

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें