25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

लोकसभा चुनाव में झारखंड बॉर्डर पार नहीं कर पाएंगे अपराधी, ऐसी होगी तैयारी

लोकसभा आम चुनाव- 2024 को लेकर अंतरराज्यीय बार्डर सीलिंग व विधि व्यवस्था पर इंटर स्टेट बैठक सोमवार को झारखंड के देवघर सर्किट हाउस में हुई.

लोकसभा आम चुनाव- 2024 को लेकर अंतरराज्यीय बार्डर सीलिंग व विधि व्यवस्था पर इंटर स्टेट बैठक सोमवार को झारखंड के देवघर सर्किट हाउस में हुई. इसकी अध्यक्षता संताल परगना के आयुक्त लालचंद डाडेल व भागलपुर सह मुंगेर आयुक्त संजय कुमार सिंह ने की. बैठक में कहा गया कि लोकसभा में सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त रहेगी व शांतिपूर्ण मतदान कराना मुख्य उद्देश्य है.

इंटर स्टेट अपराधियों की सूची का हुआ आदान-प्रदान

बैठक के दौरान वैसे अपराधियों की सूची आदान-प्रदान की गयी, जो एक राज्य के क्षेत्र में अपराध कर दूसरे राज्य में भागे हुए हैं. वैसे चिन्हित अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए अभियान चलाने का भी निर्णय लिया गया. भागलपुर आयुक्त संजय कुमार सिंह ने कहा कि चुनाव के दौरान सीमावर्ती राज्य व जिलों के थानों के बीच आपसी समन्वय को मजबूत करने के साथ-साथ उड़नदस्ता दल को भी प्रतिनियुक्त किया जायेगा.

असामाजिक तत्वों का ब्योरा साझा करेंगे राज्यों के अधिकारी

अपराधियों के सीमावर्ती दूसरे जिले में आवागमन पर रोक रहेगी. साथ ही असामाजिक तत्वों का ब्यौरा भी दोनों राज्यों के जिले से साझा करना है. संताल परगना आयुक्त लालचंद डाडेल ने कहा कि सोशल मीडिया पर निगरानी के अलावा संचार की व्यवस्था के साथ आपसी समन्वय बनाये रखना है.

Also Read : लोकसभा चुनाव 2024 से पहले झारखंड में हुई ट्रांसफर पोस्टिंग के तरीके से चुनाव आयोग नाराज, दिया ये निर्देश

ऐसे करेंगे सूचनाओं का आदान-प्रदान

उन्होंने कहा कि बिहार में शराब बंदी के मद्देनजर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी. नशीले पदार्थ, जाली नोट आदि की तस्करी पर सख्ती से निबटना है. बैठक में सीमावर्ती वाले इलाकों में पड़ने वाले बूथों पर विशेष चौकसी बरतने, चेकनाका पर विशेष चेकिंग अभियान चलाने, बॉर्डर वाले जंगली क्षेत्रों में संयुक्त रूप से एलआरपी चलाने, वाट्सएप ग्रुप के जरिये सूचनाओं का आदान-प्रदान करने का निर्णय लिया गया.

लोकसभा चुनाव के दौरान समन्वय के लिए उठाएंगे ये कदम

चुनाव से पहले सभी जिलों को मिलाकर अधिकारियों की वाट्सएप ग्रुप बनाया जायेगा. चुनाव के दौरान अशांति फैलाने वाले असामाजिक तत्वों पर सयुंक्त रूप से कार्रवाई की जायेगी. बैठक में सभी अधिकारियों ने निष्पक्ष व भयमुक्त वातावरण में चुनाव कराने का निर्णय लिया गया.

चेकपोस्ट पर लगाये जायेंगे सीसीटीवी कैमरे

बैठक में निर्णय लिया गया कि बिहार, झारखंड व बंगाल की सीमा पर चुनाव के दौरान चेकपोस्टों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे. इसके साथ ही एक्साइज चेकपोस्ट बनाये जाने के अलावा नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम कर नक्सलियों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जायेगी. मतदान के 48 घंटे पूर्व से ही चुनाव क्षेत्र में बाहरी मतदाता व बाहरी नेता को क्षेत्र से बाहर रखने के साथ-साथ बॉर्डर सील किया जायेगा.

Also Read : लोकसभा चुनाव : झारखंड के आदिवासी अन्य वोटर्स से मतदान में हैं आगे, 2019 के आंकड़े दे रहे गवाही

बैठक में ये अधिकारी हुए शामिल

बैठक में देवघर डीसी विशाल सागर, देवघर एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग, भागलपुर डीएम डॉ नवलकिशोर चौधरी, बांका के डीएम अंशुल कुमार, दुमका के एसपी पितांबर सिंह खैरवार समेत भागलपुर के एसएसपी, भागलपुर, बांका, मुंगेर, जमुई, दुमका, गोड्डा, साहिबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ के डीसी, डीएम, एसपी व एसडीओ शामिल हुए.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें