37.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

लोकसभा चुनाव : झारखंड के आदिवासी अन्य वोटर्स से मतदान में हैं आगे, 2019 के आंकड़े दे रहे गवाही

लोकसभा चुनाव 2024: झारखंड में जेनरल और अनुसूचित जाति (एससी) वर्ग के मतदाताओं से अधिक जागरूक आदिवासी वोटर हैं. 2019 में जनजातीय बहुल सीटों पर सबसे अधिक मतदान हुआ था.

लोकसभा चुनाव 2024|झारखंड में जेनरल और अनुसूचित जाति (एससी) वर्ग के मतदाताओं से अधिक जागरूक आदिवासी वोटर हैं. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों के आंकड़ों पर गौर करेंगे, तो पाएंगे कि जनजातीय बहुल सीटों पर सबसे अधिक मतदान हुआ था.

लोकसभा की 14 में 5 सीट एसटी के लिए आरक्षित

जी हां, झारखंड में कुल 14 लोकसभा सीट हैं. इनमें से आठ सामान्य सीटें हैं. एक सीट अनुसूचित जाति (एससी) के लिए आरक्षित है, जबकि पांच सीटें अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए रिजर्व हैं. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कुल 2,24,04,856 मतदाता थे. इनमें से 1,17,37,557 पुरुष, 1,06,67,069 महिला और 230 थर्ड जेंडर वोटर थे. एनआरआई वोटर्स की संख्या 41 थी. इनमें 33 पुरुष और आठ महिलाएं थीं. एनआरआई वोटर्स समेत सामान्य वर्ग के कुल 2,23,64,480 मतदाताओं में 1,16,98,655 पुरुष, 1,06,65,595 महिला थीं. 40,376 सर्विस वोटर थे, जिसमें 38,902 पुरुष और 1,474 महिलाएं थीं.

Read Also : झारखंड में कब से कब तक हो सकता है लोकसभा चुनाव, आयोग ने दिया ये निर्देश

लोकसभा चुनाव 2019 में 41 एनआरआई में किसी ने नहीं किया मतदान

सामान्य वर्ग की आठ लोकसभा सीटों पर कुल 1,39,64,859 मतदाता थे, जिसमें 73,87,035 पुरुष और 65,77,626 महिला एवं 198 थर्ड जेंडर के वोटर थे. 41 एनआरआई वोटर के साथ-साथ 22,386 सर्विस वोटर थे. झारखंड में सामान्य वर्ग के 47,11,877 पुरुष, 44,13,916 महिला और 36 थर्ड जेंडर वोटर ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. सभी 41 एनआरआई सामान्य वर्ग के थे, लेकिन किसी ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल नहीं किया. पोस्टल बैलट से 25,975 लोगों ने वोट डाला. इस तरह सामान्य वर्ग के कुल 91,51,804 मतदाताओं यानी 65.53 फीसदी वोटर्स ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इनमें से 90,49,386 मतदाताओं के वोट वैध पाए गए.

एससी के लिए आरक्षित क्षेत्र में हुआ था 65.53 फीसदी मतदान

अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित एकमात्र सीट पर कुल 18,81,441 वोटर थे. इनमें से 10,15,908 पुरुष, 86,55,330 महिला और 4,387 सेवा मतदाता थे. इस लोकसभा सीट पर एक भी थर्ड जेंडर या एनआरआई वोटर नहीं था. कुल 18,81,441 में से 12,10,426 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इनमें 6,26,122 पुरुष और 5,79,847 महिला वोटर थे. 4,457 पोस्टल वोट भी पड़े. इस लोकसभा क्षेत्र में 65.53 फीसदी वोट पड़े. इस लोकसभा सीट पर 12,03,939 मतदाताओं के मत वैध थे.

Read Also : झारखंड : सभी 14 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस तैयार, आलाकमान तय करेगा उम्मीदवार

5 एसटी सीटों पर Lok Sabha Election में औसत 70.21 फीसदी वोटिंग

अगर बात अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित लोकसभा सीटों पर हुए मतदान की करेंगे, तो यहां सबसे ज्यादा 70.21 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. एसटी के लिए रिजर्व पांच सीटों पर कुल 65,58,556 मतदाता थे. इनमें 33,34,614 पुरुष और 32,23,910 महिला वोटर थे. थर्ड जेंडर वोटर्स की संख्या 32 थी. कुल 46,04,551 वोटर्स ने वोटिंग में हिस्सा लिया. 23,04,332 पुरुष और 22,87,281 महिला के साथ-साथ तीन थर्ड जेंडर वोटर ने मतदान किया. 12,935 पोस्टल वोट भी इन लोकसभा क्षेत्रों में पड़े थे. इस श्रेणी की लोकसभा सीटों पर पड़े कुल मत में से 45,19,268 मत वैध पाए गए.

Lok Sabha Election: 5 एसटी सीटों पर औसत 70.21 फीसदी वोटिंग

अगर बात अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित लोकसभा सीटों पर हुए Lok Sabha Chunav की करेंगे, तो यहां सबसे ज्यादा 70.21 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. Lok Sabha Chunav 2019 में एसटी के लिए रिजर्व पांच सीटों पर कुल 65,58,556 मतदाता थे. इनमें 33,34,614 पुरुष और 32,23,910 महिला वोटर थे. थर्ड जेंडर वोटर्स की संख्या 32 थी. कुल 46,04,551 वोटर्स ने वोटिंग में हिस्सा लिया. 23,04,332 पुरुष और 22,87,281 महिला के साथ-साथ तीन थर्ड जेंडर वोटर ने मतदान किया. 12,935 पोस्टल वोट भी इन लोकसभा क्षेत्रों में पड़े थे. इस श्रेणी की लोकसभा सीटों पर पड़े कुल मत में से 45,19,268 मत वैध पाए गए.

Read Also : झारखंड : लोकसभा चुनाव में 21,67,270 युवा मतदाता पहली बार देंगे वोट

Lok Sabha Election में सामान्य वर्ग की आठ लोकसभा सीट पर हुआ था 65.53 फीसदी मतदान

इस तरह सामान्य वर्ग की आठ लोकसभा सीटों पर 65.53 फीसदी, एससी के लिए आरक्षित एकमात्र सीट पर हुए लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में 65.53 फीसदी वोट हुए, तो अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित पांच लोकसभा सीटों पर 70.21 फीसदी मतदान हुआ. सामान्य क्षेत्र के मतदाताओं के वोट ज्यादा रद्द हुए. सामान्य सीटों पर हुए मतदान में से 2,474 मतदाताओं के वोट/पोस्टल वोट रद्द हो गए, जबकि एससी सीट पर 679 और एसटी सीट पर मतदान करने वाले सिर्फ 1,670 मतदाताओं के मत/पोस्टल मत रद्द हुए.

Voting In India
5 एसटी सीटों पर 70 फीसदी से अधिक मतदान

झारखंड में अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए 5 लोकसभा सीट आरक्षित हैं. इन 5 सीटों पर औसतन 70.21 फीसदी मतदान हुआ.

1.89 लाख लोगों ने Lok Sabha Election 2019 में दबाया नोटा

Lok Sabha Election 2019 में नन ऑफ द अबव या उपरोक्त में से कोई नहीं (NOTA) दबाने के मामले में भी आदिवासियों के लिए रिजर्व लोकसभा सीटों के मतदाता सामान्य एवं एससी के लिए रिजर्व संसदीय सीट के मतदाताओं की तुलना में ज्यादा सावधानी बरतते हैं. झारखंड में वर्ष 2019 में हुए Lok Sabha Election सबसे ज्यादा सामान्य वर्ग की सीटों पर लोगों ने नोटा का बटन दबाया था. इन आठ सीटों पर 99,944 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया, एससी सीट पर 5,808 लोगों ने नोटा का विकल्प चुना जबकि, एसटी के लिए आरक्षित पांच सीटों पर 83,613 लोगों ने नोटा को चुना. इस तरह झारखंड में Lok Sabha Election में नोटा को कुल 1,89,365 वोट मिले.

Voting Evm Vvpat

झारखंड के एनआरआई वोटर
झारखंड में कुल 41 एनआरआई वोटर पंजीकृत थे वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में. किसी ने नहीं किया मतदान.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें