1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. trikut pahar ropeway accident home ministry meeting in delhi biscuits to trapped people by drone grj

झारखंड का त्रिकूट रोपवे हादसा: दिल्ली में गृह मंत्रालय की बैठक, फंसे लोगों को बिस्किट देने की तैयारी

देवघर के त्रिकूट पहाड़ रोपवे की घटना को लेकर दिल्ली में गृह मंत्रालय की हाई लेवल मीटिंग चल रही है. आपको बता दें कि त्रिकूट पहाड़ पर हुए हादसे में फंसे लोगों को बचाने के लिए झारखंड सरकार ने केंद्र से मदद मांगी है. इधर,फंसे लोगों को ड्रोन से बिस्किट पहुंचाने की तैयारी की जा रही है

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड का त्रिकूट रोपवे हादसा
झारखंड का त्रिकूट रोपवे हादसा
प्रभात खबर

Jharkhand News: झारखंड के देवघर जिले के त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसा में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने को लेकर राहत-बचाव कार्य जारी है. ड्रोन के माध्यम से दो ट्रॉलियों में फंसे लोगों तक पानी पहुंचाया गया. अब बिस्किट पहुंचाने की तैयारी हो रही है. इधर, ट्रॉलियों में फंसे करीब 48 लोगों को रेस्क्यू करने में एनडीआरएफ के साथ-साथ वायु सेना की टीम लगी हुई है. हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू किया जा रहा है. हालांकि अब तक सफलता नहीं मिली है. इस बीच दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक की जा रही है.

फंसे हैं 48 लोग

देवघर जिले के त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसे में राहत-बचाव कार्य जारी है. फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए वायु सेना की मदद ली जा रही है. दो हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू किया जा रहा था, लेकिन दो बार प्रयास करने के बाद भी किसी को नहीं निकाला जा सका है. हेलिकॉप्टर तीसरी बार देवघर एयरपोर्ट लौट चुका है. अब फिर हेलिकॉप्टर तैयारी के साथ रेस्क्यू करने पहुंचेगा. इस बीच ड्रोन के जरिए ट्रॉली में फंसे लोगों तक पानी पहुंचाया जा रहा है. इस हादसे में कुल 48 लोग अब तक फंसे हुए हैं.

गृह मंत्रालय की हाई लेवल मीटिंग

देवघर के त्रिकूट पहाड़ रोपवे की घटना को लेकर दिल्ली में गृह मंत्रालय की हाई लेवल मीटिंग चल रही है. आपको बता दें कि त्रिकूट पहाड़ पर हुए हादसे में फंसे लोगों को बचाने के लिए झारखंड सरकार ने केंद्र से मदद मांगी है. रोपवे पर फंसे हुए लोगों को नीचे उतारने के लिए राज्य सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय से सहायता का आग्रह किया है. राज्य के पर्यटन सचिव अमिताभ कौशल ने बताया कि राज्य सरकार के पास फंसे हुए पर्यटकों को उतारने के लिए विशेषज्ञ नहीं हैं. भारत सरकार से पर्यटकों को सुरक्षित नीचे उतारने के लिए हेलिकॉप्टर और विशेषज्ञ देने का आग्रह किया गया है.

पानी के बाद बिस्किट पहुंचाने की तैयारी

त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसे में राहत-बचाव कार्य जारी है. फंसे लोगों को ड्रोन के माध्यम से दो ट्रॉलियों में पानी पहुंचाया गया. अब बिस्किट पहुंचाने की तैयारी हो रही है. दोनों चौपर वायु सेना की बेस्ट बटालियन गरुड़ है, लेकिन अभी तक प्रयास असफल रहा है. कल रविवार की तरह स्थानीय नागरिक द्वारा सेफ्टी बेल्ट और कुर्सी के जरिए रेस्क्यू शुरू किया गया है. मेंटेनेंस ट्रॉली से स्थानीय नागरिक एक्सपर्ट पन्ना लाल रवाना हो गये हैं, इधर एनडीआरएफ और देवघर जिला प्रशासन द्वारा हैवी ड्रॉन से ट्रॉली में पानी और बिस्किट पहुंचाने की तैयारी की जा रही है.

जब रोलर अचानक टूट गया

आपको बता दें कि त्रिकूट रोपवे में रविवार की शाम बड़ा हादसा हो गया था. करीब 4:30 बजे रोपवे जैसे ही डाउन स्टेशन से चालू हुआ कि पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रोलर अचानक टूट गया. इसके बाद रोपवे की 23 ट्रॉलियां एक झटके में सात फीट नीचे लटक गयीं. वहीं, सबसे पहले ऊपर की एक ट्रॉली 40 फीट नीचे खाई में गिर गयी थी, जिसमें पांच लोग सवार थे. स्थानीय लोगों और रोप-वे कर्मियों ने मिलकर उस ट्रॉली में फंसे पांच लोगों को बाहर निकाला था. हादसे के दौरान इसमें सबसे नीचे की दो ट्रॉली पत्थर से जोरदार ढंग से टकरा गयी. इन दोनों ट्रॉलियों में सवार सभी लोग बुरी तरह घायल हो गये. इस हादसे में पथरड्डा, सारठ की रहनेवाली सुमंती देवी-पति स्व राजकुमार पुजहर की मौत हो गयी. बताया जा रहा है कि इस हादसे में ट्रॉली के अंदर फंसे सभी लोग घायल हैं. इसमें एक बच्ची समेत तीन की हालत बेहद गंभीर है. घायलों में अधिकतर लोग बिहार के हैं.

रिपोर्ट: संजीत मंडल/अमर नाथ पोद्दार

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें