15.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

झारखंड : पेटरवार में जाम से लोग हलकान, सड़क दुर्घटनाएं भी बढ़ी

पेटरवार की सड़कों पर सामान्य दिनों में भी जाम लग जाता है. इससे छात्र-छात्राओं सहित आवागमन करने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है. शनिवार व मंगलवार को लगने वाले बाजार के समय जाम की स्थिति और भी बदतर हो जाती है.

नागेश्वर महतो, पेटरवार : पेटरवार की सड़कों पर सामान्य दिनों में भी जाम लग जाता है. इससे छात्र-छात्राओं सहित आवागमन करने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है. शनिवार व मंगलवार को लगने वाले बाजार के समय जाम की स्थिति और भी बदतर हो जाती है. दूसरी ओर पेटरवार की सड़कों पर वाहनों की तेज रफ्तार से जहां दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है वहीं उन दुर्घटनाओं में मौत की संख्या भी बढ़ी है. बता दें कि बोकारो -रामगढ़ राष्ट्रीय उच्च पथ संख्या 23 पेटरवार प्रखंड के चरगीघाटी से लेकर उत्तासारा तक गुजरती है. यह रांची से धनबाद का मुख्य पथ है. रांची और धनबाद के बीच विश्राम के लिए रुकने के लिए पेटरवार एक बीच की जगह है. जहां पर मिठाइयों के कई होटल, चाय-पान की दुकानें, सुलभ शौचालय सहित अन्य जरूरत की दुकानें ऑन रोड है. जो यात्रियों का बरबस ध्यान आकृष्ट करता है. धार्मिक स्थल रजरप्पा व खूंटा बाबा पहुंचने के पहले पेटरवार बाजार खरीद -बिक्री का मुख्य केंद्र है. इस कारण यात्रियों की अच्छी खासी भीड़ प्रतिदिन हो जाती है. इस एनएच पथ पर लंबी दूरी तय करने वाली हैवी लोड गाड़ियां, यात्री बस, कार सहित हाइवा गाड़ियों की आवाजाही भारी संख्या में होती है. सड़क भी अच्छी है, जिस कारण काफी तेज रफ्तार से वाहन गुजरती है.

स्कूल खुलने व बंद होने के समय स्थिति और हो जाती है विकट

पेटरवार में प्लस टू उच्च विद्यालय, प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय, बालिका मध्य विद्यालय, बालक मध्य विद्यालय, लीला जानकी पब्लिक स्कूल, मध्य विद्यालय प्रखंड कॉलोनी, प्रगति स्कूल, सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, बिनोद बिहारी महतो स्मारक इंटर कॉलेज, प्रगति स्कूल सहित अन्य शैक्षणिक संस्थानों में अध्ययनरत विद्यार्थी विद्यालय खुलने व छुट्टी के समय मुख्य पथ पर आते -जाते हैं, तो उस समय भी सड़कों में जाम लग जाता है, जिससे छात्र -छात्राओं को परेशानी उठानी पड़ती है और दुर्घटना की आशंका बनी रहती है.

जैसे-तैसे खड़े होते हैं वाहन

खासकर पेटरवार के लेपो स्थित कई होटलों से लेकर तेनुचौक, बाजार टांड़, न्यू बस स्टैंड सहित पेटरवार तेनु व कसमार रोड पर भी चार चक्का, दो चक्का वाहन यत्र -तत्र जैसे तैसे काफी देर तक खड़ी कर छोड़ देते हैं, जिससे आवाजाही में व्यवधान उपस्थित होता है और दुर्घटना का करण बनता है.

यहां अक्सर हाेते हैं हादसे

पेटरवार के चरगी, लेपो, बुंडू- चंद्रपूरा जंगल, तेनुचौक, बाजार टांड, न्यू बस स्टैंड, सदमा पोरदाग, लुकइया से उत्तासारा तक करीब 12 किमी की दूरी तक गुजरती है. जिसमें अक्सर आये दिन सडक दुर्घटनाएं होती रहती हैं. इन क्षेत्रों को डेथ जॉन के रूप में जाना जा रहा है.

क्या कहते हैं व्यवसायी

पेटरवार के होटल संचालक योगेंद्र प्रसाद बताते हैं कि वर्तमान में आबादी व लोगों की हैसियत बढ़ी है अधिकांश लोग सड़कों पर दो चक्का और चार चक्का से चल रहे हैं. राष्ट्रीय उच्च पथ होने से दूर-दूर की बड़ी गाड़ियां भी चलती है. जिससे सड़क व्यस्त रहती है. जब सिक्स लेन बनेगा, तब दवाब कम होगा. हालांकि सड़क जागरूकता अभियान चलाना चाहिए. व्यवसायी पीतांबर लाल कहते हैं कि पेटरवार राष्ट्रीय उच्च पथ 23 पर स्थित है, जो राज्य की राजधानी रांची, रामगढ़, बोकारो, गोमिया, हजारीबाग,धनबाद सहित अन्य औद्योगिक क्षेत्रों से जुड़ा है, जिससे सड़क जाम की स्थिति बनती है. सड़क सुरक्षा का व्यवस्था एवं लेशन लोगों को मिले.

Also Read: बोकारो : सर्दियों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा, रहे सतर्क, सर्दी में सावधानी ही सबसे बड़ा बचाव

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें