26.5 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पटना में परिवहन कॉम्प्लेक्स 95 फीसदी बनकर तैयार, लेकिन अभी इसके चालू होने पर संशय

परिवहन भवन में परिवहन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए 40 से अधिक फ्लैट्स का निर्माण पूरा हो चुका है. इन फ्लैटों में बिजली कनेक्शन पहुंचाया जा चुका है. यहां करीब 164 करोड़ रुपये से परिवहन विभाग के सभी दफ्तरों के लिए 12 भवनों का भी निर्माण लगभग पूरा हो चुका है

पटना के फुलवारीशरीफ में परिवहन विभाग का नया बस टर्मिनल बनाने का काम अंतिम चरण में है. भवन निर्माण विभाग इस नये बस टर्मिनल को बना रहा है. नये बस टर्मिनल से जहां बसों की आवाजाही होगी, वहीं परिवहन से जुड़े सारे कामकाज और दफ्तर को भी राजधानी के अलग-अलग हिस्सों से यहां शिफ्ट किया जायेगा. इसलिए इसे परिवहन कॉम्प्लेक्स भी नाम दिया गया है. यहां बस स्टैंड के साथ ही दफ्तरों के भवन और अधिकारियों व कर्मियों के रहने के लिए फ्लैट्स भी तैयार किये जा रहे हैं. लेकिन, अभी यहां से बसों की शुरुआत होने में थोड़ा वक्त लगेगा.

तेजी से हो रहा निर्माण कार्य 

जानकारी के मुताबिक, भवन निर्माण विभाग की तरफ से यहां पर तेजी से निर्माण कार्य किया जा रहा है, लेकिन अप्रैल तक यहां से सभी सुविधाओं के शुरू होने पर संशय है. परिवहन कॉम्प्लेक्स 95 फीसदी बनकर तैयार हो गया है, लेकिन अब तक भवन निर्माण विभाग से एनओसी नहीं मिला है.

बांकीपुर से बंद हो जायेगा बसों का परिचालन 

दरअसल पटना के दिल समझे जाने वाले गांधी मैदान से सटे ही बांकीपुर बस डिपो है. बांकीपुर बस डिपो से सरकारी बसों के साथ ही निजी बसें बिहार और देश के दूसरे हिस्सों के लिए खुलती हैं. फुलवारीशरीफ में परिवहन भवन बनने के बाद सभी बसों का परिचालन बांकीपुर से बंद हो जायेगा.

फ्लैट्स व दफ्तरों के लिए 12 भवनों का निर्माण लगभग पूरा

परिवहन भवन में परिवहन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए 40 से अधिक फ्लैट्स का निर्माण पूरा हो चुका है. इन फ्लैटों में बिजली कनेक्शन पहुंचाया जा चुका है. यहां करीब 164 करोड़ रुपये से परिवहन विभाग के सभी दफ्तरों के लिए 12 भवनों का भी निर्माण लगभग पूरा हो चुका है. इसी परिवहन भवन से सिटी बसें भी खुलेंगी.

ये काम अभी बाकी

  • डीटीओ और आरटीओ ऑफिस में नये कंप्यूटर सिस्टम लगाना

  • कंप्यूटर सिस्टम को नेट और बिजली कनेक्शन से जोड़ने के लिए वायरिंग

  • वर्कशॉप में गाड़ियों की मरम्मत के लिए भारी उपकरणों को शिफ्ट किया जाना

  • नये परिवहन भवन से गाड़ियों को एक्सेस देने वाले एप्रोच पथ का निर्माण जारी

Also Read: बिहार के पास मार्च 2025 तक होगी 29 फीसदी सरप्लस बिजली, खुले बाजार में बेच सकेंगी कंपनियां
अभी चालू होने पर संशय 

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के प्रशासक सनी सिन्हा का कहना है कि भवन निर्माण विभाग की तरफ से तेजी से काम किया जा रहा है, लेकिन मार्च महीने में बसों की आवाजाही या परिवहन भवन से कामकाज शुरू होने पर संदेह है. जब तक भवन निर्माण विभाग से एनओसी नहीं मिल जाता है, तब तक यहां से बसों के परिचालन की शुरुआत नहीं होगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें