25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

मिट्टी काटने के दौरान धंसना गिरने से एक महिला सहित नाबालिग की मौत, परिजनों में मचा कोहराम

थाना क्षेत्र के जरौली गांव में शुक्रवार को मिट्टी धंसने से एक महिला और एक नाबालिग लड़की की मौत हो गयी

निर्मली.

थाना क्षेत्र के जरौली गांव में शुक्रवार को मिट्टी धंसने से एक महिला और एक नाबालिग लड़की की मौत हो गयी. मौत की खबर सुनते ही परिवार में कोहरा मच गया. मृतका की पहचान निर्मली थाना क्षेत्र के जरौली गांव निवासी उमेश कामत की 35 वर्षीया पत्नी अमृता देवी व लक्ष्मी कामत की 17 वर्षीया पुत्री प्रीति कुमारी के रूप में की गयी. स्थानीय ओमप्रकाश कुमार ने बताया कि तिलयुगा नदी के किनारे 10 से 15 महिलाएं घरेलू कार्य के लिए चिकनी मिट्टी काट रही थी. इसी दौरान मिट्टी के धंसना गिरने से दोनों मिट्टी के नीचे दब गयी. स्थानीय लोगों ने उसे बचाने की काफी कोशिश की और जब तक उसे बाहर निकाल कर निर्मली अनुमंडल अस्पताल पहुंचाया, तब तक देर हो गयी. ड्यूटी पर तैनात डॉ शेलेंद्र कुमार ने दोनों को जांच के बाद मृत घोषित कर दिया. मौत की खबर सुनते ही परिवार में कोहराम मच गया. घटना की सूचना पर निर्मली थानाध्यक्ष अनिरुद्ध कुमार दल बल के साथ अनुमंडल अस्पताल पहुंचे. शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम में भेज दिया.

मिट्टी काटने के दौरान हुआ हादसा

घटना के संबंध में स्थानीय ओम प्रकाश ने बताया कि शुक्रवार को तिलयुगा नदी के किनारे 10 से 15 महिलाएं घरेलू कार्य के लिए चिकनी मिट्टी काट रही थी. इसी दौरान अचानक मिट्टी का धंसना गिरने लगा, जिससे अमृता और प्रीटी मिट्टी के नीचे दब गयी. मिट्टी धंसते ही आसपास मौजूद अन्य महिलाएं शोर मचाने लगी. उनके चीखने चिलाने की आवाज सुनकर आसपास के लोग उधर दौड़ पड़े. कुछ ही देर में कई ग्रामीण वहां जमा हो गये और फिर स्थानीय लोगों ने काफी मशक्कत के बाद दोनों को मिट्टी से बाहर निकाला. ग्रामीणों ने दोनों को मिट्टी से बाहर निकाल कर निर्मली अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने दोनों को जांच के बाद मृत घोषित कर दिया.

पोस्टमार्टम कराने के लिए परिजन नहीं हो रहे थे तैयार

मौत की खबर सुनते ही परिवार में कोहराम मच गया. घर के सभी सदस्यों का अस्पताल में रो-रोकर बुरा हाल है. स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना निर्मली थाना की पुलिस को दी. घटना की सूचना पर निर्मली थाने की पुलिस भी अनुमंडलीय अस्पताल पहुंची. स्थानीय लोगों का कहना है कि परिजन पोस्टमार्टम कराने के लिए तैयार नहीं हो रहे थे. काफी मशक्कत के बाद पुलिस के काफी समझाने बुझाने के बाद परिजन पोस्टमार्टम करने के लिए तैयार हुए.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें