24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चुनाव कार्य में रहने के बावजूद शिक्षकों के वेतन कटौती का आदेश

शिक्षकों में पनप रहा आक्रोश,चुनाव में ड्यूटी में रहने के बाद भी काट लिया गया वेतन

शिक्षकों में पनप रहा आक्रोश,चुनाव में ड्यूटी में रहने के बाद भी काट लिया गया वेतनसहरसा . चुनाव ड्यूटी के दौरान विद्यालयों का औचक निरीक्षण कर विद्यालय से अनुपस्थित सैकड़ों शिक्षकों के वेतन काटने का फरमान विभाग द्वारा जारी किया गया है. जिससे शिक्षकों में आक्रोश पनप रहा है. इसको लेकर विद्यालय के प्रधानाचार्य ने आवेदन देकर वेतन कटौती पर रोक लगाने की मांग की है. इस तरह के दर्जनों मामले सामने आ रहे हैं. इसको लेकर कन्या मध्य विद्यालय सोनवर्षा की प्रधानाध्यापक कृष्णा देवी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी व प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को शनिवार को आवेदन दिया है. उन्होंने कहा कि 3 अप्रैल को विद्यालय पूर्णतया बंद पाये जाने संबंधित कारण पृच्छा की गयी थी. जिसको लेकर साक्ष्य सहित स्पष्टीकरण दिया गया था. लेकिन समर्पित स्पष्टीकरण के बावजूद भी वेतन कटौती का आदेश निर्गत कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि नोडल पदाधिकारी प्रशिक्षण पोषण द्वारा प्राप्त आदेश के आलोक में मास्टर प्रशिक्षक के रूप में दो अप्रैल को प्रशिक्षण केंद्र जेल कॉलोनी में योगदान देकर प्रशिक्षण संबंधी कार्यों का निष्पादन किया गया. जहां से चार अप्रैल को विरमित होते पांच अप्रैल को फिर से विद्यालय में योगदान दिया गया. विद्यालय में पदस्थापित शिक्षक ज्योतिष कुमार, मो मेराज आलम, सुरेश कुमार सोरेन, अजय कुमार, अशोक कुमार, चंद्र किशोर विश्वास तीन अप्रैल को चुनाव प्रशिक्षण में मौजूद थे. जबकि महिला शिक्षिका पूनम कुमारी, पिंकी कुमारी, अनु सुमन, प्रवीण बानो, सबकत मेहरे निगाह विद्यालय में मौजूद थी. दोनों मुस्लिम शिक्षिका विभागीय निर्देशानुसार रोजा में रहने के कारण एक घंटा पूर्व विद्यालय छोड़ने के निर्देश पर निर्धारित समय के बाद अपने घर चली गयी थी. शेष तीन शिक्षिका विद्यालय में सभी कमरों को बंद कर एक कमरे में विद्यालय संबंधी कार्य का निष्पादन कर रही थी. इस बीच बीपीएम सोनवर्षा द्वारा बाहर से विद्यालय का फोटो खींचकर भेजा गया. जिनका स्पष्टीकरण में साक्ष्य सहित प्रस्तुत किया गया है. इसके बावजूद भी वेतन कटौती का आदेश निर्गत कर दिया गया. उन्होंने वेतन कटौती आदेश पर फिर से विचार करते हुए उक्त तिथि का वेतन भुगतान करने का आदेश निर्गत करने की मांग की. हालांकि जिले में इस तरह के अन्य विद्यालयों में भी मामले सामने आ रहे हैं. जिससे सैकड़ो शिक्षकों पर चुनाव कार्य में रहने के बावजूद भी वेतन कटौती का आदेश निर्गत किया गया है. इस बाबत जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा कि वेतन कटौती मामले में आ रही शिकायत पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है. किसी कारण से शिक्षक विद्यालय में उपस्थित नहीं थे तो तत्काल वे कार्यालय में आवेदन दें. इस मामले में मुख्यालय से निर्देश लेकर आगे की कार्रवाई होगी. निर्वाचन कार्य में उपलब्ध करायी गयी सामग्री के विपत्र की जांच को लेकर टीम गठित सहरसा .लोकसभा निर्वाचन के अवसर पर गठित विभिन्न कोषांग को चयनित वेंडर द्वारा उपलब्ध सामग्री के विपत्र के जांच को लेकर कमेटी गठित की गयी है. इनके द्वारा जिला स्तरीय कोषांग, सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारी का कोषांग एवं विभिन्न प्रखंडों में गठित कोषांग को सामग्री सेवा से संबंधित दी गयी अधियाचना के विरुद्ध जिला क्रय समिति द्वारा चयनित वेंडर के माध्यम से संबंधित कोषांग को उपलब्ध करायी गयी सामग्री सेवा से संबंधित विपत्र की जांच के लिए जिला निर्वाचन कार्यालय ने विधानसभा वार जांच दल का गठन किया है. इस जांच कमेटी के प्रभारी उप निर्वाचन पदाधिकारी एलएन अरविंद डीन एवं अवर निर्वाचन पदाधिकारी सदर अरूण कुमार सहरसा को नामित किया गया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें