रिजल्ट में नंबर बढ़ाने को लेकर फोन कर खाते में मांगे जा रहे रुपये, ...जानें क्या है मामला?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सहरसा/नवहट्टा: फर्जी कॉल एवं मैसेज से छात्र एवं युवा शोषण का शिकार हो रहे हैं. इंटरमीडिएट परीक्षा में फर्स्ट डिवीजन और कॉलेज टॉपर व रिजल्ट में नंबर बढ़ाने के लिये फोन कर खाता में रुपये भेजने की मामला प्रकाश में आया है. ताजा मामला नवहट्टा प्रखंड क्षेत्र के शाहपुर का है, जहां छात्र कन्हैया के मोबाइल नंबर 7321800629 पर 9546985795 पर प्रोफेसर महेंद्र कुमार नाम के एक व्यक्ति का फोन आया और इंटरमीडिएट परीक्षा में फर्स्ट डिवीजन व कॉलेज टॉपर कराने के नाम पर दस हजार से लेकर मनचाहे अंक अनुसार पैसे की मांग करने लगा.
वहीं, अज्ञात नंबर से आयेफोन उन्होंने अपना नाम महेंद्र प्रसाद बताया और उन्होंने बिहार बोर्ड के डाटा एंट्री ऑफिस से बात करने की बात कही. फोन पर बात यू ही नहीं थमा फर्स्ट डिवीजन कराने के नाम पर दस हजार रुपये की रिश्वत लेने के लिए वह अपना खाता नंबर भी उसके व्हाट्सएप पर भेज दिया. महेंद्र कुमार ने स्पष्ट कहा कि हम अपने खाता नंबर पर राशि नहीं ले सकते हैं. इसलिए मेरी पत्नी रंजू देवी के खाता संख्या 37796681068व आईएफसी कोड SBIN0002021 पर दस हजार रुपये भेजने की मांग की. हालांकि इस तरह के फर्जी कॉल से कई युवा व छात्र-छात्राएं शोषण का शिकार हो चुके है. पिछले बार भी कई लोगों के मोबाइल पर फोन कर बिहार बोर्ड के नाम पर वसूली की गयी. इस बार भी बिहार बोर्ड के नाम पर वसूली किया जा रहा है.
बिहार बोर्ड में छात्र एवं छात्राएं के परीक्षा फल के परिणाम में पास कराने के नाम पर अगर किसी तरह का फोन आता है तो सीधे अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में जाकर शिकायत करें. सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रभाकर तिवारी ने बताया कि जिस तरह बैंक के नाम से फोन आता है. ठीक उसी प्रकार बिहार बोर्ड के नाम पर भी छात्र नौजवान से जो पैसे मांगा जा रहा है. उसमें लोग एवं छात्र युवा नौजवान को जागरूक रहने की जरूरत है. सब फर्जी कॉल हैं इससे दूर रहना ही बेहतर है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें