1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. someone took ration from pds shop in gaya to patna cardholder

लापरवाही : पटना के कार्डधारी का गया की पीडीएस दुकान से उठ गया राशन

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
पटना के कार्डधारी का गया की पीडीएस दुकान से उठ गया राशन
पटना के कार्डधारी का गया की पीडीएस दुकान से उठ गया राशन
प्रभात खबर

पटना जिले के एक कार्डधारी का गया जिले के पीडीएस दुकान से जून के राशन के उठाव का मामला सामने आया है. कार्डधारी रूपमणि देवी कंकडबाग के पोस्टलपार्क रोड नंबर तीन में रहती हैं और उनका कार्ड दिलीप निराला के पीडीएस दुकान से जुड़ा हुआ है. रूपमणि देवी या उनके परिवार के किसी सदस्य ने जून के राशन का उठाव नहीं किया. लेकिन, गया जिले के लाभार्थी एफपीएस आइडी 123800300258 से ले लिया गया. इसकी जानकारी रूपमणि देवी को तब हुई, जब वे अपना राशन लेने के लिए पीडीएस दुकान पर गयीं.

दुकानदार ने राशन देने की प्रक्रिया की, लेकिन अनाज का उठाव पॉस मशीन में दिख रहा था. इस पर दुकानदार ने रूपमणि को इस बात की जानकारी दी. इसके बाद अंतिम रसीद निकाली गयी तो यह जानकारी मिली कि गया जिले के लाभार्थी एफपीएस आइडी के आधार पर राशन का उठाव वहां के एक पीडीएस दुकानदार के यहां से किया गया है. इसके साथ ही राशन रूपमणि देवी के पुतोह प्रियंका कुमारी के नाम से लिया गया है. लेकिन, दीगर बात यह है कि प्रियंका कुमारी का केवाइसी भी 23 जून को नहीं हुआ था. इसके कारण उनका अंगूठे का निशान भी पॉस मशीन से नहीं जुड़ा हुआ है. कार्ड पर केवल रूपमणि देवी और उनके बेटे राजेश रंजन ही राशन उठा सकते हैं, क्योंकि उन दोनों का ही केवाइसी है और उनके अंगूठे का निशान पॉस मशीन से जुड़ा हुआ है. लेकिन फिर भी राशन उठाव से सावल खड़े हो रहे हैं. इस संबंध में वार्ड नंबर 31 के मार्केटिंग ऑफिसर सुनील कुमार सिन्हा से बात करने की कोशिश की गयी तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया़

बोले दुकानदार

पीडीएस दुकानदार दिलीप निराला ने बताया कि कार्डधारी रूपमणि देवी के जून माह का राशन गया जिले के एक पीडीएस दुकान से उठाया गया है. यह अंतिम रसीद में दिख रहा है. अब उस कार्ड नंबर पर जून माह का अनाज देना संभव ही नहीं है. जुलाई माह का राशन आने के बाद उन्हें दिया जायेगा.

बोले कार्डधारी के पुत्र

कार्डधारी के पुत्र राजेश रंजन ने बताया कि उनके जून के नियमित व मुफ्त में दिया जाने वाला राशन का उठाव गया जिले से उनकी भाभी के नाम से कर लिया गया है, जबकि परिवार के किसी सदस्य ने भी राशन नहीं उठाया है. भाभी का तो 30 जून को केवाइसी कराया गया है. चूंकि राशन कटा हुआ दिख रहा है, इसलिए इस माह का राशन दुकानदार नहीं दे रहे हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें